मनोरंजन

Chandu Champion Review: कार्तिक की शानदार परफॉरमेंस खुश कर देगी दिल

कार्तिक आर्यन की एक वर्ष की मेहनत आज उनकी फिल्म चंदू चैंपियन में नज़र आ रही है. फिल्म सिनेमाघर में दस्तक दे चुकी है. एक ऐसे एथलीट की कहानी जिसने साथियों के लिए गोलियां खाई, दो वर्ष कोमा में बिताए और फिर जब वापसी की तो कमाल कर दिया. कबीर खान के डायरेक्शन में बनी फिल्म चंदू चैंपियन मुरलीकांत पेटकर की जीवन पर बेस्ड है. भूमिका निभाया है कार्तिक आर्यन ने जिनकी बहुत बढ़िया परफॉरमेंस खुश कर देती है. इसके साथ ही सपोर्टिग एक्टर्स, सिनेमाटोग्राफी, बैकग्राउंड म्यूजिक सब कमाल है.

चंदू चैंपियन

कहानी है मुरलीकांत की जिसे चंदू कह कर चिढ़ाया जाता है. लेकिन लाइफ का एक डायलॉग सच में उन्हें चैंपियन बना देता है. डायलॉग है ‘मैं चंदू नहीं, चैंपियन है.‘ शुरुआती कहानी में मस्ती है, मेहनत है और चंदू का खूब सारा स्ट्रगल है. ये एक ऐसी कहानी है जो आम लोगों को इंस्पायर करेगी. कैसे एक चंदू चैंपियन बन जाता है. ये कहानी बूढ़े मुरलीकांत से प्रारम्भ हो कर फ्लैशबैक में जाती है. चंदू के जवानी के दिनों को दिखाया जाता है जब वो ओलंपिक्स गोल्ड मैडल अपने नाम करते हैं. आर्मी में भर्ती होती है, पहली बार फ्लाइट में चढ़ने से डर लगता है और 1965 की कश्मीर के साथ जंग में साथियों को बचाने के लिए सीने पर 9 गोलियां लगती हैं. ये घटना मुरली के जीवन को बदल देती है. दो वर्ष कोमा में रहने के बाद जब मुरली का भाई उन्हें वास्तविक दुनिया का सामना करवाता है वो सीन दिल को छू जाता है. मुरली चल नहीं पाते लेकिन स्विमिंग सीखते हैं और फिर चैंपियन बन उठते हैं.

कमियां और अच्छे डायलॉग

फिल्म की कमियों की बात करें तो मुरलीकांत के परिवार को थोड़ा और दिखाया जाना था. म्यूजिक शायद बहोत बहुत बढ़िया नहीं लगेगा. सत्यानास और सिरफिरा जैसे गाने पसंद आएंगे. कुछ डायलॉग हैं ‘ये खोटा सिक्का, हुकुम का इक्का कैसे बन गया.’ , ‘मैं चंदू नहीं चैंपियन हैयदि आप स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म पसंद करते हैं तो चंदू चैंपियन कमाल है.

सपोर्टिंग एक्टर्स

चंदू चैंपियन में भुवन अरोड़ा ने कर्नेल सिंह का मजबूत भूमिका निभा कर खुश कर दिया है. इसके अतिरिक्त भाई के भूमिका में अनिरुद्ध दवे, कोच बने विजय राज जिनकी बहुत बढ़िया परफॉरमेंस दिल खुश कर देती है. श्रेयस तलपडे एक मज़ेदार पुलिस ऑफिस के भूमिका में नज़र आते हैं. ये ऐसे भूमिका हैं जो कहानी को दिलचस्प और आगे बढ़ाने में सहायता करते हैं.

कबीर खान ने चंदू चैंपियन का डायरेक्शन करने के अतिरिक्त सुमित अरोड़ा और सुदीप्तो गवर्नमेंट के साथ कहानी लिखी है. फिल्म सिनेमाघर में धूम मचा रही है.

Related Articles

Back to top button