उपवास के साथ वजन भी करना है कम, तो पीनट मखाना भेल से करें नवरात्रि के पहले दिन की शुरूआत

उपवास के साथ वजन भी करना है कम, तो पीनट मखाना भेल से करें नवरात्रि के पहले दिन की शुरूआत

व्रत रखना हमेशा हीलिंग की तरह रहा है। इसे सिर्फ वजन कम करने के लिए ही नहीं करना चाहिए बल्कि जो सेल्स अच्छी तरह काम नहीं कर रहे उन सेल्स को खत्म करने और अच्छे सेल्स को रेजुवेनेट करने के लिए करना चाहिए। इससे आपकी इम्युनिटी भी बढ़ती है, और वज़न कम होना तो एक्स्ट्रा बेनिफिट है ही।

क्या उपवास रखना सुरक्षित है?

लंबे समय तक उपवास करना आपकी सेहत के लिए सही नहीं है। अगर डाइटिंग से आपका मतलब भूखे रहना है तो इससे बिल्कुल भी वजन नहीं घटेगा। उलटा आपका शरीर खतरा भांपकर कैलरीज़ सेव करना शुरू कर देगा। आप डाइट में पोषक तत्वों को लेंगे ही नहीं तो शरीर में सिर्फ न्यूट्रिशन की कमी होगी, बल्कि आपका मेटाबॉलिज्म भी धीमा हो जाएगा, जिसकी वजह से वजन घटने के बजाय तेज़ी से बढ़ना शुरू हो जाएगा, इसलिए डाइट प्लैन में बैलेंस्ड डाइट को शामिल करें।

समझें इसे भी

हर तरह के लोगों के उपवास रखने के भी अपने-अपने तरीके हैं। जैसे कोई पूरे दिन लौंग खाकर उपवास रखता है तो कोई सिर्फ लिक्विड डाइट ही शामिल करता है। कुछ लोग पूरे दिन ठोस व्यंजनों को खाते हैं, जिसमें मीठा सामान्य रूप से शामिल होता है पर इससे आपका ग्लूकोज़ का स्तर बढ़ता है। अच्छा व्रत रखने की अवधि भी सबकी अपने-अपने अनुसार ही होती है, जैसे कोई निर्जला व्रत रखता है तो वह 12 घंटे भी रख सकता है तो कुछ लोग 24 घंटे रखते हैं। कुछ लोग सूरज ढलने तक व्रत खोल लेते हैं तो कुछ देर रात व्रत खोलते हैं।

ज्यादा समय तक पानी न पीने ये भोजन नहीं करने स शरीर कई तरह से प्रभावित होता है। हाइड्रेट रहें, सब्जियों को शामिल करें, कुछ भीगे हुए मेवे खाएं, फलों के जूस या फलों को शामिल करें, तला-भुना न खाएं, कुछ लोग मीठे से व्रत खोलते हैं ऐसा करने से बचें। पानी/छाछ/नींबू पानी को शामिल करें।

पीनट मखाना भेल

वेट लॉस करने वाले व्रत भी रख रहे हैं तो पीनट मखाना भेल को ट्राई करें।

सामग्री

एक कप भुना हुआ मखाना, 2 टेबलस्पून मूंगफली दाना, 1 टेबलस्पून कद्दूकस की हुई गाजर, 1 कटा हुआ टमाटर, 2 टेबलस्पून ताजा अनार, 1/2 कटा हुआ खीरा, 1/2 नींबू का रस, 1 कटी हुई हरी मिर्च, 2 टेबलस्पून कटा हरा धनिया, एक चुटकी दालचीनी पाउडर

हरी चटनी की सामग्री

50 ग्राम धनिया पत्ती, 1/2 टमाटर, स्वादानुसार सेंधा नमक, 1 आंवला या 2 टेबलस्पून दही

विधि

नॉन स्टिक पैन में मखानों को हल्का सुनहरा भूरा और कुरकुरा होने तक भूनें। ऐसे ही मूंगफली भूनें।

हरी चटनी की सामग्री को ग्राइंडर में पीस लें।

अब एक बोल लें। उसमें सारी सामग्री डालकर एक साथ मिलाएं। पौष्टिक मखाना भेल तैयार है।


बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार

बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार

एपल साइडर विनेगर वजन घटाने के साथ कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाने में भी कारगर है, जिसका पता ईरान में हुई एक स्टड़ी में चला है, 12 हफ्ते तक चली इस रिसर्च में सामने आया कि यह ट्राईग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाकर हार्ट अटैक के खतरे की संभावना को कम करता है। एक्सपर्ट कहते हैं, इसके कई फायदे हैं। लेकिन एपल साइडर विनेगर का इस्तेमाल सीमित मात्रा में करें वरना नुकसान भी हो सकता है। एक दिन में 30 एमएल से ज्यादा इसका इस्तेमाल न करें।

क्या होता है एपल साइडर विनेगर?

