सिनेमाघरों में 50 दिन चलने के बाद अब ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आयी 'सूरज पे मंगल भारी', जानें

सिनेमाघरों में 50 दिन चलने के बाद अब ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आयी 'सूरज पे मंगल भारी', जानें

मनोज बाजपेयी, दिलजीत दोसांझ और फ़ातिमा सना शेख़ की फ़िल्म सूरज पे मंगल भारी 15 अक्टूबर से सिनेमाघर खुलने के बाद रिलीज़ होने वाली पहली बॉलीवुड फ़िल्म थी, जो दिवाली के बाद 15 नवम्बर को आयी थी। तमाम चुनौतियों के बीच फ़िल्म ने लगभग 50 दिन थिएटर्स में बिताये। अब फ़िल्म 13 जनवरी से ओटीटी प्लेटफॉर्म Zee5 पर स्ट्रीम कर दी गयी है। 

अभिषेक शर्मा के निर्देशन में बनी इस फिल्म कहानी 90 के दौर में दिखायी गयी है, जिसमें मनोज एक जासूस के किरदार में हैं, जो शादी से पहले दूल्हे के बैकग्राउंड की जांच करता है। फ़िल्म में मनोज पाहवा, सीमा पाहवा, विजय राज, अन्नू कपूर और सुप्रिया पिलगांवकर भी सहयोगी भूमिकाओं में हैं।

फिल्म के डिजिटल प्रीमियर के बारे में बात करते हुए मनोज बाजपेयी ने कहा- "मैं वास्तव में फिल्म के डिजिटल प्रीमियर के लिए उत्सुक हूं। महामारी के बीच सिनेमाघरों में 50 दिनों तक चलने के बाद फ़िल्म को अच्छी प्रतिक्रिया मिली थी और जो लोग फिल्म को देखने से चूक गए, वे ज़ी5 पर फ़िल्म देख सकते है।'' बता दें, इससे पहले फ़िल्म का प्रीमियर ज़ी प्लेक्स पर Pay Per View के आधार पर हुआ था, लेकिन ज़ी5 पर वे सब लोग फ़िल्म देख सकते हैं, जिनके पास इस ऐप का सब्सक्रिप्शन है। 

ज़ी5 पर इससे पहले 7 जनवरी को पंकज त्रिपाठी की कागज़ रिलीज़ हुई थी, जिसे सतीश कौशिक ने निर्देशित किया था। इस फ़िल्म का निर्माण सलमान ख़ान ने किया था। फ़िल्म का काफ़ी सराहा गया। 

2020 में कोरोना वायरस पैनडेमिक की वजह से लगभग सात महीने सिनेमाघर बंद रहे थे। कई ऐसी फ़िल्में जो थिएटर्स के लिए बनायी गयी थीं, उन्हें ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर रिलीज़ किया गया। 15 अक्टूबर से केंद्र सरकार ने सिनेमाघरों को 50 फीसदी क्षमता के साथ सशर्त खोलने की अनुमति दे दी थी। इसके बाद सूरज पे मंगल भारी, इंदू की जवानी, शकीला और रामप्रसाद की तेरहवीं थिएटर्स में प्रदर्शित की जा चुकी हैं, जिनमें सबसे सफल सूरज पे मंगर भारी ही रही।


फिल्मों में हीरो बनने आए थे जाकिर हुसैन, विलेन बनकर बनाई अपनी खास पहचान

फिल्मों में हीरो बनने आए थे जाकिर हुसैन, विलेन बनकर बनाई अपनी खास पहचान

स्क्रीन पर अक्सर खलनायक या कॉमेडी किरदारों में नजर आने वाले जाकिर हुसैन अब अपनी इस स्थापित छवि से अलग कुछ नए किरदारों के साथ प्रयोग करना चाहते हैं। करीब ढाई दशक से हिंदी सिनेमा में सक्रिय जाकिर को लगातार नकारात्मक किरदार निभाने से कोई ऐतराज नहीं है। जाकिर आगामी दिनों में जॉन अब्राहम अभिनीत सत्यमेव जयते 2 और कमल हासन अभिनीत इंडियन 2 जैसी फिल्मों में नजर आएंगे।

सत्यमेव जयते 2 में भी आपका चिर-परिचित अंदाज है या कुछ नया प्रयोग कर रहे हैं?

