अंतर्राष्ट्रीय

तेजी से धंस रही जमीन, ग्राउंडवाटर का दोहन और बड़ी इमारतें इसके लिए जिम्मेदार

बीजिंग समेत चीन के लगभग आधे प्रमुख शहर डूब रहे हैं. ये शहर राष्ट्र के पूर्वी हिस्से और तट के किनारे हैं. इसका कारण है तेजी से निकाला जा रहा ग्राउंड वाटर और बड़ी इमारतों का भारी वजन. साइंस जर्नल की एक रिसर्च में यह जानकारी सामने आई है.

रिपोर्ट में बोला गया है कि अगले 100 वर्ष यानी 2120 तक चीन की तटीय जनसंख्या का लगभग 10% ( 5.5 करोड़ से 12.8 करोड़ लोग) इससे प्रभावित हो सकते हैं. यह रिसर्च चीन के 20 लाख से अधिक जनसंख्या वाले 82 शहरों में 2015 से 2022 के दौरान कंडक्ट की गई.

रिसर्चर्स ने इस अवधि में इन चीनी शहरों में भूमि धंसाव को मापा. इसमें पाया गया कि इन 82 शहरों में से करीब आधे की जमीन तेजी से धंस रही है. इन शहरों में चीन की 75% से अधिक जनसंख्या रहती है. 2020 में यहां करीब 92 करोड़ लोग रह रहे थे, जो दुनिया के किसी भी शहरी जनसंख्या से अधिक है.

रिसर्च से जुड़ी 4 और बड़ी बातें…

  • चीन की राजधानी बीजिंग सहित उसके 45% से अधिक शहर हर वर्ष 3mm से अधिक तेजी से डूब रहें हैं.
  • रिसर्च के मुताबिक करीब 16% जमीन हर वर्ष 10 मिलीमीटर (0.40 इंच) से अधिक की रेट से डूब रही हैं.
  • चीन का सबसे बड़ा शहर शंघाई पिछली सदी (1901 से 2000) में 3 mm तक डूब चुका है.
  • बीजिंग का सबवे और नेशनल हाइवे के पास का क्षेत्र सालाना 45 मिलीमीटर (1.77 इंच) डूब रहा है.

सैटेलाइट के जरिए की गई रिसर्च
यह पहला मौका है जब चीन के इस परेशानी के बारे नेशनल लेवल पर कोई स्टडी सामने आई है. इसके लिए रिसर्चर्स ने ‘सेंटिनल-1’ सैटेलाइट से डेटा डेटा इकट्ठा किया. इसमें इंटरफेरोमेट्रिक सिंथेटिक एपर्चर रडार (InSAR) की सहायता से पृथ्वी की सतह में वर्टिकल चेंजेंज को लोकेट किया गया. इस लैंड मोशन परिणाम के जरिए कुंओं और ग्राउंड वाटर के साथ-साथ इमारतों के वजन का भी अंदाजा लगाया गया.

चट्टानों के वजन सहने की ताकत भी जिम्मेदार
रिसर्च टीम ने स्टडी में लिखा, इसमें ह्यूमन फैक्टर के साथ-साथ कई प्राकृतिक फैक्टर्स को भी देखा है, जो इस परेशानी के लिए उत्तरदायी हैं. नेचुरल फैक्टर्स में उस शहर की जियोलॉजिकल सेटिंग और उन चट्टानों के वजन सहने की ताकत भी शामिल है, जिन पर ये शहर बसे हैं. कई ऐसे शहर हैं, जो मजबूत चट्टानों पर बसे हैं और खतरे से बाहर हैं.

 

पानी निकालने से लोड लेने की कैपेसिटी कम हो रही
रिसर्चर्स ने डूबते शहरों और ग्राउंड वाटर के हानि के बीच एक मजबूत संबंध पाया है. जमीन के अंदर पानी समाप्त हो जाने के बाद वहां की जमीन खाली रह जाती है, जिसके चलते लोड लेने की उनकी कैपेसिटी कम हो जा रही है. जमीन धंसने के कई और कारण जैसे शहरी ट्रांसपोर्ट नेटवर्क, हाइड्रोकार्बन एक्सट्रैक्शन और माइनिंग उत्तरदायी पाए गए.

 

Related Articles

Back to top button