इम्युनिटी घटने से होती है ये बड़ी दिक्कतें

इम्युनिटी घटने से होती है ये बड़ी दिक्कतें

स्लिमट दि-फिफिट के लिए लोग डाइटिंग कर रहे हैं. इसमें वे खाना बंद कर देते हैं, या फिर भोजन में कुछ महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थों से दूरी बना लेते हैं. बस यहीं पर हुई चूक स्वास्थ्य पर भारी पड़ती है. पतले या जीरो फिगर लुक के लिए खाना बंद करने से रक्त में शुगर की सामान्य मात्रा असंतुलित हो जाती है. ऐसे में शरीर लिवर, हड्डी, मांसपेशियों और फैट से ग्लूकोज लेना प्रारम्भ कर देता है. इस कारण मांशपेशियां टूटती हैं व आदमी कमजोरी महसूस करता है. इम्युनिटी घटने से वह गंभीर रोगों की चपेट में आने लगता है.

ये होती दिक्कतें


खाना बंद करने से रक्त में कीटोन्स बनते हैं जिसे सिर्फ दिमाग इस्तेमाल में लेता है. इससे दिल और ब्लड प्रेशर की गति धीमी होती है जिससे आदमी की आकस्मित मृत्यु हो सकती है. इसलिए विशेषज्ञ डाइटिंग न करने की सलाह देते हैं. ताकि शरीर को महत्वपूर्ण पोषक तत्त्व मिल सकें.

गड़बड़ाता पाचन
संतुलित भोजन से फैट, कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं. खाना बंद होने पर इलेक्ट्रोलाइट इंबैलेंस की स्थिति बनती है. पोषक तत्त्वों की कमी से कोशिकाओं को पोषण नहीं मिलता व वे मरने लगती हैं. कुछ लोग दुबले पतले होते हैं लेकिन खाना बहुत खाते हैं. इसका मतलब है कि उनका पाचनतंत्र अच्छा हैं.

थायरॉइड से भी बढ़ता वजन
थॉयराइड की तकलीफ से वजन बढ़ने के साथ थकान, सुस्ती, कमजोरी, लंबाई न बढ़ने, पेट के रोग, कब्ज आदि परेशानियां होती हैं. ऐसे में डॉक्टरी सलाह लें. वजन बढऩे का कारण कुछ व है तो डाइटिंग से परेशानी बढ़ भी सकती है.

ये नियम अपनाएं
अचानक खाना बंद करने की बजाय खाने की मात्रा कम करें. कार्य के अनुसार कैलोरी लें. सिटिंग नौकरी है या घरेलू महिला हैं तो 1500 कैलोरी , मेहनत का कार्य है तो दिन में 2400 कैलोरी लें. वजन अधिक है तो खाने का फीसदी बॉडी मास इंडेक्स के आधार पर तय करते हैं. प्रातः काल नाश्ता जरूर करें. एक बार में अधिक खाने के बजाय टुकड़ों में खाना लाभकारी है. 7 बजे से पहले डिनर लें और टहलें.

इनका सेवन करें
फाइबरयुक्त डाइट लें जिसमें भुट्टा, ब्राउन राइस, बीन्स, अमरूद, ओट्स, मटर, सेब, बादाम, काजू, पत्ता गोभी शामिल करें. डाइटिंग न करें. इसके बजाय विशेषज्ञ की सलाह पर नियमित व्यायाम करें.