मनोरंजन

आवारा फिल्म के इस गाने को शूट करने लग गए थे 72 घंटे

राज कपूर और नरगिस ने अपने लंबे करियर में कई फिल्मों में साथ काम किया साथ ही उनकी जोड़ी को उस दौर में बहुत पसंद किया जाता था उन्हीं फिल्मों में से उनकी एक फिल्म थी वर्ष 1956 में रिलीज हुई ‘आवारा’, जिसमे सिनेमा प्रेमियों का दिल जीत लिया था इस फिल्म के गाने खूब पसंद किए गए थे, जिनको आज भी सुनना अच्छा लगता है

हालांकि, इस फिल्म से जुड़े ऐसे कई अनकहे किस्से हैं, जिनके बारे में सिनेमा प्रेमी नहीं जानते होंगे, जिनके बारे में आज हम आपको रूबरू करवाएंगे दरअसल, इस फिल्म का एक गाना ऐसा है, जिसको बनाने में 72 घंटों का समय लग गया था इतना ही नहीं, इस गाने ने फिल्म के सबसे फेमस और टाइटल ‘आवारा हूं’ को भी पीछे छोड़ दिया था इस गाने को नरगिस पर फिल्माया गया था, जिसने दर्शकों का खूब दिल जीता था

72 घंटों में शूट हुआ था नरगिस का गाना 

आज हम आपको इससे जुड़ा दिलचस्प किस्सा बताने जा रहे हैं, जो आपको दंग कर देगा उस दौर में ये मुम्बई फिल्म इंडस्ट्री का दूसरा ऐसा गाना था जो किसी सपने पर फिल्माया गया था इतना ही नहीं, ऐसा भी पहली बार हुआ था कि किसी गाने के लिए पहली बार किसी फिल्म में इतना बड़ा और भव्य सेट तैयार किया गया हो, लेकिन नरगिस के इस गाने के लिए ऐसा ही हुआ था, जिसके परिणाम में इस गाने ने देशभर में फैंस के बीच धूम मचा दी थी इस गाने के नाम था ‘तेरे बिना आग ये चांदनी’

बड़े पर्दे पर दे रहा था थ्री डी की फीलिंग 

इसको आर के स्टूडियोज में फिल्माया गया था और इसकी शूट में करीबन 72 घंटों का समय लगा था इस अकेले गाने को फिल्माने के लिए स्टूडियोज में बने इतने बड़े और भव्य सेट को बनाया गया था, जिसको बनाने में लगभग तीन महीनों का समय लगा था इतना ही नहीं, जब फिल्म रिलीज हुई थी तब ये गाना बड़े पर्दे पर ये किसी थ्री डी फिल्म सा फील दे रहा था 9 मिनट के इस गाने को लता मंगेशकर और मन्ना डे ने अपनी आवाज दी थी, जिसको शैलेंद्र ने लिखा था, जबकि गाने को म्यूजिक शंकर/जयकिशन ने दिया था

Related Articles

Back to top button