Virat tweet on Dhoni: धोनी का मैच फिनिशर रूप देखकर कुर्सी से उछल पड़े कोहली, इस ट्वीट ने मचाई सनसनी

Virat tweet on Dhoni: धोनी का मैच फिनिशर रूप देखकर कुर्सी से उछल पड़े कोहली, इस ट्वीट ने मचाई सनसनी

दुबई: दिल्ली कैपिटल्स के विरूद्ध दुबई में खेले गए IPL 2021 के पहले क्वालीफायर मुकाबले में पूरी दुनिया ने महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का वही पुराना फिनिशर वाला अवतार देखा महेंद्र सिंह धोनी ने मैच की अंतिम 5 गेंदों पर 13 रन ठोककर चेन्नई सुपर किंग्स को नौवीं बार फाइनल में पहुंचा दिया धोनी ने अपनी 6 गेंदों की पारी में 3 चौके और 1 छक्के की सहायता से 18 रन उड़ाए

खुद को नहीं रोक पाए कोहली

धोनी का विस्फोटक अंदाज देखकर कोहली भी स्वयं को नहीं रोक पाए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कैप्टन विराट कोहली ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'और अब किंग वापस आ गया है दुनिया के सबसे महान फिनिशर आज की पारी ने मुझे अपनी सीट से उठने के लिए विवश कर दिया 

धोनी ने दिखाया रौद्र रूप

बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स को फाइनल में स्थान बनाने के लिए अंतिम ओवर में 13 रन चाहिए थे क्रीज पर CSK के कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी और मोईन अली थे अंतिम ओवर में दिल्ली कैपिटल्स के गेंदबाज टॉम कुरेन गेंदबाजी के लिए आए और पहली ही गेंद पर CSK के बल्लेबाज मोईन अली को आउट कर दिया मैच और कठिन समय में चला गया और इसके बाद 5 गेंदों पर 13 रन चाहिए थे एक पल के लिए लगा कि 40 वर्ष के धोनी इस मैच को फिनिश नहीं कर पाएंगे, लेकिन फिर ऐसा करिश्मा हुआ जिसे देख दुनिया दंग रह गई धोनी ने अपना रौद्र रूप दिखाते हुए लगातार 3 चौके ठोक दिए, जिसमें एक गेंद वाइड रही और इस तरह माही ने हार के जबड़े से जीत छीन ली

pic.twitter.com/59dhDykYOa

— pant shirt fc (@pant_fc) October 10, 2021

हार के जबड़े से छीनी जीत

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंतिम ओवर्स में आकर अपनी टीम को ऐतिहासिक जीत दिलवाई और इसी के साथ चेन्नई नौवीं बार IPL में प्रवेश कर गई वो भी तब जब CSK पिछले IPL में सातवें नंबर पर रही थी एमएस धोनी ने अपनी पारी में केवल 6 बॉल खेलीं और 18 रन बना डाले इस दौरान उन्होंने 3 चौके और एक छक्का लगाया चेन्नई सुपर किंग्स 2020 में सातवें नंबर पर रहकर बाहर हो गई थी, तब धोनी ने बोला था कि हमारी टीम फिर से जबरदस्त वापसी करेगी अब एक बार फिर एमएस धोनी की प्रतिनिधित्व में चेन्नई सुपर किंग्स फाइनल में पहुंच गई है ये नौवीं बार है जब चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल के फाइनल में पहुंची है  

Thala finishes off in style #DCvCSK #WhistlePodu #Yellove  pic.twitter.com/o4asAxMy5v

— Chennai Super Kings - Mask Pdu Whistle Pdu! (@ChennaiIPL) October 10, 2021

'धोनी द फिनिशर' का दम देख फैंस खुश 

बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स ने दिल्ली कैपिटल्स को चार विकेट से हराया सीएसके के कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय किया दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट पर 172 रन बनाए लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीएके ने 19.4 ओवर में छह विकेट पर 173 रन बनाए दिल्ली की ओर से टॉम कुरेन ने 3 जबकि एनरिच नॉर्टिजे और आवेश खान ने एक-एक विकेट लिया ऋतुराज गायकवाड़ ने 50 गेंदों में पांच चौकों और दो छक्कों की सहायता से 70 रन बनाए

धोनी ने CSK को फाइनल में पहुंचाया 

उथ्थपा ने 44 गेंदो में सात चौकों और दो छक्कों की सहायता से 63 रन बनाए उथ्थपा और गायकवाड़ ने तीसरे विकेट के लिए 77 गेंदों में 110 रनों की साझेदारी की इसके बाद सीएसके के दो विकेट लगातार गिरे शार्दुल ठाकुर बिना खाता खोले आउट हुए जबकि अंबति रायडू (1) बनाकर आउट हुए सीएसके को आखिरी ओवर में 13 रन बनाने थे और कैप्टन धोनी ने टीम को जीत के दहलीज तक पहुंचाया धोनी ने छह गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की सहायता से नाबाद 18 रन बनाए, जबकि रवींद्र जडेजा बिना खाता खोले नाबाद रहे


