धूम्रपान करने वाले लोग इस तरह Covid-19 से होते हैं संक्रमित

धूम्रपान करने वाले लोग इस तरह Covid-19 से होते हैं संक्रमित

कोरोना वायरस महामारी से पूरी दुनिया चपेट में है। इस वायरस से आम जनजीवन पर भी व्यापक असर पड़ा है। इस वायरस से उनलोगों को अधिक खतरा है, जिन्हें मधुमेह, मोटापे, सांस और लीवर संबंधी बीमारियां हैं। साथ ही धूम्रपान करने वाले के लिए भी यह खतरनाक है। डॉक्टर्स की मानें तो धूम्रपान करने वाले लोगों को कोरोना वायरस का अधिक खतरा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी धूम्रपान को सूचीबद्ध किया है और लोगों से अपील की है कि कोरोना काल में धूम्रपान करने से बचें।

विशेषज्ञों की मानें तो धूम्रपान करने से इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। जबकि गले और फेफड़ों में संक्रमण का खतरा रहता है। धूम्रपान करने से एंजियोटेनसिन-परिवर्तित एंजाइम 2 (ACE2) का प्रभाव उच्च हो जाती है, जिससे सूजन को संकेत मिलती है। ACE2 स्रावी कोशिकाओं को भी संक्रमण के लिए अतिसंवेदनशील बनाती है। एंजियोटेनसिन-परिवर्तित एंजाइम 2 फेफड़े, धमनियों, हृदय, गुर्दे और आंतों में कोशिकाओं की बाहरी सतह से जुड़ा रहता है जो कोरोना वायरस सहित सभी प्रकार के संक्रमण के लिए प्रवेश द्वार की तरह है।

तंबाकू चबाने और धूम्रपान करने वाले सिगरेट अथवा तंबाकू को हाथों की उंगलियों से छूते और होंठों से लगाते हैं। इससे संक्रमण का खतरा अधिक बढ़ जाता है। इन कारणों से वायरस हाथों और होंठों के माध्यम से शरीर में प्रवेश करते हैं। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में छपी एक शोध के अनुसार, धूम्रपान न करने वालों के तुलना में धूम्रपान करने वाले लोगों के अस्पताल के आपातकाल विभाग में भर्ती होने के 2.4 गुणा अधिक संभावना है।

जबकि इलेक्ट्रॉनिक निकोटीन डिलीवरी सिस्टम और गैर-निकोटीन इलेक्ट्रॉनिक डिलीवरी सिस्टम हृदय रोग और फेफड़ों के विकारों के जोखिम को बढ़ाते हैं। ये सेहत के लिए हानिकारक होते हैं। इनके सेवन से न केवल सांस संबंधी बीमारियां घर कर जाती है, बल्कि कोरोना काल में यह खतरनाक साबित हो सकता है। एक सर्वे के अनुसार, अमेरिका में धूम्रपान करने वाले युवा कोरोना वायरस से अधिक संक्रमित हुए हैं।


बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार

बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार

एपल साइडर विनेगर वजन घटाने के साथ कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाने में भी कारगर है, जिसका पता ईरान में हुई एक स्टड़ी में चला है, 12 हफ्ते तक चली इस रिसर्च में सामने आया कि यह ट्राईग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाकर हार्ट अटैक के खतरे की संभावना को कम करता है। एक्सपर्ट कहते हैं, इसके कई फायदे हैं। लेकिन एपल साइडर विनेगर का इस्तेमाल सीमित मात्रा में करें वरना नुकसान भी हो सकता है। एक दिन में 30 एमएल से ज्यादा इसका इस्तेमाल न करें।

क्या होता है एपल साइडर विनेगर?

