भारतीय सेना के बयान से PoK पर मची खलबली

भारतीय सेना के बयान से PoK पर  मची खलबली

Pak Army Reaction on PoK: इंडियन आर्मी के पाक अधिकृत कश्मीर (Pakistan Occupied Kashmir) पर  दिए बयान से पाक में हड़कंप मच गई है. इस बयान पर अब पाकिस्‍तानी सेना का रिएक्शन सामने आया है. पाकिस्‍तान सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने ट्वीट कर बोला है कि इंडियन आर्मी के विचार उनकी घरेलू राजनीति के अनुरूप ही हैं और तथाकथित लॉन्च-पैड और आतंकियों के निराधार आरोप से वे हमारा ध्यान भटकाना चाहते हैं. पाकिस्‍तान का बोलना है कि हिंदुस्तान की तरफ से ऐसे बयान जम्‍मू कश्‍मीर में जारी मानवाधिकार हनन से ध्‍यान हटाने के लिए दिए जा रहे हैं.

ISPR की तरफ से किए गए एक के बाद एक ट्वीट में बोला गया है कि इंडियन आर्मी की तरफ से आजाद जम्‍मू कश्‍मीर को लेकर जताई गई चिंता आधारहीन है. DG ISPR ने कहा, “भारतीय सेना के ऑफिसर के बुलंद दावे और असली महत्वाकांक्षा बौद्धिक रूप से अपमानजनक है. पाकिस्तानी सेना एक ताकत है और क्षेत्रीय शांति और स्थिरता की समर्थक है. शांति की यह ख़्वाहिश हमारे क्षेत्र के विरूद्ध किसी भी दुस्साहस या आक्रामकता को विफल करने की हमारी क्षमता और तैयारी से मेल खाती है.

बता दें कि उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने बोला था कि आतंकवदी कभी भी अपने मंसूबों में सफल नहीं होंगे. POK के विषय पर संसद में प्रस्ताव पास हो चुका है. इसमें कुछ भी नया नहीं है. यह संसद के प्रस्ताव का हिस्सा है. इंडियन आर्मी गवर्नमेंट के हर आदेश के लिए पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने बोला कि गवर्नमेंट जब भी आदेश देगी सेना अपनी पूरी तैयारी के साथ PoK को वापस लेने आगे बढ़ेगी.

उन्होंने यह भी बोला कि सेना यह सुनिश्चित करने के लिए हमेशा तैयार है कि सीजफायर पर जो समझौता है उसे कभी तोड़ा नहीं जाएगा क्‍योंकि यह दोनों राष्ट्रों के भलाई में है लेकिन यदि इसे तोड़ा गया तो फिर इसका करारा उत्तर मिलेगा. 27 अक्‍टूबर को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बोला था कि PoK में जो कश्‍मीरी हैं, उनका दर्द हिंदुस्तान महसूस करता है. कश्‍मीर में विकास प्रारम्भ हो चुका है और हिंदुस्तान को अब गिलगित बाल्टिस्‍तान तक पहुंचने में कोई नहीं रोक सकता है.