इन बातो को ध्यान में रखते हुए करे कोरोना वायरस से बचाव

इन बातो को ध्यान में रखते हुए करे कोरोना वायरस से बचाव

कोरोना को फैलने से रोकने के लिए विशेषज्ञों ने लोगों को बार-बार साबुन से हाथ धोने की सलाह दी है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जितना महत्वपूर्ण हाथों को धोना है, उतना ही महत्वपूर्ण उनको अच्छा ढंग से सुखाना भी है. विशेषज्ञों ने इसके महत्व के बारे में बताया है.

सूखी स्कीन पर कम होते हैं रोगाणु हाथ सुखाने से न केवल हाथों की नमी दूर होती है, बल्कि इसमें घर्षण भी होता है जो सूक्ष्मजीवों की संख्या को कम करता है. साथ ही सूक्ष्मजीवों के पर्यावरण में फैलने से रोकने में भी कमी लाता है. सूखी स्कीन की तुलना में गीली स्कीन से रोगाणुओं के फैलने की आसार अधिक होती है.

एयर ड्रायर के प्रयोग से बचें विशेषज्ञ कहते हैं कि कुछ लोग मानते हैं कि एयर ड्रायर से हाथ सुखाना अच्छा होता है, क्योंकि उससे बैक्टीरिया या अन्य रोगाणु जीवित नहीं रहते लेकिन यह गलत धारणा है. एयर ड्रायर व जेट एयर ड्रायर से हाथ सुखाने से पर्यावरण प्रदूषित होने कि सम्भावना है व ड्रायर सूक्ष्मजीवों का फैलाव हवा में बढ़ा सकते हैं. वहीं, कपड़े वाले तौलिए से हाथों को सुखाने से भी रोगाणु पनपने का खतरा होता है.

डिस्पोजेबल टिशू पेपर अच्छा विशेषज्ञों के मुताबिक डिस्पोजेबल पेपर टिशू से हाथ पोंछना या सुखाना चाहिए क्योंकि यह तेजी से हाथों की नमी को सोख लेता है. हाथों में बची नमी को हटाने का सबसे तेज व सबसे प्रभावी उपाय है. यह कोविड-19 के प्रसार से बचने के लिए जरूरी साबित होने कि सम्भावना है.

अनदेखी करते हैं विशेषज्ञों के मुताबिक लोग हाथों को अच्छी तरह धोते तो हैं लेकिन अक्सर वह एक वस्तु की अनदेखी कर देते हैं व वो है हाथों को अच्छे से सुखाना. हाथों को सुखाना भी स्वच्छता का एक जरूरी भाग होता है. किसी भी पुराने ढंग से हाथों को सुखाना सरल नहीं है, क्योंकि आप अपने हाथों को कैसे सुखाते हैं यह भी अर्थ रखती है.