फोड़े-फुुंसी और मलेरिया की बीमारी में फायदेमंद है कालमेघ के पत्ते

फोड़े-फुुंसी और मलेरिया की बीमारी में फायदेमंद है कालमेघ के पत्ते

कालमेघ का पौधा केवल बरसात में ही उगता है। इसकी लम्बाई करीब एक से दो फुट होती है। कालमेघ के फूल छोटे छोटे और हल्के नीले रंग के होते है। इसके पत्तों में से एक तरह का खुशबूदार तेल निकलता है जो कई तरह की बीमरियों में फायदेमंद होता है।

कालमेघ के कुछ औषधीय गुण:

# शरीर पर किसी भी तरह के घाव और फोड़े-फुुंसी के हो जाने पर कालमेघ का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए कालमेघ के पत्तो को पानी में उबाल कर उस पानी से घाव को साफ करने पर घाव जल्दी ठीक होता है।

# अगर आपको गैस व एसिडिटी की समस्या है तो कालमेघ के पत्तों के रस को निकालकर पानी में मिला कर पीने से फायदा होता है।

# मलेरिया हो जाने पर कालमेघ और काली मिर्च को एक साथ मिला कर सेवन करने से मलेरिया ठीक हो जाता है। इसके अलावा यह मलेरिया के वक्त नष्ट हुए सैल को भी ठीक करता है।

# खून को साफ़ करने के लिए इसके पत्तों को साफ करके पानी में उबालें। जब ये उबला जाये तो इसे छान कर रोज एक गिलास पीएं।

# कभी कभी छोटे बच्चों के पेट में कीड़े की समस्या हो जाती है। इसे दूर करने के लिए कालमेघ के पत्तों के रस में कच्ची हल्दी और चीनी मिलाकर बच्चो को पिलाये। इसे पीने से पेट के कीड़े मर जाते है।


बिना कपड़ों के सोने से आपको मिलते हैं कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स

बिना कपड़ों के सोने से आपको मिलते हैं कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स

नेक्ड स्लीपिंग या बिना कपड़ों के सोने से आपको कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स मिल सकते हैं। इसके पीछे कोई साइंटिफिक डेटा नहीं है लेकिन डिफरेंट स्टडीज बताती हैं कि नेक्ड स्लीपिंग कई मायनों में मददगार साबित हो सकती है। मेल और फीमेल दोनों के लिए यह फायदेमंद है।

बिना कपड़ों के सोने से आपकी बॉडी का टेम्परेचर जल्दी नीचे गिरता है, जिससे दिमाग को सिग्नल मिलता है कि अब सोने का समय हो गया है। इससे आपको अच्छी और जल्दी नींद आती है। बॉडी टेम्परेचर के साथ ही अगर आप अपने रूम का टेम्परेचर भी सही रखेंगे तो आपकी स्लीपिंग और इम्प्रूव होगी।

न्यूड सोने से आपकी अपने पार्टनर के साथ भी इंटीमेसी बढ़ती है। दरअसल स्किन के कांटैक्ट से ऑक्सिटोसिन नाम का केमिकल रिलीज होता है। ऐसे में जब पार्टनर्स के साथ स्किन कांटैक्ट बढ़ता है तो ज्यादा मात्रा में ऑक्सिटोसिन प्रोड्यूस होता है जो आपको प्लीजिंग फीलिंग देता है। 

मेल इनफर्टिलिटी की समस्या भी नेक्ड सोने से कुछ हद तक खत्म हो सकती है। दरअसल कई बार पुरुष टाइट अंडरवियर पहनकर सोते हैं। ऐसे में स्क्रोटम का टेम्परेचर बढ़ जाता है, जिससे स्पर्म वाइटिलिटी और स्पर्म काउंट दोनों पर असर पड़ता है। यही बात फीमेल्स पर भी लागू होती है। अगर आपको नेक्ड सोना कंफर्टेबल नहीं लगता तो आप लाइट फिटिंग के कपड़े पहनकर भी सो सकते हैं।

अच्छी नींद से इम्यूनिटी बढ़ती है और इंफेक्शन के चांसेंस काफी कम हो जाते हैं। इसके उलट जब आप ठीक से सो नहीं पाते तो आपके शरीर की इम्यूनिटी दिन पर दिन घटती जाती है और आप चाहे कितना भी ध्यान रखें, बीमिरियों से बच नहीं पाते।