सेब को जूस को फर्मेंट करके विनेगर तैयार किया जाता है।

इसमें एसिटिक एसिड और सिट्रिक एसिड के अलावा विटामिन-बी, सी पाया जाता है।

बालों का संक्रमण दूर करता है यह विनेगर

सिर में फंगल या बैक्टीरियल इंफेक्शन होने पर एक चौथाई कप पानी में दो छोटे चम्मच एपल विनेगर को मिलाएं।

शैंपू के बाद इसे स्कैल्प पर लगाएं। सिर को तौलिया से कवर करें और 20 मिनट बाद पानी से धो लें। बालों में चमक आने के साथ पीएच लेवल भी मेंटेन रहता है।


कील-मुंहासे की समस्या करता है दूर

चेहरे पर धब्बे, पिंपल्स की समस्या होने पर एक कप पानी में एक चम्मच एपल विनेगर मिलाएं। इसे रूई की मदद से लगाएं फिर 10 मिनट बाद धो लें। इससे यह समस्या खत्म हो जाएगी।

भूख कंट्रोल करने में मददगार

बढ़ते वजन को कंट्रोल करने के लिए इस सिरके को अपने डेली रूटीन में शामिल करें।

एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच एपल साइडर विनेगर को खाना खाने के 45 मिनट पहले पिएं।


इससे वजन कम होने के साथ ही मेटाबॉलिज्म तेज होता है। साथ ही यह ब्लड शुगर लेवल और भूख दोनों को कंट्रोल करता है।

कई रिसर्चेस में भी सामने आया है कि यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर कम करता है।

इन बातों का भी रखें ध्यान

कभी भी सेब के सिरके का इस्तेमाल ज्यादा मात्रा में न करें। ऐसा करने पर उल्टी हो सकती है।

शरीर में ब्लड शुगर का लेवल अधिक गिर सकता है।

वहीं, एसिडिक होने के कारण यह पेट, स्किन और दांतों की ऊपरी लेयर को नुकसान हो सकता है।


भारत व इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले चौथे टेस्ट में जानिए कैसा रहेगा मौसम व पिच का हाल       कब और कहां देखें भारत-इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच       भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड के खेमे में खलबली       विराट कोहली और बेन स्टोक्स चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन मैदान पर भिड़े       दो दिन बाद ही रोकना पड़ा टूर्नामेंट का आयोजन, स्टेन ने पाकिस्तान लीग के बताया IPL से बेहतर       इन नेचुरल ऑयल्स से बहुत जल्द दूर कर सकते हैं ये...       दाढ़ी की रूसी दूर करने में बहुत ही असरदार है ये घरेलू उपाय       क्लीयर स्किन के लिए आज़माएं ये 5 घरेलू नुस्खे       बालों की हर समस्या का इलाज करता है गुड़हल का तेल       नैचुरली काली घनी पलकें चाहती हैं तो इस खास टिप्स को अजमाएं       झुमरी तिलैया की श्रुति ने बढ़ाया झारखंड का मान, ऑल इंडिया ब्यूटी कॉन्टेस्ट में जीता खिताब, श्रुति को मिला मिसेज इंटेलेक्चुअल का अवार्ड        लिवर को भी प्रभावित करता है Covid-19, इस तरह से करें बचाव       बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार       ज्यादा दिनों तक खांसी के साथ अगर हैं ये सारे लक्षण तो...       क्या आपको ऑफिस और स्कूल खुलने से डर लग रहा है? एक्सपर्ट्स से जानें       गैजेट्स के लगातार इस्तेमाल से बढ़ रही है डिजिटल आई स्ट्रेन की समस्या       यात्रियों के लिए चलाई जाए पैसेंजर-एक्सप्रेस ट्रेनें:शालिनी       पुलिस की घिनौनी करतूत, लड़कियों के उतरवाए कपड़े, फिर किया ये...       आखिर कौन-कौन से लोग नहीं लगवा सकते वैक्सीन, वैक्सीनेशन से पहले जान लें ये बात       अरबपति बना हिमाचल का बेटा, अमेरिका में बनाई खुद की कंपनी