मुँह में नाख़ून चबाने से हो सकते हैं ये बड़े नुकसान, जानकर छोड़ देंगे ये बुरी आदत

मुँह में नाख़ून चबाने से हो सकते हैं ये बड़े नुकसान, जानकर छोड़ देंगे ये बुरी आदत

हर इंसान के अपने शौक होते हैं लेकिन कुछ शौक हमारे शरीर को नुकशान पहुँचाते है। कुछ लोग जब नर्वस होते हैं या तनाव में होते हैं तो वे नाखून चबाने लग जाते हैं। नाखूनों के अंदर अक्सर गंदगी रहती है। बार-बार नाखूनों को मुंह में डालने से कीटाणु भी मुंह के अंदर जाने का जोखिम रहता है। नाखूनों के अंदर मौजूद कीटाणु यदि शरीर में पहुंच गए, तो बार-बार बीमार होने की आशंका बढ़ जाती है।

नाख़ून चबाने के नुकसान

नाखूनों को चबाने से पैरोनिचिया होने का खतरा बढ़ जाता है। पैरोनिचिया के लक्षणों में नाखून के चारों ओर दर्दनाक, लाल, सूजा हुआ महसूस होता है। इससे संक्रमण फ़ैल सकता है। 


नाखून चबाने से दांतों की मजबूती को नुकसान पहुंच सकता है। नाखूनों के रोगाणु मसूड़ों को संभावित रूप से संक्रमित कर सकते हैं या जलन पैदा कर सकते हैं। 

यदि नाखून पर नेल पॉलिश लगी है तो इन्हें चबाने की आदत तुरंत छोड़ दें। नेल पॉलिश में बहुत सारे टॉक्सिन होते हैं, लेकिन जेल पॉलिश में ऐसे रसायन होते हैं जो मुंह में जाने पर होने पर हानिकारक हो सकते हैं।

नाखून चबाने से जीवाणु मुंह में जाते हैं और फिर ये पेट में चले जाते हैं। इससे पेट संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। इन रोगाणुओं के संक्रमण से पेट दर्द और दस्त जैसी समस्या होना सामान्य है।


पेट की अंदरूनी समस्या को जड़ से खत्म करता है तांबे के बर्तन में पानी का सेवन, जाने अन्य लाभ

पेट की अंदरूनी समस्या को जड़ से खत्म करता है तांबे के बर्तन में पानी का सेवन, जाने अन्य लाभ

जानें अनजाने अपने भी कई बार लोगों से यह बातें सुनी होगी कि तांबे के बर्तन में रखा गया पानी आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों तांबे के बर्तन में पानी पीना आपके सेहत के लिए इतना फायदेमंद होता है।

साथ ही हम आपको बताएंगे कि कौन से समय में तांबे के बर्तन में रखा गया पानी पीना आपकी सेहत के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद हो सकता है । और इसे पीने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं।
आयुर्वेद के अनुसार, तांबे के बर्तन में रखा गया पानी इसमें पैदा होने वाले बैक्टीरिया को खत्म करके पानी को पूरी तरह से शुद्ध कर देता है।

पेट की अंदरूनी समस्या को जड़ से खत्म करें

तांबे के बर्तन में रखा पानी पेट की समस्याओं के लिए रामबाण औषधि माना जाता है। आजकल लोगों को अक्सर गैस, अपच जैसी परेशानियां बनी रहती हैं, ये पानी इन परेशानियों से छुटकारा दिलाने में कारगर है। इस पानी में ऐसे तमाम गुण होते हैं जो नुकसानदायक बैक्टीरिया को खत्म करते हैं और पेट की सूजन और इन्फेक्शन को दूर करते हैं। तांबे के बर्तन का पानी आंतों की गंदगी को साफ करता है। इसके अलावा इस पानी से त्वचा संबन्धी तमाम समस्याओं से भी बचाव होता है।

कब न पिए
अगर अल्सर की समस्या है या एसिडिटी है तो इस पानी को न पिएं, गर्म तासीर का होने की वजह से ये समस्या को बढ़ा सकता है।

तांबे के बर्तन में दूध या दूध से बनी चीजें और खट्टी चीजें न डालें।

यह भी पढ़े-

सुबह खाली पेट पीना हो सकता है लाभकारी
अगर आपको तांबे के बर्तन में पानी पीने का पूरा लाभ उठाना है तो आपको सुबह सुबह उठकर तांबे के बर्तन में पानी पीना चाहिए । खाली पेट सुबह सुबह तांबे के बर्तन में पानी पीने से आपको सबसे ज्यादा लाभ मिलता है।