सिनेमाघरों में रिलीज हुई आशुतोष गोवारिकर की फिल्म पानीपत

सिनेमाघरों में रिलीज हुई आशुतोष गोवारिकर की फिल्म पानीपत

आशुतोष गोवारिकर की फिल्म पानीपत सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. फिल्म को क्रिटिक्स से बढ़िया रिव्यू मिल रहे हैं. लेकिन इस सब के बावजूद पानीपत बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास करती नजर नहीं आ रही. सिर्फ यही नहीं देश के कुछ राज्यों में तो पानीपत को बैन करने की मांग तेज हो चली है. इस समय # boycottpanipat ट्रेंड में चल रहा है. दरअसल ऐसा आरोप लगाया गया है कि फिल्म में महाराजा सूरजमल की छवि को धूमिल करने की कोशिश की गई है. इसके चलते फिल्म को राजस्थान में काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

फिल्म के समर्थन में उतरे रणदीप हुड्डा

लेकिन लगता है ये विरोध एक्टर रणदीप हुड्डा को ज्यादा पसंद नहीं आया है. वो खुलकर फिल्म के समर्थन में आ गए हैं. रणदीप की माने तो फिल्म के खिलाफ इस तरीके का विरोध ठीक नहीं है. रणदीप ट्वीट करते हैं एक कौम को ऊंचा दिखाने के लिए दूसरी कौम को नीचा दिखाने की कोई जरूरत नहीं है. इसके विपरीत परिणाम भी हो सकते हैं. उम्मीद करता हूं भविष्य में थोड़ी ज्यादा समझदारी देखने को मिलेगी. वैसे भी ये सिर्फ एक फिल्म है, अपने पुरखो की इज्जत को मनोरंजन से जोड़कर ना देखें.

अब रणदीप हुड्डा तो जरूर फिल्म के समर्थन में आ खड़े हुए हैं, लेकिन लोगों का गुस्सा कम होने का नाम नहीं ले रहा है. अपने आप को महाराजा सूरजमल का वंशज बताते हुए विश्वेंद्र सिंह ने भी कड़ी आपत्ति दर्ज करवाई है. वो ट्वीट करते हैं ' ये दुखद है कि इतने बड़े जाट राजा महाराजा सूरजमल की छवि को धूमिल करने की कोशिश की गई है. फिल्म में इतिहास के साथ भी छेड़कानी की गई है. अब क्योंकि फिल्म को लेकर हरियाणा और राजस्थान में अच्छा खासा गुस्सा है, उसे देखते हुए फिल्म को बैन कर देना चाहिए. ऐसा नहीं करने पर कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है.'

बताते चले इससे पहले भी कई पीरियड फिल्मों को लेकर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुआ है. संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का करणी सेना ने जमकर विरोध किया था.