इस फिल्म में भी मैं अपने चिर-परिचित अंदाज में खलनायक की भूमिका निभा रहा हूं। लोग मुझसे यही चीजें कराना चाहते हैं। इस फिल्म की ज्यादातर हिस्सों की शूटिंग लखनऊ में हो चुकी है। अब मुंबई में सिर्फ कुछ दिनों की इनडोर शूटिंग बची है। इसके अलावा हाल ही में वेब सीरीज ठुल्ले की मनाली में शूटिंग करके आया हूं।

प्रोजेक्ट के चुनाव में किस चीज को प्राथमिकता देते हैं?

मैं देखता हूं कि अभी तक किस निर्देशक या निर्माता के साथ काम नहीं किया है, उनके साथ करता हूं। मुझे मिलने वाले प्रस्तावों में नब्बे फीसदी प्रस्ताव निगेटिव किरदारों के होते हैं। अब पहले की तरह खलनायक तो रहे नहीं। मुझे एक खास वर्ग में रख दिया गया है, इसे बदलने में वक्त तो लगेगा ही। हालांकि, ऐसे किरदार भी किसी न किसी को तो करना ही पड़ेगा, इसलिए मुझे नकारात्मक किरदार निभाने से कोई ऐतराज नहीं है। कोशिश तो हमेशा और अच्छा किरदार पाने की होती है।


और अच्छा किरदार किसे मानते हैं?

(सोचकर) और अच्छा का मतलब कोई ऐसा किरदार जो खलनायक या कॉमेडी से हटकर हो। एक सोच विकसित हो गई है कि मैं सिर्फ खलनायक या कॉमेडी किरदार निभा सकता हूं। अब केंद्रीय किरदारों के लिए कोशिश जारी है। हर कलाकार केंद्रीय किरदार निभाना चाहता है। एक ही बार मौका मिले, लेकिन केंद्रीय किरदार निभाने का मौका मिले तो सही। उसी की कोशिश है।


इंडस्ट्री में किन ख्वाहिशों के साथ आए थे?

हमेशा अभिनेता बनने की ही ख्वाहिश रही है। फिल्मों से मेरा परिचय टीवी के जरिए उस दौर में हुआ था, जब टीवी पर सप्ताह में इक्का-दुक्का फिल्में आया करती थी। उस वक्त मुझे लगता था कि फिल्में तो बाम्बे में बनती हैं और मैं दिल्ली में रहता हूं कैसे जाउंगा। फिर थिएटर की तरफ रुख किया और नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) से जुड़ा। एनएसडी में नसीरुद्दीन शाह मेरे सीनियर ही मेरे आदर्श बने। उन्हीं के विचारों पर चलते हुए मुंबई आने के बाद भी हमेशा बेहतर अभिनेता ही बनने की कोशिश की, कभी हीरो बनने का ख्याल नहीं आया।

अपनी किन फिल्मों को बार-बार देख सकते हैं?

सरकार, जॉनी गद्दार, शागिर्द और अंधाधुन मेरी कुछ ऐसी फिल्में हैं, जिन्हें मैं बिना किसी परेशानी के बार-बार देख सकता हूं। सरकार मेरे दिल के काफी करीब है, क्योंकि इस फिल्म से लोगों ने जाना था कि जाकिर नाम का भी एक अभिनेता आया है। इसी से मुझे पहचान मिली और जो आपकी पहचान बना दे, वही तो दिल के सबसे करीब होती है।

आपकी कुछ ऐसी भी फिल्में रही जो दर्शकों तक नहीं पहुंच पाई, क्या उन फिल्मों को लेकर कोई मलाल है?

