अंतर्राष्ट्रीयमनोरंजन

ईरान ने अपना पहला हमला सीधे तौर पर इजरायल को निशाना बनाते हुए किया…

नई दिल्ली ईरानी राजदूत इराज इलाही ने बोला कि ईरान ने यात्री विमानों की सुरक्षा बनाए रखने के लिए कुछ पड़ोसी राष्ट्रों को इजरायल पर 13 अप्रैल के हवाई हमले के बारे में पहले ही बता दिया था ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ को दिए एक साक्षात्कार में उन्होंने बोला कि ‘हमले को अंजाम देने से पहले हमने यात्री विमानों की सुरक्षा बनाए रखने के कारण मिसाइलों के रास्ते में आने वाले पड़ोसी राष्ट्रों को सूचना भेज दिया था’ इलाही ने आगे कहा कि इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान के विदेश मामलों के मंत्री होसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन ने इजरायल में ऑपरेशन के बाद हिंदुस्तान के विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात की थी

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के अनुसार इलाही ने बोला कि ‘ऑपरेशन के बाद इस्लामिक गणराज्य ईरान के विदेश मामलों के मंत्री ने हिंदुस्तान के विदेश मामलों के मंत्री जयशंकर के साथ टेलीफोन पर वार्ता की और उन्हें ऑपरेशन के विवरण के बारे में जानकारी दीउल्लेखनीय है कि 13 अप्रैल की रात को ईरान ने अपना पहला धावा सीधे तौर पर इजरायल को निशाना बनाते हुए किया इजरायल ने अपने सहयोगियों के समर्थन से ईरान से लॉन्च की गई 300 मिसाइलों और ड्रोनों में से अधिकतर को रोक दिया और कोई मृत्यु नहीं हुई

ईरान का धावा दमिश्क हमले का बदला
इजरायल पर ईरान का धावा 1 अप्रैल को सीरिया के दमिश्क में उसके वाणिज्य दूतावास पर हुए हमले के बदले में था जिसमें दो जनरलों सहित ईरान के सात रिवोल्यूशनरी गार्ड मारे गए थे बाद में 19 अप्रैल को शुक्रवार तड़के ईरानी शहर इस्फहान में विस्फोट की खबरें सामने आईं अमेरिकी मीडिया ने ऑफिसरों के हवाले से बोला कि इजरायल ने जवाबी हमले किए हैं इजरायली या ईरानी ऑफिसरों की ओर से तुरन्त कोई प्रतिक्रिया नहीं आई

इजराइल-ईरान हमलों में हिंदुस्तान की भूमिका
ईरान के राजदूत इलाही ने बोला कि हिंदुस्तान इजरायली आक्रामकता को रोकने में एक्टिव किरदार निभा सकता है इजरायल ने पिछले सात महीनों में गाजा के लोगों के विरुद्ध सभी तरह के क्राइम किए हैं और गाजा में 35,000 से अधिक बेगुनाह लोगों को मार डाला है क्या ऐसे क्राइम के सामने चुप रहना ठीक है? उन्होंने बोला कि ईरान-भारत संबंध भी अच्छी स्थिति में हैं और ईरान ऊर्जा सहित सभी क्षेत्रों में इन संबंधों को विकसित करने के लिए तैयार है

Related Articles

Back to top button