पीएम हसन दिआब ने सुरक्षा परिषद की मीटिंग में इस हादसे के होने के बाद की कठोर कार्रवाई

पीएम हसन दिआब ने सुरक्षा परिषद की मीटिंग में इस हादसे के होने के बाद की कठोर कार्रवाई

बीते मंगलवार को बेरुत में बहुत बड़ा धमाका हुआ। वहीं इस धमाके पर वहां के पीएम हसन दिआब ने अब अपनी रिएक्शन जाहिर की है। हाल ही में उन्होंने इस हादसे को लेकर अपना दुख जाहिर किया है। 

जी दरअसल पीएम ने यहां सुरक्षा परिषद की मीटिंग में इस हादसे के होने के बाद इस पर कठोर कार्रवाई करने के बारे में इशारा दिए है। हाल ही में उन्होंने बोला कि 'इस बारे में चुप नहीं रहा जा सकता। ' इसके अतिरिक्त उन्होंने आज राष्ट्रीय शोक दिवस की घोषणा कर दी है।

इस बारे में एक प्रवक्ता ने जानकारी दी। उसने बोला कि, 'प्रधानमंत्री ने सुरक्षा परिषध में कहा, "यह बिल्कुल स्वीकार नहीं किया जा सकता कि करीब 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट बिना किसी सुरक्षा तरीकों के 6 वर्ष तक एक गोदाम में रखा रहा। ' आप जानते ही होंगे यह घटना बीते मंगलवार की है। जब लेबनान की राजधानी बेरुत के तटीय इलाके में एक बड़ा धमाका हुआ। उस धमाके में 73 लोगों की मृत्यु हो गई व वहां मौजूद 4 हजार से ज्यादा लोग उस धमाके से घायल हो गए हैं।

अब तक मिली समाचार के अनुसार यहां के तटीय इलाके में स्थित एक गोदाम में अमोनियम नाइट्रेट (विस्फोटक) रखी हुई थी। बताया जा रहा है इस विस्फोटक ने आग पकड़ ली व धमाका तेजी से व बढ़त के साथ हुआ। वैसे अब तक धमाके के ठीक कारणों का पता नहीं लग पाया है जो इस समय तक लगाया जा रहा है। आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि धमाका बहुत भयानक था व इसकी आवाजा पूर्वी मध्यसागर में 240 किलोमीटर दूर साइप्रस तक सुनाई दी थी।