इन 5 फूड्स की वजह से आपकी याददाश्त हो सकती है निर्बल

इन 5 फूड्स की वजह से आपकी याददाश्त हो सकती है निर्बल

आपने कई बार लोगों को अपनी स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए बादाम खाने की सलाह देते व खुद अपनाते हुए देखा होगा. पर क्या आप जानते हैं जाने-अनजाने आदमी कई बार कई ऐसी चीजों का सेवन कर रहा होता है

जो उसकी याददाश्त अच्छी करने की स्थान समय से पहले ही निर्बल बना देते हैं. आइए जानते हैं आखिर कौन से हैं वो 5 फूड्स जो आपकी अच्छी स्मरण शक्ति के लिए किसी शत्रु से कम नहीं है. 

स्मरण शक्ति बेकार होने के कारण-
यूं तो मस्तिष्क से जुड़ा कोई रोग जैसे ब्रेन ट्यूमर, सिर में चोट, तनाव, अपर्याप्त नींद आदि समस्याएं भी आदमी की स्मरण शक्ति को निर्बल बनाती है. इसके अतिरिक्त आदमी की याददाश्त निर्बल बनाने के पीछे कई खाद्य पदार्थों का भी हाथ होने कि सम्भावना है. आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये  गलत खाद्य पदार्थ. 

चर्बी व कोलेस्ट्रोल वाले पदार्थ-
आदमी की स्मरण शक्ति पर हुए एक शोध के अनुसार जिन खाद्य पदार्थों में कोलेस्ट्रोल व सैचुरेटेड फैट की मात्रा अधिक होती है वे आदमी के मस्तिष्क पर बुरा असर डालते हैं. ऐसे खाद्य पदार्थ शरीर में पहुंचकर शरीर की तंत्रिकाओं एवं कोशिकाओं में सूजन पैदा करते है. जिसकी वजह से आदमी की याददाश्त निर्बल होने लगती है. इसलिए इस तरह के खाद्य पदार्थों का सेवन कम से कम करना चाहिए.    

घी, पनीर का कम से कम इस्तेमाल-
पनीर, घी, दही में वसा एवं कोलेस्ट्रोल बहुत ज्यादा मात्रा में पाए जाते हैं जो आदमी के स्वास्थ्य एवं दिमाग के लिए अच्छा नहीं होते. आप सोच रहे होंगे कि दही तो स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है तो फिर भला इसका सेवन करने से नुकसान कैसे होने कि सम्भावना है. तो बता दें, दही में उपस्थित वसा लाभ पहुंचाने की स्थान नुकसान पहुंचाती है. इसलिए दही का सेवन उसका मट्ठा यानि छांछ बनाकर करें. 

शराब-
शराब से न सिर्फ आदमी का लीवर निर्बल होता है बल्कि याददाश्त भी निर्बल होती है. अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से आदमी की सोचने समझने की शक्ति घटने लगती है.

सोया-
सोया को प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं सोया का अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको मस्तिष्क सम्बन्धी विकार घेर सकते हैं.  

मीठे पदार्थ-
अधिक मीठा खाने से या चीनी से बने पदार्थों का अधिक सेवन करने से भी दिमाग पर बुरा प्रभाव पड़ता है.