अंतर्राष्ट्रीयवायरल

इजराइल-हमास युद्ध अब है युद्धविराम के करीब :इस्माइल हानियेह

इज़राइल हमास युद्ध: हमास और इज़राइल के बीच दो महीने से अधिक समय से चल रहा युद्ध खुलकर सामने आ गया है बंधकों को छुड़ाने के लिए इजराइल और हमास के बीच समझौता आखिरी चरण में है बंधकों की रिहाई पर एक भाषण में हमास के सियासी नेता इस्माइल हानियेह ने बोला कि इजराइल-हमास युद्ध अब युद्धविराम के करीब है हनिया ने बोला कि उन्होंने क़तर को युद्धविराम को लेकर सारी शर्तें बता दी हैं इसके बारे में जल्द ही जानकारी आ जाएगी

एफपी के अनुसार, मानवीय संघर्ष विराम के बदले बंधकों की रिहाई के संबंध में सभी फैसला किए जा चुके हैं और पूरी जानकारी जल्द ही मौजूद होगी

सक्रिय हुआ रेड क्रॉस 
समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, बंधकों को छुड़ाने में सहायता के लिए इंटरनेशनल कमेटी ऑफ द रेड क्रॉस (आईसीआरसी) के अध्यक्ष मिर्जाना स्पोलजारिक ने भी इस्माइल हनियेह से मुलाकात की इसके अतिरिक्त उन्होंने कतर के ऑफिसरों से भी अलग से मुलाकात की

बाइडन ने संकेत दिया था कि
बंधकों को रिहा करने को लेकर पिछले दो दिनों से चर्चा चल रही है अमेरिकी ऑफिसरों ने प्रारम्भ में बंधकों को रिहा करने के समझौते से इनकार किया था, लेकिन सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने पुष्टि की कि बंधकों को रिहा करने का समझौता पूरा होने के करीब था

हालांकि, इस डील को लेकर इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने रविवार को बोला था कि मीडिया में समझौते को लेकर गलत खबरें हैं, लेकिन मंगलवार को इजरायल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने भी टीवी चैनलों को दिए साक्षात्कार को बंधक समझौते के ‘काफी करीब’ कहा था

अधिकारी ने कहा, “बंधकों की रिहाई के लिए हमें अभी भी कुछ तकनीकी मुद्दों का निवारण करना है” बदले में एक दर्जन और लोगों को रिहा किया जा सकता है

युद्ध के बीच आतंकवादी ओसामा का अमेरिका को लिखा पुराना पत्र वायरल 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, टिकटॉक पर बिन लादेन का 21 वर्ष पुराना पत्र फिर से सामने आया है, जहां बड़ी संख्या में यूजर्स ने अमेरिका पर हुए भयानक आतंकी हमलों को ठीक ठहराने के लिए ओसामा बिन लादेन से सहमति जताई है द गार्जियन के आर्टिकल पर सोशल मीडिया यूजर्स और प्रभावशाली लोगों ने भी अपनी राय दी है मारे गए अल-कायदा (आतंकवादी संगठन) प्रमुख ओसामा बिन लादेन ने 2001 के हमलों के बाद पत्र लिखा था, जिसे ‘9/11’ हमलों के रूप में जाना जाता है इन हमलों को अमेरिकी धरती पर सबसे भयानक आतंकी हमलों के रूप में जाना जाता है

Related Articles

Back to top button