स्वास्थ्य

कोरोना के नए स्ट्रेन JN.1 ने देश-दुनिया में मचा दिया है हड़कंप, जानें कैसे करें बचाव

कोरोना अभी भी लोगों का पीछा नहीं छोड़ रहा है जैसे ही इस घातक वायरस का खतरा कम होता है, वैसे ही इसका नया वैरिएंट आ जाता है और लोगों की मुसीबतें बढ़ा देता है कोविड-19 स्ट्रेन JN.1 के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ इस नए स्ट्रेन JN.1 ने देश-दुनिया में हड़कंप मचा दिया है पहले इस स्ट्रेन के मुद्दे केवल सिंगापुर, चीन और अमेरिका में ही सामने आए थे, लेकिन अब हिंदुस्तान में भी इस स्ट्रेन के मुद्दे सामने आए हैं केरल में इस तरह का मुद्दा सामने आने के बाद कई राज्यों ने अलर्ट घोषित कर दिया है केरल के अतिरिक्त उत्तराखंड में भी अलर्ट जारी किया गया है तो आइए आपको बताते हैं कि ये वेरिएंट इतना घातक क्यों है और इसके लक्षण क्या हैं…

कितना घातक है नया वैरिएंट JN.1?
आपको बता दें कि कोविड-19 का यह नया वैरिएंट JN.1 सब वैरिएंट है इसकी पहचान सबसे पहले लक्ज़मबर्ग में हुई थी यह कोविड-19 के पिरोला वैरिएंट (BA.2.86) का वंशज है, जो स्वयं ओमिक्रॉन के उप-वेरिएंट से बना है अन्य कोविड-19 वैरिएंट की तुलना में इसमें अधिक म्यूटेशन हैं जो कठिनाई पैदा करते हैं यह स्पाइक प्रोटीन को संशोधित करता है, जो संक्रमण और प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाओं से बचाने की क्षमता को बढ़ा सकता है

इसकी विशेषताएं इस प्रकार हैं
भारत में ऐसा ही एक मुद्दा केरल की एक स्त्री में देखने को मिला है इस स्त्री में इन्फ्लूएंजा जैसी रोग के हल्के लक्षण दिखे हैं इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य जानकारों के अनुसार इसके लक्षण बहुत अलग नहीं होते हैं इसके मुख्य लक्षण गले में खराश, नाक बहना, सिरदर्द और बुखार हैं

कैसे करें बचाव?
कोरोना के किसी भी रूप से बचने और संक्रमण को रोकने के लिए बार-बार हाथ धोना, मास्क पहनना और सोशल डिस्टेसिंग जैसे नियमों का पालन करें साथ ही यदि आपने कोई कोविड वैक्सीन नहीं लगवाई है तो टीका जरूर लगवाएं

Related Articles

Back to top button