महिलाएं प्रेग्नेंसी में इन असामान्य लक्षणों का रखें ध्यान

महिलाएं प्रेग्नेंसी में इन असामान्य लक्षणों का रखें ध्यान

प्रेग्नेंसी में महिला में कई परिवर्तन होते है। प्रेग्नेंसी के दौरान उलटी आना सामान्य बात है, प्रेग्नेंसी के बाद कई महिलाओं के रहन-सहन, खान-पान, इम्यून सिस्टम और कार्य शैली में बदलाव के कारण प्रेग्नेंसी में कई बार असामान्य लक्षण दिखाई देने लगते है।

प्रेग्नेंसी में होते है ये असामान्य लक्षण:

# असामान्य लक्षणों में किसी चीज का भ्रम या बेवजह की चिंता होना शामिल है। गर्भवती महिला किसी न किसी उलझन में दिखाई देती है। चीजे रख कर भूल जाती है। 

# प्रेग्नेंसी में महिला की नसों में खिंचाव दिखाई देने लगता है। नसों पर मकड़ी के जैसे जाल बन जाता है। ऐसा ब्लड के तेज प्रवाह के कारण होता है। प्रेग्नेंसी में कई बार नजला-जुकाम रहने लगता है। इस कारण कफ जमा होने की शिकायत रहती है। इससे फ्लू होने का खतरा भी रहता है।

# कई बार प्रेग्नेंसी में महिलाओं का मुँह का स्वाद ही बदल जाता है। ये हार्मोन्स में हो रहे बदलाव के कारण होता है। पैरों में ऐंठन की समस्या भी हो जाती है। 

# चेहरे पर पिगमेंटेशन होना भी असामान्य लक्षण है। चक्कर आना, बेहोशी होना, बेवजह बार-बार मूड बदलना, कब्ज प्रेग्नेंसी के लक्षण है। 


बिना कपड़ों के सोने से आपको मिलते हैं कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स

बिना कपड़ों के सोने से आपको मिलते हैं कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स

नेक्ड स्लीपिंग या बिना कपड़ों के सोने से आपको कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स मिल सकते हैं। इसके पीछे कोई साइंटिफिक डेटा नहीं है लेकिन डिफरेंट स्टडीज बताती हैं कि नेक्ड स्लीपिंग कई मायनों में मददगार साबित हो सकती है। मेल और फीमेल दोनों के लिए यह फायदेमंद है।

बिना कपड़ों के सोने से आपकी बॉडी का टेम्परेचर जल्दी नीचे गिरता है, जिससे दिमाग को सिग्नल मिलता है कि अब सोने का समय हो गया है। इससे आपको अच्छी और जल्दी नींद आती है। बॉडी टेम्परेचर के साथ ही अगर आप अपने रूम का टेम्परेचर भी सही रखेंगे तो आपकी स्लीपिंग और इम्प्रूव होगी।

न्यूड सोने से आपकी अपने पार्टनर के साथ भी इंटीमेसी बढ़ती है। दरअसल स्किन के कांटैक्ट से ऑक्सिटोसिन नाम का केमिकल रिलीज होता है। ऐसे में जब पार्टनर्स के साथ स्किन कांटैक्ट बढ़ता है तो ज्यादा मात्रा में ऑक्सिटोसिन प्रोड्यूस होता है जो आपको प्लीजिंग फीलिंग देता है। 

मेल इनफर्टिलिटी की समस्या भी नेक्ड सोने से कुछ हद तक खत्म हो सकती है। दरअसल कई बार पुरुष टाइट अंडरवियर पहनकर सोते हैं। ऐसे में स्क्रोटम का टेम्परेचर बढ़ जाता है, जिससे स्पर्म वाइटिलिटी और स्पर्म काउंट दोनों पर असर पड़ता है। यही बात फीमेल्स पर भी लागू होती है। अगर आपको नेक्ड सोना कंफर्टेबल नहीं लगता तो आप लाइट फिटिंग के कपड़े पहनकर भी सो सकते हैं।

अच्छी नींद से इम्यूनिटी बढ़ती है और इंफेक्शन के चांसेंस काफी कम हो जाते हैं। इसके उलट जब आप ठीक से सो नहीं पाते तो आपके शरीर की इम्यूनिटी दिन पर दिन घटती जाती है और आप चाहे कितना भी ध्यान रखें, बीमिरियों से बच नहीं पाते।