कार्डिएक अरेस्ट और हार्ट अटैक दोनों के कारण जाने

 कार्डिएक अरेस्ट और हार्ट अटैक दोनों के कारण जाने

मानव शरीर में होने वाली कई तरह की बीमारिया होती है। कुछ हमे पता होती है परन्तु कुछ बीमारियों का हमें ज्ञान नहीं होता है। जिनका नाम भी हमने कभी सुना नहीं होता है।

उनमे से एक कार्डिएक अरेस्ट है कार्डिएक अरेस्ट एक प्रकार से दिल की बीमारी होती है जो अचानक से आती है। इसमें दिमाग और शरीर के बाकी अंगों में ब्लड सर्कुलेशन अचानक बंद हो जाता है और इस दौरान दम घुटने से व्यक्ति की मौत भी हो जाती है। आपको यह बता दें कि कार्डिएक अरेस्ट और हार्ट अटैक दोनों ही अलग-अलग तरह की चीज़ें हैं।

कार्डिएक अरेस्ट के बढ़ते मामलों का खास यह कारण हैं, की हम अक्सर जांच के लिए किसी बीमारी के होने का इतंजार करते है। जो की बहुत गलत है, क्योंकि कभी-कभी कुछ बीमारियों के लक्षण हमें बहुत दिनों बाद दिखते है। और इस तरह आपकी छोटी सी लापरवाही किसी बड़ी बीमारी की वजह बन सकती है। तथा जरुरी है की समय-समय पर हम अपनी जाँच करवाते रहे। इसके मुख्य कारण ये हो सकते है,जैसे -सांस फूलना, घबराहट महसूस होना, सीने में दर्द, चक्कर आना, बेहोश होना, बेचैनी होना, तनाव, ये सारे इसके मुख्य लक्षण होते है। 

तनाव हमारे दिल पर बुरा असर डालती है जिससे हमारा हार्ट धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है और अचानक से काम करना बंद कर देता है। किसी भी चीज़ के लिए बहुत ज्यादा टेंशन न लें क्योंकि ये आपकी सेहत के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है। जो आपके ब्लड प्रेशर के लिए भी सही नहीं है। अक्सर हम सभी बढ़ते वजन से होने वाली समस्याओं से वाकिफ हैं तो इसे नजरअंदाज करने की जगह कंट्रोल करने की जरूरत है। उसे नज़रअंदाज़ न कर उस पर ध्यान देना बहुत जरुरी होता है। क्योकि मोटापा कई नयी बीमारियों को जन्म देता है। वही डायबिटीज भी अपने साथ कई नयी बीमारियां को जन्म देती है। इसे शुरू से ही कंट्रोल में रखे। और कई तरह की ऐसी बीमारियां है जो हमारे शरीर को नुकसान पंहुचा सकती है। जरुरी है की हम नियमित तरीके से व्यायाम करे। और अपने खानपान का भी ध्यान रखे तथा दूषित चीज़ो से दुरी बनाये रखे।