स्वास्थ्य

अच्छा संगीत सुनने से व्यक्ति की सेहत को मिलते ये गजब के फायदे

World Music Day 2024: मन चाहे दुखी हो या फिर खुशी से झूम रहा हो, एक अच्छा संगीत दिल और मन को शाँति ही देता है. संगीत के इसी महत्व को बताने के लिए हर वर्ष 21 जून को विश्व संगीत दिवस 2024 मनाया जाता है. म्‍यूजिक एक बढ़िया थेरेपी है, जो मन को एकाग्र करके डिप्रेशन और तनाव जैसी समस्याओं को दूर करने के साथ मेंटल हेल्थ को भी दुरुस्त रखने का काम करती है. एक रिसर्च बताती है- यदि आप अपने पसंद का संगीत सुनते हैं तो आपका मूड खुश-मिजाज रहता है और सोचने-समझने की शक्ति भी बढ़ती है. इतना ही नहीं यदि आप किसी रोग से पीड़ित हैं तो वो परेशानी भी धीरे-धीरे सुधरने लगती है. आइए जानते हैं एक अच्छा संगीत सुनने से आदमी की स्वास्थ्य को मिलते हैं कौन से गजब के फायदे. साथ ही यह भी जानेंगे कि किस समय किस तरह का म्‍यूजिक सुनना चाहिए.

म्‍यूजिक सुनने के फायदे-

तनाव से राहत-

एक अच्छा संगीत तनाव और चिंता को कम करने का काफी असरदार तरीका है. यह मन को एकाग्र करके ध्‍यान लगाने मे सहायता कर सकता है. नियमित संगीत सुनने दिमागी शाँति तो मिलता ही है, साथ ही ब्रेन फंक्शन भी बेहतर होता है.

हीलिंग में करता है सहायता संगीत-

सॉफ्ट या हल्‍का म्‍यूजिक आपके शरीर को हील कर सकता है. इससे आपको दर्द और दुख का एहसास भी कम होता है. एक शोध में पाया गया है कि असहनीय दर्द में जब शख्स को संगीत सुनाया जाता है तो वह अपने दर्द की प्रतिक्रिया देना भूल जाता है.

भावनात्मक संतुलन बनाए रखता है संगीत-

संगीत सुनने से आपको भावनात्मक संतुलन बनाए रखने में सहायता मिलती है. जिससे आपको अपनी समस्‍याओं से बाहर निकलने में सहायता मिल सकती है.

हाई ब्लड-प्रेशर और स्ट्रोक में मददगार-

रोजाना सुबह-शाम कुछ देर तक संगीत सुनने से उच्च-रक्तचाप का स्तर सुधरता है तो वहीं धीमी गति का संगीत सुनने से स्ट्रोक की परेशानी भी दूर होती है. एक शोध के मुताबिक, संगीत में तीन तंत्रिका तंत्र होते हैं, जिससे दिमागी शाँति मिलता है.

बेहतर नींद –

अगर आप अनिद्रा की परेशानी से जूझ रहे हैं तो सोने से पहले 30-45 मिनट का संगीत सुनना प्रारम्भ कर दीजिए. रॉक या रेट्रो म्यूज़िक से रात को दूर रहे, नहीं तो रिज़ल्ट उल्टा भी आ सकते हैं. सोने से पहले एक अच्छा संगीत मांसपेशियों को आराम देता है और उन विचारों की व्याकुलता को दूर करता है जो आपके सोने में बाधक है.

किस समय सुनना चाहिए कैसा संगीत-

-सोने से पहले लाइट म्यूजिक या फॉक म्यूजिक (Folk Music) सुनने से ना सिर्फ़ अनिद्रा की परेशानी को दूर किया जा सकता है बल्कि स्ट्रेस से भी राहत मिल सकती है.

-कुकिंग के समय क्लासिकल म्यूजिक सुनने से तनाव के साथ डिप्रेशन की परेशानी को भी दूर किया जा सकता है.

-मेडिटेशन या योगा के दौरान भारतीय क्लासिक म्यूजिक,  साउंड्स ऑफ़ नेचर, इंस्ट्रुमेंटल म्यूजिक को सुना जा सकता है. मेडिटेशन के दौरान म्यूजिक नींद की परेशानी को दूर करके फोकस बढ़ाने में भी मददगार साबित हो सकता है.

Related Articles

Back to top button