अंतर्राष्ट्रीय

लीबिया में भारी बाढ़ के कारण 11000 से ज्यादा लोगों की हुई मौत

लीबिया में बाढ़- लीबिया में भारी बाढ़ के कारण 11000 से अधिक लोगों की मृत्यु हो गई भारतीय दूतावास ने लीबिया में फंसे चार हिंदुस्तानियों को सुरक्षित हिंदुस्तान भेज दिया है ट्यूनीशिया और लीबिया में भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया कि पंजाब-हरियाणा के रहने वाले चार हिंदुस्तानियों को दूतावास के क्षेत्रीय प्रतिनिधि तबस्सुम मंसूर द्वारा 14 सितंबर को बेनिना हवाई अड्डे से छुट्टी दे दी गई

पूर्वी लीबिया के स्वास्थ्य मंत्री ओथमान अब्दुलजालिल ने बोला कि शवों को डर्ना में सामूहिक कब्रों में दफनाया जा रहा है कुछ मृतशरीर समुद्र से बह गए हैं, जबकि बचावकर्मियों को मलबे और शहर की सड़कों पर हर स्थान मृतशरीर मिलते हैं

बचाव अभियान में शामिल अहमद अब्दुल्ला ने बोला कि वे शवों को सामूहिक कब्रों में दफनाने के लिए कब्रिस्तान ले जाने से पहले हॉस्पिटल में रख रहे थे इस आपदा में पूरे परिवार नष्ट हो गये, कुछ लोग समुद्र में बह गये शहर में बुलडोजर भी शवों को हटाने में सक्षम नहीं हैं

आपको बता दें कि लीबिया के डर्ना शहर में आई भयानक बाढ़ में मारे गए लोगों के शवों को सामूहिक कब्रों में दफनाया जा रहा है शहर के एकमात्र कब्रिस्तान में बॉडी बैग और कंबल में ढके शवों को एक साथ दफनाया जा रहा है यहां मशीनों से गड्ढे खोदे जाते हैं हर घंटे शवों की संख्या बढ़ती जा रही है पूर्वी लीबिया के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, “हम विनाश देखकर स्तब्ध हैं, यह एक बड़ी त्रासदी है” इससे निपटना हमारी क्षमता से बाहर है

क्रॉस डेलिगेशन की तरराष्ट्रीय समिति के प्रमुख येन फ़्राईडेज़ ने फ़्रांस-24 को कहा कि डेर्ना शहर 7 मीटर ऊंची लहरों में डूब गया है अब, पानी और आपदा क्षेत्रों से शवों को निकालने के लिए नावों और हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल किया जा रहा है बाढ़ का असर पड़ोसी राष्ट्रों पर भी पड़ा है मरने वालों में 84 मिस्रवासी थे उनके शवों को वापस मिस्र भेज दिया गया है अल-शरीफ गांव में 22 मिस्रवासियों को दफनाया गया था

Related Articles

Back to top button