कराची अध्यक्ष मौलाना सैयद नजीर अब्बास तकवी ने दी यह लापरवाही की जानकारी

 कराची अध्यक्ष मौलाना सैयद नजीर अब्बास तकवी ने दी यह लापरवाही की जानकारी

शिया के एक स्कॉलर ने कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर पाक (Pakistan) द्वारा किए गए दावों की पोल खोल दी है। ये वहं दावा है जिसमें पाक में स्वास्थ्य संकट उत्पन्न होने की बात कही गई थी व इस के दम पर दुनिया बैंक व एडीबी बैंक से लोन की मांग की गई थी।  

शिया उलेमा काउंसिल पाक (SUCP) के कराची अध्यक्ष मौलाना सैयद नजीर अब्बास तकवी ने बताया कि क्वेटा के एक स्वास्थ्य केन्द्र में अधिकारियों की लापरवाही से एक आदमी का निधन हो गया। ये आदमी हाल ही में ईरान की यात्रा कर वापस लौटा था। उन्होंने बताया कि उसके मरने वाले आदमी को हॉर्ट की कठिनाई थी, जिसके उपचार के लिए वो अस्पताल आया था। लेकिन अधिकारियों ने लापरवाही के चलते उसके उपचार में देरी हो गई व उसने वहीं पर दम तोड़ दिया। मौलाना ने बोला कि चिकित्सक चाहते तो उसे बचा सकते थे, लेकिन किसी ने उसकी कठिनाई को नहीं समझा। ये घटना पाकिस्तानी अधिकारियों की सच्चाई को बयां करती है।  

उन्होंने पाकिस्तानी सरकार की सच्चाई बयां करते हुए बोला कि सरकार केवल धन एकत्र करने व उसे विदेश यात्रा पर खर्च करने पर केंद्रित रह गई है। वे नागरिकों पर कोई पैसा खर्च नहीं करना चाहती। कोरोना वायरस ने पाक में दस्तक दे दी है व इसके कारण गुरुवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में दो मरीजों की मृत्यु भी हो गई है।

बताते चलें कि पाकिस्तन में बीते गुरुवार को 100 से अधिक नए मामलों की रिपोर्ट के साथ, पाक में COVID19 के सकारात्मक मामलों की कुल संख्या 377 हो गई। सिंध प्रांत में लगभग 213 मुद्दे दर्ज किए गए। आगे उन्होंने बोला कि पाक व चाइना के बीच हमेशा से बेहतर संबंध रहे है। लेकिन इसके बावजूद वूहान में फंसे पाक नागरिकों को निकालने के लिए पाक सरकार कुछ भी नहीं कर रही है। बता दें कि चाइना के वूहान शहर से ही खतरनाक वायरस कोविड-19 की उत्पत्ति हुई है।

ताजा आकड़ों की बात करें तो संसार भर में कोरोना वायरस से अबतक कोरोना वायरस के 2,75,784 पॉजकटिव मुद्दे सामने आए है, जबकि 11,397 लोगों की अबतक मृत्यु हो चुकी है। चाइना से महामारी बनकर उभरे इस खतरनाक वायरस ने अब इटली में तबाही मचा रखी है। कोरोना वायरस से मृत्यु के मुद्दे में इटली, चाइना से आगे निकल गया है। कोरोना ने इटली में अब तक 4,032 लोगों की जान ले ली है। मृत्यु के मुद्दे में तीसरा नंबर ईरान का है। वहां अब तक 1,433 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है।

लोगों को सुरक्षित व संवेदनशील माहौल उपलब्ध कराने के बजाय पाक सरकार लोन लेने के सोच रही है। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार देश में कोरोना वायरस से उत्पन्न हुई स्वास्थ्य एमरजेंसी से लड़ने के लिए सरकार ने दुनिया बैंक व एडीबी बैंक से 58 करोड़ डॉलर की मदद की मांग की है।