वजन कम करने के लिए अपनाए यह खास तकनीक, जाने

वजन कम करने के लिए अपनाए यह खास तकनीक, जाने

हर दिन आप जिम में घंटों अभ्यास करते हैं. हैल्दी फूड खाते हैं व मीठे को ना कह चुके हैं. इसके बाद भी वेट कम नहीं हो रहा? तो जरा अपनी तकनीक व विशेषज्ञों की हिदायतों पर भी गौर फरमा लें

. वजन कम करने की प्रक्रिया को डेली रुटीन में शामिल न करने व ठीक तकनीक का प्रयोग ना करने से आपकी सारी मेहनत बेकार चली जाती है. जानते हैं ऐसी प्रमुख वजहों के बारे में.

तनाव पड़ता है भारी-
किसी भी तरह का स्ट्रेस फिर चाहे वह शारीरिक हो या मानसिक आपके वेट लॉस कार्यक्रम में सबसे बड़ी बाधा खड़ी कर सकता है. तनाव से हमारे शरीर में एक तरह का हॉर्मोन कॉर्टिसोल स्रावित होता है जो इंसुलिन रजिस्टेंस को कम करता है व बॉडी में फैट बढ़ाता है. इससे बचने के लिए महत्वपूर्ण है कि आप अपनी बातें शेयर करें, किताबें पढ़ें व समय मिले तो कहीं घूम आएं.

डाइट में ये तो नहीं-
आप तली हुई व मसालेदार चीजों से तो परहेज करते हैं लेकिन डाइटिंग के नाम पर ब्रेकफास्ट या लंच ही स्किप कर जाते हैं. ऐसा करने पर जब आपको भूख लगती है तो आप एक समय में अपनी आवश्यकता के हिसाब से ज्यादा खा लेते हैं, नतीजन आपका वजन बढ़ता है. महत्वपूर्ण है कि आप सारे दिन के भोजन को थोड़े-थोड़े अंतराल में पांच से छह बार खाएं. इससे अभ्यास के दौरान आपको महत्वपूर्ण एनर्जी भी मिलेगी व ज्यादा थकान भी नहीं होगी.

कार्डियो एक्सरसाइज-
वजन कम करने के लिए कार्डियो अभ्यास करने की सबसे ज्यादा सलाह दी जाती है. लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि प्रतिदिन सिर्फ कार्डियो सेशन पर ही अटके रहना बहुत ज्यादा नहीं है. हर दिन इसकी गति बढ़ानी चाहिए. अपने वर्कआउट की इंटेंसिटी अपने मैक्सिमम हार्ट रेट से 65-85 फीसदी तक बढ़ानी चाहिए.

लिक्विड एनर्जी से बचें-
चाय, कॉफी या मीठे जूस जैसी किसी भी तरह की लिक्विड कैलोरी आपका वेट कम करने की बजाय उसे बढ़ाने में मदद करेगी. ऐसे में इन पेय पदार्थों को कम से कम मात्रा में लें या इनकी बजाय कम मलाई वाले दूध या वेजिटेबल जूस इस्तेमाल में लाएं ताकि पर्याप्त ऊर्जा के साथ-साथ आपका वजन भी घटे.

मजबूत इरादे जरूरी-
अगर आप मोटिवेट नहीं रहेंगे तो वेट लॉस कार्यक्रम कभी पास नहीं हो पाएगा क्योंकि जिम में सिर्फ पांच मिनट ही अभ्यास करना बहुत ज्यादा नहीं है. फिटनेस कार्यक्रम से आपको दिल व दिमाग से जुडऩा होगा.