ज्यादातर ओपिनियन पोल में पीछे चल रहे थे सुनक

ज्यादातर ओपिनियन पोल में पीछे चल रहे थे सुनक

लंदन: ब्रिटेन में पीएम पद की दौड़ अब दिलचस्प होती जा रही है और गुरुवार की रात भारतीय मूल के उम्मीदवार ऋषि सुनक (Rishi Sunak) के लिए आत्मविश्वास बढ़ाने वाली साबित हुई होगी. दरअसल, ऋषि सुनक ने टेलीविजन पर हुई आमने-सामने की बहस में कंजर्वेटिव पार्टी की अपनी प्रतिद्वंद्वी लिज ट्रस (Liz Truss) को पछाड़ते हुए दर्शकों का समर्थन हासिल कर लिया. इस टीवी बहस के दौरान ऋषि सुनक ने पीएम बोरिस जॉनसन की पीठ में छुरा घोंपने के आरोपों पर भी उत्तर दिया.

वोटरों ने ऋषि सुनक के पक्ष में निर्णय सुनाया

‘स्काई न्यूज’ पर गुरुवार की रात को ‘बैटल फॉर नंबर 10’ डिबेट में कंजर्वेटिव पार्टी के दोनों उम्मीदवारों ने उन सदस्यों को अपने पाले में करने की प्रयास की, जो चुनाव में वोट डालने के योग्य हैं, लेकिन जिन्होंने अभी यह फैसला नहीं लिया है कि वे किसे वोट देंगे. पूर्व वित्त मंत्री सुनक और विदेश मंत्री ट्रस ने इस पर अपनी-अपनी दलीलें रखी कि ‘10 डाउनिंग स्ट्रीट’ में बोरिस जॉनसन के जगह पर उन्हें क्यों होना चाहिए. बहस में दर्शकों के तौर पर शामिल हुए कंजर्वेटिव सदस्यों को यह बताने के लिए बोला गया कि कौन बहस जीता तथा उन्होंने हाथ उठाकर सुनक के पक्ष में निर्णय सुनाया.

ज्यादातर ओपिनियन पोल में पीछे चल रहे थे सुनक
ऋषि सुनक के लिए यह जीत निश्चित तौर पर हौसला बढ़ाने वाली होगी क्योंकि हाल में हुए ज्यादातर ओपिनियन पोल में वह ट्रस से पीछे चल रहे थे. एक सदस्य और वोटर ने जब सुनक के सामने वोटिंग का डेटा रखते हुए पूछा कि क्या वह किसी भी फेज में पीएम पद की दौड़ से बाहर होने का प्लान बना रहे हैं, सुनक ने ‘नहीं’ में उत्तर दिया. सुनक ने बोला कि वह अपने चुनावी कैंपेन के आखिरी दिन तक और एक-एक वोट के लिए लड़ाई लड़ने जा रहा हूं. उन्होंने बोला कि संसदीय प्रक्रिया के हर फेज में मुझे व्यापक और सबसे अधिक समर्थन मिला है.

‘मैंने बोरिस जॉनसन के साथ 2 वर्ष काम किया’
कंजर्वेटिव पार्टी में मतभेदों के प्रश्न पर सुनक ने कहा, ‘हम सभी एक टीम हैं, हम एक परिवार की तरह हैं, इसके बाद हम एकसाथ होंगे और अगला चुनाव भी जीतेंगे, क्योंकि यही असली पुरस्कार होगा. कैबिनेट टेबल के चारों ओर बैठे अनेक लोग मेरा समर्थन करते हैं.’ जब एक सदस्य ने सुनक से पूछा कि क्या आप मानते हैं कि आपने अपने लाभ के लिए बोरिस जॉनसन की पीठ में छुरा घोंपा है, भारतीय मूल के कैंडिडेट ने उत्तर दिया, ‘मैंने पीएम जॉनसन (Boris Johnson) के साथ 2 वर्ष काम किया था और उन्होंने इस दौरान बहुत ऐसे काम किये हैं, जिसके लिए उन्हें श्रेय दिया जाना चाहिए.