दक्षिण पश्चिम चीन के तालाब में बस गिरने के मामले में हुआ नया खुलासा

दक्षिण पश्चिम चीन के तालाब में बस गिरने के मामले में हुआ नया खुलासा

कई दिनों से लगातार बढ़ती जा रही घटनाओं की समस्या के चलते लोगों के दिल और दिमाग में दहशत पैदा कर चुका है. वहीं दक्षिण पश्चिम चीन के तालाब में बस गिरने के मामले में नया खुलासा हुआ है.

पुलिस अधिकारियों ने जानकारी दी है कि बस को जो ड्राइवर चला रहा था वो काफी परेशान था. क्योंकि ऑथारिटी की ओर से उसका घर तोड़ा जा चुका था, वो प्रशासन को एक संदेश दे रहे है जिसकी वजह से उसने बस को ही तालाब में गिरा दिया, लेकिन इस बस दुर्घटना में 21 लोगों की जान जा चुकी है और 15 कई लोग घायल हो गए थे, हादसे में बस ड्राइवर की भी जान चली गई. बीते 7 जुलाई को ये दुर्घटना सामने आई.

गुइझोऊ प्रांत के एक शहर अंशुं में पुलिस द्वारा इस बात कि पुष्टि की गई है कि 52 साल  चालक, जिसे उसके अंतिम नाम झांग से ही पहचान पाए थे. पुलिस ने जानकारी दी है कि बस ड्राइवर की आर्थिक परिस्थितियां भी ठीक नहीं चला रही थी, और उसके पास पैसों की बड़ी किल्ल्त चल रही थी, उसने मकान किराए पर लिया हुआ था. लेकिन उस क्षेत्र को विकासशील बनाने के लिए उसके घर को तोड़ दिया गया, और वहां एक इंडस्ट्रियल बिल्डिंग बनाई जा रही है. बस ड्राइवर की स्थितियां ठीक नहीं थी, ऐसे में अपना घर टूटने से वो और भी गुस्सा हो गया और प्रशासन को संदेश देने के लिए आम लोगों के जीवन से खेल गया. ये एक जघन्य अपराध की श्रेणी में आता है जिसमें 21 लोगों की जाने चली गई.

पुलिस के मुताबिक में कहा गया है कि मंगलवार की सुबह, बस चालक ने सरकारी आवास पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए एक सरकारी हॉटलाइन को कॉल किया कि उसका घर तोड़ दिया गया. उसके बाद भी कोई करवाई नहीं की गई. जिसके कारण ड्राइवर ने इस घटना को अंजाम दिया.