इन बातों का ध्यान रख कर भी आप अपने शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने से रोक सकते हैं, जानिए

 इन बातों का ध्यान रख कर भी आप अपने शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने से रोक सकते हैं, जानिए

अच्छी स्वास्थ्य के लिए शरीर में ठीक रक्त की मात्रा का होना जरुरी है जी कीपुरुषों में हीमोग्लोबिन की ठीक मात्रा 14 से 17 ग्राम/100 मिली। रक्त होती है, वहीं महिलाओं में ये मात्रा 13 से 15 ग्राम/100 मिली। रक्त होती है। शिशुओं के शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा लगभग 14 से 20 ग्राम/100 मिली। रक्त होनी चाहिए। इन बातों का ध्यान रख कर भी आप अपने शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने से रोक सकते हैं।

स्वास्थ्यवर्ध्क गुणों से भरपूर लीची, रक्त कोशिकाओं के निर्माण व पाचन-प्रक्रिया में सहायक होती है। लीची में बीटा कैरोटीन, राइबोफ्लेबिन, नियासिन व फोलेट जैसे विटामिन बी उचित मात्रा में पाया जाता है। इसमें उपस्थित विटामिन लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण के लिए आवश्यक है। यहां हम आपको एक बहुत ही साधारण सी बात बता देना चाहते हैं कि दिन में एक सेब अवश्य खाकर आप आपके शरीर में हीमोग्लोबिन स्तर को सामान्य बनाए रख सकते हैं। विटामिन सी की कमी हो जाने के कारण भी हीमोग्लोबिन का स्तर कम हो जाता है। जब शरीर में विटामिन सी की कमी होती है तो इस कारण आपका शरीर ठीक मात्रा में आयरन को सोख नहीं पाता। इसीलिए विटामिन सी से भरपूर खाद्य प्रदार्थों के सेवन से आप हीमोग्लोबिन का स्तर ठीक कर सकते हैं।

इनके अतिरिक्त अनार हीमोग्लोबिन बढ़ाने में बहुत फायदेमंद होता है। अनार में आयरन व कैल्शियम के साथ-साथ प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट व फाइबर जैसे तत्व होता हैं, जिनसे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने में मदद मिलती है। शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने के लिए चुकंदर सबसे अच्छा खाद्य प्रदार्थ है। चुकंदर पोषक तत्वों की खान है। इसमें आयरन, फोलिक एसिड, फाइबर, व पोटेशियम ये सभी ठीक मात्रा में पाया जाता है। ये शरीर की लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या में तेजी से वृद्धि करता है। गुड़ का सेवन करना भी एक बेहद उत्तम उपाय है। गुड़ में आयरन फोलेट व कई विटामिन बी शामिल हैं जो हीमोग्लोबिन स्तर को बढ़ाने के लिए व लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में मददगार होते हैं।