ऐसी फिल्मों में वक्त और पैसा दोनों खराब करने का अफसोस तो होता ही है। दर्शकों तक फिल्म न पहुंच पाने की कई वजहें होती हैं। फिल्म रिलीज करना कलाकारों के हाथ में नहीं होता वह तो निर्माता और निर्देशक का फैसला होता है। अगर मैं उनसे रिलीज करने के लिए कहूं और वह जवाब दें कि आप ही कर के दिखाइए, फिर मैं कैसे करूंगा। मेरे वश में डबिंग से लेकर प्रमोशन तक जितनी भी चीजें होती हैं वह सब करता हूं।

स्क्रिप्ट की जरूरत के अनुसार शैली में थोड़ा-बहुत बदलाव कर लेता हूं। बाकी जीवन की भावनाएं तो हमेशा वही रहती हैं। इंसान दुखी होता है तो आंसू आते हैं, खुश होने पर हंसी आती है। यह कुछ आधारभूत चीजें हैं, इनमें क्या बदलाव करना। 


Bigg Boss 14: शो से निकलते ही दुखी हुए एजाज खान के फैंस       फिल्मों में हीरो बनने आए थे जाकिर हुसैन, विलेन बनकर बनाई अपनी खास पहचान       The Family Man 2, आर्या 2 और दिल्ली क्राइम 2 समेत ओटीटी पर रिलीज़ होंगे इन सीरीज़ के सीक्वल       Aamir Ali ने ‘मिस्ट्री गर्ल’ पर तोड़ी चुप्पी, बोले...       Kapil Sharma ने जया प्रदा से जाहिर की दिल की बात, कहा...       Bigg Boss 14: घरवालों की नज़रों के सामने से ‘बिग बॉस’ ने छीन लिया उनका राशन       Bigg Boss 14 : SHOCKING! विकास गुप्ता के बाद अब एजाज़ ख़ान घर से बाहर       Bigg Boss 14: देवोलीना भट्टाचार्य सलमान खान से सहमत नहीं       सियासत की गहराई छूने से चूकी सितारों की भव्यता में डूबी प्राइम की वेब सीरीज़ 'तांडव', पढ़ें पूरा रिव्यू       Tandav Web Series से सियासत में उबाल, एमपी सरकार के मंत्री ने अमेज़न CEO को ख़त लिखकर दी यह चेतावनी       इस एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया पर शेयर कीं तस्वीरें, पति अनस को लेकर कही ये बात       'धाकड़' बनकर कंगना रनोट मचा रहीं क़त्ले-आम, इस तारीख़ को सिनेमाघरों में होगी रिलीज़       लाइगर बन दहाड़े 'अर्जुन रेड्डी' विजय देवरकोंडा, करण जौहर ने जारी किया फ़र्स्ट लुक       Tandav Web Series से जुड़े 96 लोगों के ख़िलाफ़ बिहार की अदालत में शिकायत       सूचना प्रसारण मंत्रालय से विमर्श के बाद निर्देशक अली अब्बास ज़फ़र ने बिना शर्त मांगी माफ़ी       तीसरे दिन का खेल समाप्त, ऑस्ट्रेलिया के मिली 54 रन की बढ़त       पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने श्रीलंका को रौंदा, जो रूट ने ठोका दोहरा शतक       जानिए किस टूर्नामेंट का आयोजन पहले कराना चाहते हैं BCCI बॉस सौरव गांगुली       सातवें विकेट के लिए सुंदर और शार्दुल ने की दमदार साझेदारी, सातवें आसमान पर टीम के हौसले       सुरेश रैना को IPL 2021 के लिए CSK रीटेन करेगी या नहीं इस पर बना सस्पेंस