बिहारमनोरंजन

नरेन्द्र मोदी ने 24,470 करोड़ रुपये लागत से देश के 508 स्टेशनों के पुनर्विकास का किया शिलान्यास

हाजीपुर पीएम नरेन्द्र मोदी ने रविवार को अमृत हिंदुस्तान स्टेशन योजना के भीतर वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से 24,470 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्र भर के 508 स्टेशनों के पुनर्विकास का शिलान्यास किया मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी वीरेन्द्र कुमार ने कहा कि इनमें बिहार के 49 स्टेशन शामिल हैं, जिनके पुनर्विकास पर कुल 2584 करोड़ रुपए की लागत आएगी इस अवसर पर रेलवे बोर्ड, नई दिल्ली से वीडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से रेल, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव, रेल, कोयला एवं खान राज्यमंत्री मंत्री रावसाहेब पाटिल दानवे एवं रेल एवं वस्त्र राज्य मंत्री दर्शना जरदोश एवं रेलवे बोर्ड के उच्चाधिकारीगण जुड़े हुए थे

देशभर के 1309 रेलवे स्टेशनों का होगा कायाकल्प

भारत गवर्नमेंट द्वारा प्रारम्भ की गयी अमृत हिंदुस्तान स्टेशन योजना के भीतर देशभर के 1309 रेलवे स्टेशनों का अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ पुनर्विकास करने किया जा रहा है इस योजना के अनुसार आज पूर्व मध्य रेल के कुल 57 स्टेशनों विश्वस्तरीय स्टेशन के रूप में पुनर्विकास का शिलान्यास किया गया इनमें सोनपुर मंडल के 10, समस्तीपुर मंडल के 12, दानापुर मंडल के 13, धनबाद के मंडल के 15 एवं पं दीन दयाल उपाध्याय मंडल के 07 स्टेशन शामिल हैं इन 57 स्टेशनों के पुनर्विकास पर लगभग 2819 करोड़ की लागत आएगी भारतीय विविधता की भव्यता को प्रदर्शित करते हुए इन पुनर्विकसित स्टेशनों पर नयी अत्याधुनिक यात्री सुविधाएं मौजूद कराने के साथ-साथ मौजूदा सुविधाओं का उन्नयन किया जाएगा

508 स्टेशनों का राज्यवार ब्योरा

उत्तर प्रदेश में 55, राजस्थान में 55, बिहार में 49, महाराष्ट्र में 44, पश्चिम बंगाल में 37, मध्य प्रदेश में 34, असम में 32, ओडिशा में 25, पंजाब में 22, गुजरात में 21, तेलंगाना में 21, झारखंड में 20, आंध्र प्रदेश में 18, तमिलनाडु में 18, हरियाणा में 15, कर्नाटक में 13 स्टेशन शामिल हैं

किस स्टेशन पर कौन थे मौजूद

इस अवसर पर मुजफ्फरपुर स्टेशन आयोजित भव्य कार्यक्रम में बिहार के महामहिम गवर्नर राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर, मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद, पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक अनुपम शर्मा एवं सोनपुर के मंडल रेल प्रबंधक सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे इसके साथ ही पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों पर आयोजित कार्यक्रम में लखमिनिया एवं सलौना स्टेशन पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से माननीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह, आरा स्टेशन पर बिजली, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री राजकुमार सिंह, हाजीपुर स्टेशन पर माननीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री पशुपति कुमार पारस, चंदौली मझवार स्टेशन पर भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उद्यम मंत्री डा महेंद्र नाथ पांडेय, चोपन स्टेशन पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेट्रोलियम एवं प्रकृति गैस तथा आवास एवं शहरी कार्य श्री हरदीप सिंह पुरी, डुमरांव स्टेशन पर उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण तथा पर्यावरण, वन एवं जलवायु बदलाव राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, दलसिंहसराय स्टेशन पर गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय, सीतामढ़ी स्टे‍शन पर बिहार विधान परिषद के सभापति देवेश चंद्र ठाकुर सहित क्षेत्रीय सांसद एवं विधायक मौजूद थे

कैसा होगा स्टेशन का नया स्वरूप

भारतीय रेल आधुनिकीकरण की दिशा में और हिंदुस्तान गवर्नमेंट के न्यू इण्डिया के सपने को साकार करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है देशभर में रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय प्रतिष्ठानों के रूप में विकसित करने का काम तेजी से किया जा रहा है अमृत हिंदुस्तान स्टेशन योजना के अनुसार मौजूद करायी जाने वाली सुविधाओं में अनावश्यक संरचनाओं को हटाकर रेलवे स्टेशनों तक सुगम पहुंच, बेहतर प्रकाश व्यवस्था, बेहतर कॉनकोर्स एरिया, उन्नत पार्किंग, दिव्यांगजन अनुकूल बुनियादी ढांचा एवं हरित ऊर्जा के इस्तेमाल से पर्यावरण अनुकूल भवन आदि शामिल हैं

स्टेशन डिज़ाइन में निम्न बिंदुओं का रखा गया है विशेष ध्यान

  • • स्टेशनों का ‘सिटी सेंटर’ के रूप में विकास
  • • शहर के दोनों तरफ प्रवेश/निकास द्वार
  • • स्टेशन भवनों का सुधार/पुनर्विकास
  • • अत्यानधुनिक यात्री सुविधाओं का प्रावधान
  • • यात्री आवागमन हेतु सुगम प्रबंध
  • • यात्रियों की सुविधा के लिए बेहतर ढंग से डिज़ाइन किए गए साइनेज बोर्ड
  • • रेलवे भूमि एवं परिसंपत्तियों का पूरा सदुपयोग का प्रावधान
  • क्षेत्रीय कला और संस्कृति को प्राथमिकता

