अंतर्राष्ट्रीय

जेनरेटर में ईंधन खत्म होने के बाद मरीजों की जान खतरे में…

मूचे गाजा में संयुक्त देश के आश्रय स्थलों में पानी समाप्त हो गया है, क्योंकि हजारों लोग इजराइल के हमले से बचने के लिए क्षेत्र के सबसे बड़े हॉस्पिटल के प्रांगण में शरण लिये हुए हैं और डॉक्टर रोगियों की देखभाल में संघर्ष कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें डर है कि जेनरेटर में ईंधन समाप्त होने के बाद रोगियों की जान खतरे में पड़ जाएगी

सात अक्टूबर को चरमपंथी हमास द्वारा इजराइल पर किये गये हमले के उत्तर में अभूतपूर्व इजराइली अभियान के परिणामस्वरूप फलस्तीनी नागरिक रविवार को अस्तित्व के लिए संघर्ष करते दिखे हमास के हमले में 1,300 इजराइली मारे गए थे, जिनमें से अधिकतर आम नागरिक थे

इजराइल ने गाजा में भोजन, दवा, पानी और बिजली की आपूर्ति बाधित कर दी है और आसपास हवाई हमले किए हैं तथा उत्तरी गाजा के अनुमानित 10 लाख निवासियों को अपने पूर्वनियोजित हमले से पहले दक्षिणी क्षेत्र की ओर पलायन करने की राय दी है

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बोला कि पिछले सप्ताहांत प्रारम्भ हुई लड़ाई के बाद से 2,300 से अधिक फलस्तीनी मारे गए हैं
अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने रविवार को ‘सीएनएन’ से बोला कि इजराइली ऑफिसरों ने उन्हें कहा है कि उन्होंने दक्षिणी गाजा में पानी की आपूर्ति बहाल कर दी है

लेकिन इजराइली ऊर्जा एवं जल मंत्रालय के प्रवक्ता आदिर दहान ने बोला कि इजराइल दक्षिण गाजा में मात्र एक जगह पर पानी की आपूर्ति कर रहा है
गाजा में सहायता कर्मियों ने बोला कि उन्हें पानी की आपूर्ति बहाल होने के बारे में अब तक कोई साक्ष्य नहीं मिला है
गाजा गवर्नमेंट के प्रवक्ता ने बोला कि पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है

राहत समूहों ने गाजा में 20 लाख से अधिक नागरिकों की सुरक्षा का आह्वान करते हुए मानवीय सहायता जारी रखने के लिए एक इमरजेंसी गलियारा स्थापित करने का आग्रह किया
दक्षिणी खान यूनिस क्षेत्र में नासिर हॉस्पिटल में काम करने वाले डाक्टर मोहम्मद कंदील ने कहा, ‘‘इस (हमले में) वृद्धि में अंतर यह है कि हमारे पास बाहर से चिकित्सा सहायता नहीं आ रही है, सीमा बंद है, बिजली बंद है और यह हमारे रोगियों के लिए एक बड़ा खतरा है’’
निकासी क्षेत्र के डॉक्टरों ने बोला कि वे अपने रोगियों को सुरक्षित रूप से स्थानांतरित नहीं कर सकते, इसलिए उन्होंने उनकी देखभाल के लिए वहीं रुकने का निर्णय किया

 



Related Articles

Back to top button