अंतर्राष्ट्रीय

पाकिस्तान पर भारत ने एक साथ किया डबल अटैक

पाकिस्तान पर भारत ने एक साथ डबल अटैक कर दिया है। जिससे उसकी हालात खराब होती नजर आ रही है। रावी नदी पर बांध बनाकर पाकिस्तान जाने वाले पानी को भारत ने रोक दिया है। लेकिन भारत यही नहीं रूका बल्कि बांध के जरिए ही पाकिस्तान पर दूसरी स्ट्राइक कर दी। भारत ने इंजिनियर्स की एक टीम अफगानिस्तान भेजी है। ये टीम अफगानिस्तान में भारत द्वारा बनाए सलमा बांधी की जांच करेगी। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे से पहले 2016 में पीएम मोदी ने इस बांध का उद्घाटन किया था। अफगानिस्तान के इस बांध को भारत ने ही बनाया था। अफगानिस्तान के इस बांध को इंडिया अफगानिस्तान फ्रेंडशिप डैम के नाम से भी जाना जाता है। 

भारत ही इस बांध की देख रेख कर रहा था। लेकिन तालिबान ने सत्ता में आते ही इस बांध पर भी कब्जा कर लिया। अफगानिस्तान को सिंचाई का पानी और बिजली देने वाला ये बांध बुरी हालत में पहुंच गया। तालिबान के आते ही भारत ने अफगानिस्तान छोड़ दिया। लेकिन अब भारत एक बार फिर बांध को बचाने के लिए अफगानिस्तान पहुंच गया है। तालिबान सरकार ने सलमा बांध पर कुछ समस्याओं को हल करने के लिए भारतीय अधिकारियों से एक तकनीकी टीम भेजने के लिए बार-बार कहा था। हालाँकि, अब तक, राजनयिक मुद्दों के कारण किसी भी हस्तक्षेप में देरी हुई थी।

भारत के लिए, यह संभवतः 2021 के बाद से बुनियादी ढांचा परियोजनाओं से संबंधित अफगानिस्तान की पहली आधिकारिक यात्रा है। बाकी अंतरराष्ट्रीय समुदाय की तरह, नई दिल्ली आधिकारिक तौर पर तालिबान शासन को मान्यता नहीं देती है। हालाँकि, 2022 में भारतीय राजनयिकों के काबुल लौटने के बाद से, भारतीय मानवीय सहायता धीरे-धीरे बढ़ी है। पिछले 20 वर्षों में भारत ने अफगानिस्तान में विकास सहायता में 2 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक का निवेश किया था, और सलमा बांध भारत की भागीदारी का प्रतीक था।

 

Related Articles

Back to top button