क्या है ब्रेन फॉग? एक्सपर्ट से जानें इसके लक्षण और सावधानियां

क्या है ब्रेन फॉग? एक्सपर्ट से जानें इसके लक्षण और सावधानियां

Brain Fog Causes, Symptoms & Precautions: यदि आप छोटी-छोटी बातों को बार भूल रहे हैं या फिर आपके लिए अपनी ही कही बात को याद रखने में मुश्किल आ रही है, तो इसे ब्रेन फॉग (Brain Fog) कहते हैं ये कोई मेडिकल टर्म नहीं है बल्कि यह एक आम भाषा है, जिसके जरिए दिमाग से जुड़ी कई समस्याओं के ग्रुप के बारे में बताया जाता है, जैसे याददाश्त निर्बल होना, ध्यान न लगना, सूचना को समझने में परेशानी होना, थकावट रहना और इधर-उधर के विचार आना आदि ब्रेन फॉग के लक्षण दूसरी कई संभावित रोंगों में भी दिखाई देते हैं जैसे कैंसर और उसमें दी जाने वाली कीमोथेरेपी, डिप्रेशन, क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम और गर्भावस्था के दौरान भी ब्रेन फॉग की समस्या आ सकती है

हिंदुस्तान अखबार की न्यूज रिपोर्ट में एक अध्ययन के अनुसार लिखा है गया है कि कोविड-19 से ठीक हो चुके करीब 28 फीसदी लोगों ने ब्रेन फॉगिंग, मूड चेंज, थकान और एकाग्रता में कमी की कम्पलेन की है

क्या होते हैं ब्रेन फॉग के लक्षण?
दिल्ली के उजाला सिग्नस हॉस्पिटल (Ujala Cygnus Hospital) के निदेशक डॉ शुचिन बजाज (Shuchin Bajaj) ने इस न्यूज रिपोर्ट में बताया है कि ब्रेन फॉग के कारण आदमी के व्यवहार में तेजी से परिवर्तन आता है ऐसे लोगों में हमेशा थकान रहना, किसी कार्य में दिल न लगना, चिड़चिड़ापन, डिप्रेशन, अपनी पसंद के कार्य भी रुचि का आभाव, लगातार सिर दर्द, नींद न आ पाना और छोटी-छोटी बातें भूल जाना जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं डॉक्टर खून की जाँच में इसका पता लग सकते हैं जैसे शुगर या थायरॉइड का अनबैलेंस, किडनी आदि का फंक्शन सही न होना, या किसी संक्रमण का होना या शरीर में पोषक तत्वों की कमी भी ब्रेन फॉग के रूप में दिखाई देती है

ब्रेन फॉग के कारण 
– नींद पूरी न होना
– स्क्रीन के साथ अधिक समय बिताना
– सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर प्रभाव डालने वाली समस्याएं, जैसे मल्टीपल स्केलेरोसिस
–  जिन रोगों में शरीर के अंदरूनी हिस्सों में सूजन आने की संभावना रहती है, या ब्लड शुगर का लेवल ऊपर-नीचे होने लगता है, उस वजह से भी ब्रेन फॉग की स्थिति हो सकती है जैसे डायबिटीज, हायपरथायरॉइड, डिप्रेशन, अल्जाइमर और एनीमिया

- 

कैंसर और कीमोथेरेपी
कैंसर के उपचार में दी जाने वाली कीमोथेरेपी में कुछ विशेष दवाएं होती हैं, जो याददाश्त पर प्रभाव डाल सकती हैं हालांकि, आमतौर पर यह समस्या अपने आप ठीक हो जाती है

क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम
अधिक थकान यानी क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम की स्थिति 6 महीने या उससे अधिक समय तक बनी रह सकती है इसमें आदमी को मानसिक थकान होती है, जिससे गफलत रहने लगती है

दवाओं का असर
कुछ दवाओं के सेवन से भी ब्रेन फॉग हो सकता है, डिप्रेशन या इन्सोम्निया में दी जाने वाली दवाएं सोचने समझने पर प्रभाव डालती हैं

- 

खान-पान और सावधानियां
– अपनी डाइट में अमीनो एसिड, विटामिन ए, बी, सी और ओमेगा 3 फैटी एसिड नियमित रूप से शामिल करें
– दोपहर में कैफिन युक्त पेय न लें
– शराब और स्मोकिंग से परहेज करें
– रोज 15 मिनट धूप लें
– नियमित अभ्यास जरूर करें
– लक्षणों के आधार पर डॉक्टर से एक्स रे, सीटी स्कैन, एमआरआई, एलर्जी टेस्ट आदि की सलाह भी ले सकते हैं
– कई मामलों में दवाओं के साथ थेरेपी भी इस समस्या से निपटने में मददगार हो सकती है