स्वास्थ्य

जानें, आखिर क्यों होता है खून का रंग लाल

न्यू साउथ वेल्स में रहने वाले 6 वर्ष 11 महीने के आशेर का प्रश्न है- खून का रंग लाल क्यों होता है? हमारे शरीर में किसी चीज़ के बारे में कितना बढ़िया प्रश्न है, आशेर रक्त हमारे शरीर के भीतर होता है, लेकिन जब हमें रक्तस्राव होता है तो हम इसे बाहर देखते हैं, जैसे कि जब हमें कट लगता है या नाक से खून बहता है रक्त हीमोग्लोबिन नामक वस्तु के कारण लाल होता है हीमोग्लोबिन लाल होता है और यह हमारे रक्त को लाल बनाता है लेकिन, हीमोग्लोबिन किस काम के लिए होता है? दरअसल, हमें अपने रक्त में ऑक्सीजन ले जाने के लिए हीमोग्लोबिन की जरूरत होती है यह थोड़ा जटिल लग सकता है, तो आइए अधिक बारीकी से देखें कि हमें ऑक्सीजन की जरूरत क्यों है, और हमें अपने रक्त में ऑक्सीजन ले जाने के लिए हीमोग्लोबिन की जरूरत क्यों है हर किसी को जिंदा रहने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है

हमारे शरीर को काम करने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है हमारा शरीर लाखों-करोड़ों छोटी-छोटी कोशिकाओं से बना है हमारे शरीर की सभी कोशिकाओं को जिस हवा में हम सांस लेते हैं उससे ऑक्सीजन और हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन से पोषक तत्वों की जरूरत होती है कोशिकाएं ऊर्जा बनाने के लिए ऑक्सीजन और पोषक तत्वों का इस्तेमाल करती हैं ताकि वे अपना काम कर सकें उदाहरण के लिए, हमारी मांसपेशियों की कोशिकाओं को हमें गति देने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है, और हमारे मस्तिष्क की कोशिकाओं को ऊर्जा की जरूरत होती है ताकि हम सीख सकें हर बार जब आप सांस लेते हैं, तो आप अपने फेफड़ों में ऑक्सीजन पहुंचाते हैं हमारा दिल इस ऑक्सीजन को लेने के लिए फेफड़ों में रक्त पंप करता है फिर दिल इस ऑक्सीजन के साथ रक्त को हमारे शरीर की सभी कोशिकाओं तक पंप करता है जब रक्त कोशिकाओं के इस्तेमाल के लिए ऑक्सीजन छोड़ देता है, तो यह फिर से और ऑक्सीजन लेने के लिए दिल और फेफड़ों में वापस चला जाता है हमारी कोशिकाओं को हर समय ऑक्सीजन की जरूरत होती है क्योंकि वे हमेशा काम करती रहती हैं

तो हीमोग्लोबिन कहां से आता है?

ऑक्सीजन रक्त नलिकाओं के माध्यम से रक्त में हमारी कोशिकाओं तक पहुंचती है लेकिन ऑक्सीजन रक्त में बहुत अधिक घुलती नहीं है यदि हमारे रक्त में ऑक्सीजन होगी और घुलेगी नहीं, तो उससे हवा के बुलबुले बन सकते हैं ऐसे में ये बुलबुले रक्त वाहिकाओं के किनारों पर चिपक सकते हैं इसका मतलब है कि ऑक्सीजन फंस सकती है और हमारी कोशिकाओं तक नहीं पहुंच पाएगी सौभाग्य से, हीमोग्लोबिन हमारे रक्त में ऑक्सीजन ले जाता है इसलिए यह हवा के बुलबुले नहीं बनाता और फंसता नहीं है हम इसे ऐसे सोच सकते हैं जैसे नदी में एक पत्थर को हिलाने की प्रयास करना एक पत्थर नदी में तैर नहीं सकता इसलिए वह नीचे डूब जायेगा लेकिन यदि हम पत्थर को ऐसे कंटेनर में रखें जो तैरता हो, तो कंटेनर नदी में तैर सकता है और पत्थर को अपने साथ ले जा सकता है

हीमोग्लोबिन ऑक्सीजन के लिए एक लाल रंग के कंटेनर की तरह होता है यह हमारा ऑक्सीजन वाहक है इसलिए, क्योंकि हमारे रक्त में ऑक्सीजन ले जाने के लिए लाल हीमोग्लोबिन होता है, हमारा रक्त लाल होता है रक्त चमकीला लाल या गहरा लाल हो सकता है जब हीमोग्लोबिन अपने साथ ऑक्सीजन ले जाता है, तो यह चमकीले लाल रंग का होता है इसका मतलब यह है कि दिल और फेफड़ों से बहुत सारी ऑक्सीजन के साथ कोशिकाओं तक जाने वाला रक्त चमकदार लाल होता है जब हीमोग्लोबिन कोशिकाओं में अपनी ऑक्सीजन छोड़ता है, तो यह हल्का, गहरा लाल हो जाता है इसका मतलब यह है कि कम ऑक्सीजन के साथ दिल और फेफड़ों तक वापस जाने वाला रक्त गहरे लाल रंग का होता है हम अपनी त्वचा के ठीक नीचे अपनी कुछ नसें (रक्त वाहिकाएं जो रक्त को दिल तक वापस ले जाती हैं) देख सकते हैं उदाहरण के लिए, हमारे हाथों के पिछले भाग पर इन नसों में रक्त हरे-नीले रंग का दिखाई दे सकता है ऐसा इसलिए है क्योंकि हम अपनी त्वचा के माध्यम से इस रक्त को देख रहे हैं. इससे हम जो रंग देखते हैं वह बदल जाता है लेकिन हम जानते हैं कि जब हमारा खून बहता है, तो हमारा खून नीला या हरा नहीं होता – यह निश्चित रूप से लाल होता है

सभी जानवरों का खून लाल नहीं होता

ऑक्टोपस का खून नीला हो सकता है और कुछ छिपकलियों का खून हरा भी हो सकता है यह नीला और हरा रक्त उनके ऑक्सीजन वाहक के रंग के कारण भी होता है इन जानवरों में हमारी तरह लाल हीमोग्लोबिन नहीं होता है उनके पास नीला या हरा ऑक्सीजन वाहक होता है इससे उनका खून नीला या हरा हो जाता है

Related Articles

Back to top button