संतरे के ज्यादा सेवन से होने वाले नुकसानों के बारे में जाने

संतरे के ज्यादा सेवन से होने वाले नुकसानों के बारे में जाने

संतरा एक ऐसा रसीला फल है जिसे हर कोई खाना पंसद करता है. फल के साथ लोग इसका ज्यूस भी पीना पंसद करते हैं. संतरा हमारी स्वास्थ्य को कई तरह से लाभ पहुंचाता है.

 इसमें फैट, कोलेस्ट्रॉल व सोडियम की मात्रा न के बराबर होती है. यह हमारे दिल व आंखों के स्वास्थ्य वर्धक रखता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि संतरे का जरूर से ज्यादा सेवन आपकी स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है. आज हम आपको बताने जा रहे है संतरे के ज्यादा सेवन से होने वाले नुकसानों के बारे में. तो आइए जानते हैं क्या हैं वो:-

ब्लड शुगर लेवल में बढ़ोत्तरी
बहुत सारे लोग अपने दिन की शुरूआत संतरे के जूस के सेवन से करते हैं, लेकिन इसके कई नुकसान भी हैं. ज्यादा संतरे का जूस पीने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है. ऐसे में ब्लड शुगर लेवल को संतुलित बनाए रखने के लिए ऑरेंज जूस का कम मात्रा में सेवन करना चाहिए.

हाजमे की समस्या
खाने के बाद संतरा जहां भोजन को पचाने में मदद करता है वहीं खाने से पहले संतरे का सेवन भूख को बढ़ाने में मदद करता है, लेकिन इसका ज़्यादा मात्रा में सेवन आपकी पाचन क्रिया पर सीधा प्रभाव डालने लगता है. दरअसल संतरे में अधिक मात्रा में फाइबर होता है, ज्यादा फाइबर आपकी पाचन क्रिया को प्रभावित करता हैं. इस वजह से पेट में दर्द व दस्त जैसी समस्या पैदा हो सकती है.


मोटापे की समस्या
ज्यादा संतरे के जूस के सेवन ने वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है. संतरे में उपस्थित कार्बोहाइड्रेट हमारे खून में ग्लाइसेमिक इंडेक्स के लोड को बढ़ा देता है. जो कि आपके वजन को बढ़ा देता है. इसके ज्यादा मात्रा में सेवन से शरीर में फाइबर, कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़ती है व ज्यादा भूख भी लगती है. ऐसे में ज़्यादा भूख का परिणाम आपके बढ़े हुए वजन के रूप में सामने आती है.

कमजोर हड्डियां
शरीर में विटामिन सी कैल्शियम मैटाबॉलिज्म के लिए महत्वपूर्ण है लेकिन एक हद तक. ज़्यादा मात्रा में कैल्शियम के सेवन की वजह से आपकी हड्डियां भी निर्बल हो सकती है. क्योंकि ज्यादा विटामिन सी मिलने की वजह से हड्डियां ज्यादा कैल्शियम निकालने लगती हैं. ऐसे में आपको ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी का ख़तरा होने कि सम्भावना है.

दांतों में परेशानी
दांतों के लिए ज्यादा संतरे का सेवन हानिकारक होता है. दांतों की इनेमल सुरक्षा करता है. लेकिन संतरे में उपस्थित एसिड दांतों के इनेमल में उपस्थित कैल्शियम से मिलकर रिएक्शन करने लगता है. जिसकी वजह से दांत वैक्टीरियल इन्फेक्शन से प्रभावित हो जाते हैं. जिसकी वजह से दांतों में कैबिटी समेत अन्य समस्याएं होने लगती हैं.

एनर्जी संतुलन पर असर
ज़्यादा मात्रा में संतरे का जूस आपको इंस्टेंट एनर्जी देता है. आप एनर्जी कम होने की स्थिति में हमेशा से इसका सेवन करने लगते हैं. ऐसे में एनर्जी लेवल अनियंत्रित हो जाता है. एनर्जी के लिए आप संतरे के जूस के ऊपर डिपेंड होने लगते हैं.