अंतर्राष्ट्रीय

खुद को बेगुनाह बताने का ढोंग करते हुए निज्जर ने लिखा था ये पत्र

Khalistani Terrorist Hardeep Singh Nijjar Letter: कनाडा में मारे गए कट्टरपंथी खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर ने 2016 में कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो को संबोधित एक पत्र लिखा था उस पत्र में निज्जर ने उसके उसके आतंकी होने के हिंदुस्तान गवर्नमेंट के आरोपों से इनकार किया था एक मीडिया रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कनाडा के सरे में गुरु नानक सिख गुरुद्वारे के प्रमुख रहे खालिस्तानी आतंकवादी निज्जर की इस वर्ष जून में गोली मारकर मर्डर कर दी गई थी

वर्ष 2016 में लिखा था पत्र

निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) ने साल 2016 में ट्रूडो को पत्र लिखकर उनसे हस्‍तक्षेप की मांग की थी यह बात उस समय की है जब ने हिंदुस्तान के निवेदन पर इंटरपोल ने उनके विरुद्ध रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था नेशनल पोस्ट अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, निज्जर ने पत्र में लिखा था, ‘भारत ने “अपने सरकारी अधिकार का खुलेआम दुरुपयोग किया है मैं आपके प्रशासन से मेरे विरुद्ध हिंदुस्तान गवर्नमेंट के मनगढ़ंत, निराधार, काल्पनिक और राजनीति से प्रेरित आरोपों को खारिज करने का आग्रह करता हूं

पत्र में निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) ने दावा किया था, ‘मैंने कभी भी किसी हिंसक गतिविधि में विश्वास नहीं किया, उसका समर्थन नहीं किया या उसमें शामिल नहीं रहा सिख अधिकारों के लिए मेरे अभियान के कारण, यह मेरा मानना ​​है कि मैं अपने मानवाधिकार अभियान को आतंकी गतिविधियों के रूप में लेबल करने के लिए हिंदुस्तान गवर्नमेंट के अभियान का लक्ष्य बन गया हूं

बेगुनाह बताने का निज्जर का ढोंग

खुद को निर्दोष बताने का ढोंग करते हुए निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) ने पत्र में लिखा था, ‘मुझे आतंकी के रूप में चिह्नित करने का अभियान तब प्रारम्भ हुआ जब मैंने जांच के लिए संयुक्त देश की मानवाधिकार परिषद में एक कम्पलेन पर हस्ताक्षर एकत्र करने और 1984 की सिख विरोधी नरसंहार के बारे में एक अभियान में एक्टिव रूप से भाग लिया

निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) पर हिंदुस्तान में हत्या, आतंकी गतिविधियों और राजद्रोह समेत कई मामलों में इल्जाम में मुकदमा दर्ज हैं साल 2007 में लुधियाना में एक सिनेमाघर में विस्फोट में छह लोगों की मर्डर में उसकी कथित किरदार थी प्रतिबंधित खालिस्तान टेरर फोर्स के प्रमुख के रूप में उस पर ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर चलाने का इल्जाम था और इंटरपोल ने हिंदुस्तान के निवेदन पर 2016 में उनके विरुद्ध रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था

कई अपराधों में है नामजद

सीबीआई ने 2014 में विस्फोट का कोशिश करने, जीवन या संपत्ति को खतरे में डालने के इरादे से विस्फोटक बनाने या रखने और संदिग्ध परिस्थितियों में विस्फोटक बनाने या रखने के इल्जाम में निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) के विरुद्ध वारंट भी जारी किया था नेशनल पोस्ट और वैंकूवर सन की संयुक्त समाचार रिपोर्ट के अनुसार, निज्जर ने पीएम ट्रूडो को लिखित पत्र में कहा कि उन्हें और उनके परिवार को सिखों के लिए एक स्वतंत्र मातृभूमि बनाने की मांग करने वाले अलगाववादी आंदोलन खालिस्तान (Khalistani Terror) के समर्थन के कारण हिंदुस्तान द्वारा निशाना बनाया गया था

भारत और कनाडा में चल रहा तनाव

निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) की मर्डर ने ओटावा और नयी दिल्ली के बीच कूटनीतिक टकराव पैदा कर दिया है कनाडा ने बोला है कि उसे मर्डर में हिंदुस्तान की संलिप्तता का शक है और हिंदुस्तान ने आरोपों को बेतुका कहा है ट्रूडो गवर्नमेंट ने इस टकराव में हिंदुस्तान के एक राजनयिक को राष्ट्र से निकाल दिया था इसके उत्तर में हिंदुस्तान ने भी कनाडा के एक राजनयिक को अपने यहां से निकाल दिया था साथ ही कनाडा जाने वाले हिंदुस्तानियों से सावधानी बरतने की ट्रैवल एडवाइजरी भी जारी कर दी थी

Related Articles

Back to top button