मुंह के छालों से हैं परेशान, करे इन घरेलु उपायों को, जल्द होगा आराम

मुंह के छालों से हैं परेशान, करे इन घरेलु उपायों को, जल्द होगा आराम

दुनियाभर में कई लोग छालों से परेशान रहते हैं। इसमें मुँह के छाले (mouth ulcer) एक सामान्य समस्या है जो लगभग सभी लोगों को कभी न कभी होती है। वहीं यह छाले गालों के अन्दर, जीभ पर और होंठो के अन्दर की तरफ होते हैं। कभी यह सफेद होते हैं तो कभी लाल घाव की तरह दिखाई देते हैं। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं इसके कारण और इसके घरेलू उपाय।

क्यों होते हैं छाले-
पेट की खराबी या कब्ज रहना।
हेलिकोबैक्टर पाइलोरी नामक बैक्टीरिया की मौजूदगी की वजह।
अत्यधिक तला-भुना एवं मिर्च-मसाले वाला भोजन।
महिलाओं में मासिक धर्म के समय होने वाले हार्मोन्स में बदलाव के कारण।

छालों को दूर करने के घरेलू उपाय- 
* छालों को दूर करने के लिए दिन में दो बार तुलसी के 4-5 पत्ते चबाकर खाएँ।
* छालों से राहत पाने के लिए शहद में मुलेठी का चूर्ण मिलाकर इस लेप को मुँह के छालों (Muh ke chhale) पर लगाएँ और लार को मुँह से बाहर टपकने दें। इससे आपको राहत मिलेगी।
* छालों को दूर करने के लिए कत्था बहुत लाभकारी होता है। आप कत्था, मुलेठी का चूर्ण और शहद मिलाकर मुँह के छालों पर लगाएँ। वैसे आप इसके अलावा अमरूद के मुलायम पत्तों में कत्था मिलाकर उसे पान की तरह चबाएँ।
* छालों के लिए नींबू पानी में शहद मिलाकर इससे कुल्ला करें।
* मुंह के छालों को ठीक करने के लिए आप शहद का प्रयोग भी कर सकते हैं। जी हाँ, इसके लिए शहद और इलायची का पाउडर मिलाकर एक मिश्रण बनाएं। इस मिश्रण को सीधे छालों पर 2-3 दिनों तक लगाएँ।


पेट की अंदरूनी समस्या को जड़ से खत्म करता है तांबे के बर्तन में पानी का सेवन, जाने अन्य लाभ

पेट की अंदरूनी समस्या को जड़ से खत्म करता है तांबे के बर्तन में पानी का सेवन, जाने अन्य लाभ

जानें अनजाने अपने भी कई बार लोगों से यह बातें सुनी होगी कि तांबे के बर्तन में रखा गया पानी आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों तांबे के बर्तन में पानी पीना आपके सेहत के लिए इतना फायदेमंद होता है।

साथ ही हम आपको बताएंगे कि कौन से समय में तांबे के बर्तन में रखा गया पानी पीना आपकी सेहत के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद हो सकता है । और इसे पीने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं।
आयुर्वेद के अनुसार, तांबे के बर्तन में रखा गया पानी इसमें पैदा होने वाले बैक्टीरिया को खत्म करके पानी को पूरी तरह से शुद्ध कर देता है।

पेट की अंदरूनी समस्या को जड़ से खत्म करें

तांबे के बर्तन में रखा पानी पेट की समस्याओं के लिए रामबाण औषधि माना जाता है। आजकल लोगों को अक्सर गैस, अपच जैसी परेशानियां बनी रहती हैं, ये पानी इन परेशानियों से छुटकारा दिलाने में कारगर है। इस पानी में ऐसे तमाम गुण होते हैं जो नुकसानदायक बैक्टीरिया को खत्म करते हैं और पेट की सूजन और इन्फेक्शन को दूर करते हैं। तांबे के बर्तन का पानी आंतों की गंदगी को साफ करता है। इसके अलावा इस पानी से त्वचा संबन्धी तमाम समस्याओं से भी बचाव होता है।

कब न पिए
अगर अल्सर की समस्या है या एसिडिटी है तो इस पानी को न पिएं, गर्म तासीर का होने की वजह से ये समस्या को बढ़ा सकता है।

तांबे के बर्तन में दूध या दूध से बनी चीजें और खट्टी चीजें न डालें।

यह भी पढ़े-

सुबह खाली पेट पीना हो सकता है लाभकारी
अगर आपको तांबे के बर्तन में पानी पीने का पूरा लाभ उठाना है तो आपको सुबह सुबह उठकर तांबे के बर्तन में पानी पीना चाहिए । खाली पेट सुबह सुबह तांबे के बर्तन में पानी पीने से आपको सबसे ज्यादा लाभ मिलता है।