पैरो में जलन की समस्या के हो सकते हैं यह कारण

पैरो में जलन की समस्या के हो सकते हैं यह कारण

रोजमर्रा की जिंदगी में कई बार हमें आने वाली बीमारी के बारे में कतई एहसास नहीं हो पाता व वह बीमारी विकराल रूप धारण कर लेती है जिस की वजह से खतरनाक नतीजे भुगतने पड़ते हैं। ऐसी ही एक समस्या है पैरों में जलन।

पैरों में जलन का मुख्य कारण है शरीर में विटामिन बी, फोलिक एसिड या कैल्शियम की कमी होना। पैरो में जलन की समस्या कई कारणों से हो सकती है आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है इन्ही कुछ कारणों के बारे में , तो देर किस बात की है आइये जानते है इसके बारे में ।

पैरों में जलन हलकी, तेज व गंभीर हो सकती है। अकसर यह जलन तंत्रिकातंत्र में गड़बड़ी या शिथिलता के कारण होती है। या फिर विटामिन बी12 की कमी से बढ़ सकती है विटामिन बी12 तंत्रिकातंत्र सहित हमारे शरीर के कई कार्यों में महत्त्वपूर्ण किरदार निभाता है। जिसकी कमी से ये समस्या उत्पन्न होती है.

इसके अतिरिक्त न्यूरोपैथी बीमारी भी पैरों की जलन का कारण हो सकती है, क्योंकि न्यूरोपैथी का प्रभाव सभी नसों पर पड़ता है। इसलिए यह मुख्य रूप से सभी अंगों व तंत्रों को प्रभावित कर सकती है। इस में पैरों में जलन, दर्द व चुभन बहुत ज्यादा संवेदनशील ढंग से महसूस होती है। पैरों में जलन हाईब्लडप्रैशर के कारण भी हो सकती है। हाईब्लडप्रैशर के कारण ब्लड सर्कुलेशन में भी कठिनाई होती है। इस से स्कीन के रंग में बदलाव, पैरों की पल्सरेट व हाथपावों के तापमान में कमी रहती है, जिस से पैरों में जलन महसूस होती है।

ऐसा पाया गया है जिन लोगो में किडनी सम्बन्धी समस्या रहती है उन लोगो में भी ये समस्या पायी जाती है किडनी संबंधी बीमारी होने पर भी पैरों में जलन होना मुमकिन है। पैरों में जलन का प्रमुख कारण डायबिटीज होता है। इन लोगों में इस बीमारी के निदान के लिए किसी अलावा परीक्षण की आवश्यकता नहीं होती। व डाक्टर तुरंत इस पर नियंत्रण कर लेता है। या फिर थायरायड हार्मोन का लैवल कम होने से भी पैरों में जलन की समस्या होती है।

इसलिए पैरो में जलन होने की समस्या को नज़रअंदाज न करे तुरंत किसका उपचार करवाए व समस्या का निवारण पाए. ये समस्या कम रहने पर ही इसका उपचार ज्यादा अच्छे से किया जा सकता है इसलिए अपनी स्वास्थ्य का ध्यान रखे व उपचार के साथ डॉक्टरी सलाह को अनुसरण करे.