सेब को जूस को फर्मेंट करके विनेगर तैयार किया जाता है।

इसमें एसिटिक एसिड और सिट्रिक एसिड के अलावा विटामिन-बी, सी पाया जाता है।

बालों का संक्रमण दूर करता है यह विनेगर

सिर में फंगल या बैक्टीरियल इंफेक्शन होने पर एक चौथाई कप पानी में दो छोटे चम्मच एपल विनेगर को मिलाएं।

शैंपू के बाद इसे स्कैल्प पर लगाएं। सिर को तौलिया से कवर करें और 20 मिनट बाद पानी से धो लें। बालों में चमक आने के साथ पीएच लेवल भी मेंटेन रहता है।


कील-मुंहासे की समस्या करता है दूर

चेहरे पर धब्बे, पिंपल्स की समस्या होने पर एक कप पानी में एक चम्मच एपल विनेगर मिलाएं। इसे रूई की मदद से लगाएं फिर 10 मिनट बाद धो लें। इससे यह समस्या खत्म हो जाएगी।

भूख कंट्रोल करने में मददगार

बढ़ते वजन को कंट्रोल करने के लिए इस सिरके को अपने डेली रूटीन में शामिल करें।

एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच एपल साइडर विनेगर को खाना खाने के 45 मिनट पहले पिएं।


इससे वजन कम होने के साथ ही मेटाबॉलिज्म तेज होता है। साथ ही यह ब्लड शुगर लेवल और भूख दोनों को कंट्रोल करता है।

कई रिसर्चेस में भी सामने आया है कि यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर कम करता है।

इन बातों का भी रखें ध्यान

कभी भी सेब के सिरके का इस्तेमाल ज्यादा मात्रा में न करें। ऐसा करने पर उल्टी हो सकती है।

शरीर में ब्लड शुगर का लेवल अधिक गिर सकता है।

वहीं, एसिडिक होने के कारण यह पेट, स्किन और दांतों की ऊपरी लेयर को नुकसान हो सकता है।


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर खास, उन पुरुषों को सलाम जिन्होंने महिलाओं को दिया मुकाम       भारत व इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले चौथे टेस्ट में जानिए कैसा रहेगा मौसम व पिच का हाल       कब और कहां देखें भारत-इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच       भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड के खेमे में खलबली       विराट कोहली और बेन स्टोक्स चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन मैदान पर भिड़े       दो दिन बाद ही रोकना पड़ा टूर्नामेंट का आयोजन, स्टेन ने पाकिस्तान लीग के बताया IPL से बेहतर       इन नेचुरल ऑयल्स से बहुत जल्द दूर कर सकते हैं ये...       दाढ़ी की रूसी दूर करने में बहुत ही असरदार है ये घरेलू उपाय       क्लीयर स्किन के लिए आज़माएं ये 5 घरेलू नुस्खे       बालों की हर समस्या का इलाज करता है गुड़हल का तेल       नैचुरली काली घनी पलकें चाहती हैं तो इस खास टिप्स को अजमाएं       झुमरी तिलैया की श्रुति ने बढ़ाया झारखंड का मान, ऑल इंडिया ब्यूटी कॉन्टेस्ट में जीता खिताब, श्रुति को मिला मिसेज इंटेलेक्चुअल का अवार्ड        लिवर को भी प्रभावित करता है Covid-19, इस तरह से करें बचाव       बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार       ज्यादा दिनों तक खांसी के साथ अगर हैं ये सारे लक्षण तो...       क्या आपको ऑफिस और स्कूल खुलने से डर लग रहा है? एक्सपर्ट्स से जानें       गैजेट्स के लगातार इस्तेमाल से बढ़ रही है डिजिटल आई स्ट्रेन की समस्या       यात्रियों के लिए चलाई जाए पैसेंजर-एक्सप्रेस ट्रेनें:शालिनी       पुलिस की घिनौनी करतूत, लड़कियों के उतरवाए कपड़े, फिर किया ये...       आखिर कौन-कौन से लोग नहीं लगवा सकते वैक्सीन, वैक्सीनेशन से पहले जान लें ये बात