अमृत हिंदुस्तान स्टेशन योजना के अनुसार इन स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधा, सुगमता और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आवश्यकतानुसार स्टेशन भवन, प्रवेश एवं निकास द्वार, फुटओवर ब्रिज, कॉनकोर्स, प्लेटफॉर्म, सर्कुलेटिंग एरिया, पार्किंग, दिव्यांग सुविधाओं, प्रकाश व्यवस्था, बैठने की व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था, स्वच्छता व्यवस्था, पहुंच पथ, संकेत एवं निर्देश बोर्ड, ट्रेन डिस्प्ले और उद्घोषणा प्रणाली, सौंदर्यीकरण आदि से जुड़े जरूरी विकास कार्य किए जाएंगे

पुनर्विकास का मंडलवार विवरण

1. दानापुर मंडल

दानापुर मंडल के आरा स्टेशन का 27.89 करोड़ रुपए, बिहिया स्टेशन का 23.13 करोड़ रुपए, रघुनाथपुर स्टेशन का 20.50 करोड़ रुपए, डुमराव स्टेशन का 17.13 करोड़ रुपए, दिलदारनगर स्टेशन का 21.16 करोड़ रुपए, जमुई स्टेशन का 23.36 करोड़ रुपए, जहानाबाद स्टेशन का 22.93 करोड़ रुपए, राजगीर स्टेशन का 21.20 करोड़ रुपए, बिहार शरीफ स्टेशन का 18.84 करोड़ रुपए, फतुहा स्टेशन का 32.73 करोड़ रुपए, बाढ़ स्टेशन का 23.38 करोड़ रुपए, बख्तियारपुर स्टेशन का 23.20 करोड़ रुपए तथा तरेगना स्टेशन का 19.23 करोड़ रुपए की लागत से पुनिर्विकास कार्य किया जाना है

2. धनबाद मंडल

धनबाद मंडल के चन्द्रपुरा स्टेशन का 26.50 करोड़ रुपए, नेसु गोमो स्टेशन का 32.40 करोड़ रुपए, कतरास स्टेशन का 26.90 करोड़ रुपए, नगर उंटारी स्टेशन का 26.30 करोड़ रुपए, गढ़वा टाउन स्टे‍शन का 25.50 करोड़, गढ़वा रोड स्टेशन को 24.50 करोड़ रुपए, पहाड़पुर स्टेशन का 28.10 करोड़ रुपए, पारसनाथ स्टेशन का 30.40 करोड़ रुपए, हजारीबाग रोड स्टेशन का 28.10 करोड़ रुपए, कोडरमा स्टेशन का 30.30 करोड़ रुपए, लातेहार स्टेशन का 24.50 करोड़ रुपए, डालटनगंज स्टेशन का 29.20 करोड़ रुपए, बरकाकाना स्टेशन का 32.60 करोड़ रुपए, रेनुकूट स्टेशन का 28.50 करोड़ रुपए, चोपन स्टेाशन का 30.90 करोड़ रुपए की लागत से पुनर्विकास कार्य किया जाना है

3. पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल

पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल के गया जंक्शन का 296 करोड़ रुपए, अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन का 13 करोड़ रुपए, सासाराम स्टेशन का 21.3 करोड़ रुपए, भभुआ रोड स्टेशन का 24.3 करोड़ रुपए, कुदरा स्टेशन का 18.8 करोड़ रुपए, दुर्गावती स्टेशन का 18 करोड़ रुपए तथा चंदौली मझवार स्टेशन का 21.7 करोड़ रुपए की लागत से पुनर्विकास कार्य किया जाना है

4. समस्तीपुर मंडल

समस्तीपुर मंडल के दरभंगा स्टेेशन का 340 करोड़ रुपए, सीतामढ़ी स्टेशन का 242 करोड़ रुपए, बापूधाम मोतिहारी स्टेशन का 205 करोड़ रुपए, सगौली स्टेशन का 23.3 करोड़ रुपए, नरकटियागंज स्टेशन का 29.3 करोड़ रुपए, सहरसा स्टेशन का 41 करोड़ रुपए, समस्तीपुर स्टेशन का 24.1 करोड़ रुपए, सलौना स्टेशन का 22.3 करोड़ रूपए, बनमनखी स्टेशन का 21.5 करोड़ रूपए, मधुबनी स्टेशन का 20 करोड़ रुपए, सकरी स्टेशन का 18.9 करोड़ रुपए तथा जयनगर स्टेशन का 17.5 करोड़ रुपए की लागत से पुनर्विकास कार्य किया जाना है

5. सोनपुर मंडल

सोनपुर मंडल के मुजफ्फरपुर स्टे शन का 442 करोड़ रुपए, ढोली स्टेशन का 39 करोड़ रुपए, रामदयालू नगर स्टेशन का 31 करोड़ रुपए, लखमिनिया स्टेशन का 27 करोड़ रुपए, खगडिया स्टेशन का 34 करोड़ रुपए, मानसी स्टेशन का 20.8 करोड़ रुपए, सोनपुर स्टेशन का 23.7 करोड़ रुपए, नौगछिया स्टेाशन का 22.7 करोड़ रूपए, हाजीपुर स्टेशन का 21 करोड़ रूपए तथा दलसिंह सराय स्टेशन का 19.6 करोड़ रुपए की लागत से पुनर्विकास कार्य किया जाना है

Related Articles

Back to top button