मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका

मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका

मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत हो गई है और दर्जनों के लापता होने की आशंका है। सिंधुपालचौक के मुख्य जिला अधिकारी अरुण पोखरेल ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया, हमें संदेह है कि बाढ़ मेलमची और इंद्रावती नदी के मुख्य स्रोत से उत्पन्न हुई है। अभी तक हमने केवल एक की मौत की पुष्टि की है।


बता दें कि नेपाल में लगातार बारिश हो रही है जिसके कारण यहां बाढ़ जैस स्थिति हो गई है। वहीं, इसका असर कुछ भारतीय क्षेत्रों में भी दिख रहा है। नेपाल में लागातर पानी बरसने से बिहार की गंडक नदी में पानी का स्तर काफी ज्यादा बढ़ गया है।

 
अरुण पोखरेल ने कहा, 'हमें संदेह है कि बाढ़ की स्थिति मेलमची और इंद्रावती नदी के मुख्य स्रोत से उत्पन्न हुई है। इस वजह से हेलम्बू से शुरू होने वाले गलियारों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई।' बुधवार तड़के स्थानीय प्रशासन के विभिन्न अधिकारियों ने नुकसान और लोगों के लापता होने की खबर की पुष्टि की है। ग्राम परिषद प्रमुख नीमा ग्यालजेन शेरपा ने बताया, 'मेरी ग्राम परिषद में ही, कल शाम से लगभग छह लोगों के लापता होने की खबरें हैं। कल देर शाम से शुरू हुआ जल स्तर किऊल और ग्यालथुम के साथ-साथ मेलमची नदी के किनारे बने घरों में पहुंच गया।'

शेरपा ने कहा, 'इसके साथ ही, बाढ़ के पुलों, बिजली और संचार के अन्य बुनियादी ढांचे के बह जाने की भी सूचना है। हम अभी भी इससे हुए नुकसान का पूरी तरह से पता नहीं लगा सके हैं।' सिंधुपालचौक 2015 के भूकंप के केंद्रों में से एक है और यहां हर साल यहां बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो जाती है।


पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान के रहीम यार खान जिले के भोंग क्षेत्र में उन्मादी भीड़ द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की घटना के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। इसे देखते हुए इलाके में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात कर दी गई है। रहीम यार खान जिला पुलिस के प्रवक्ता अहमद नवाज ने बताया कि पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सांसद और हिंदू समुदाय के नेता रमेश कुमार वंकवानी ने इस घटना के वीडियो साझा किए। इन वीडियोज में भीड़ मंदिर के बुनियादी ढांचे को नष्ट करती नजर आ रही है। इतना ही नहीं मंदिर की मूर्तियों के साथ भी तोड़-फोड़ मचाई गई है। एक अन्य वीडियो में उन्मादी भीड़ मंदिर से सटी सड़क पर लाठी-डंडे लेकर दौड़ती दिख रही है। रमेश कुमार ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट की और कहा कि शुरुआत में पुलिस की धीमी प्रतिक्रिया के कारण स्थिति और मंदिर को नुकसान पहुंचा है। बता दें कि हाल के वर्षों में, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के पूजा स्थल पर हमलों में वृद्धि हुई है। अपने अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा करने में असफल पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा बार-बार फटकार भी लग चुकी है।