बिज़नस

विप्रो के कर्मचारियों को अब सप्ताह में 3 दिन आना ही पड़ेगा दफ्तर

राष्ट्र की चौथी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो के कर्मचारियों को अब हफ्ते में 3 दिन कार्यालय आना ही पड़ेगा विप्रो के एचआर हेड सौरभ गोविल ने वर्क फ्रॉम होम पर काम करने वाले कर्मचारियों को मेल भेजकर 15 नवंबर से कार्यालय बुलाया है कर्मचारियों के लिए हफ्ते में कम से कम तीन दिन ऑफिस से काम करना जरूरी बनाने में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) और इंफोसिस के साथ अब विप्रो भी शामिल हो गया है

15 नवंबर से हाइब्रिड वर्क पॉलिसी लागू

विप्रो ने इस कदम को हाइब्रिड वर्क पॉलिसी का नाम दिया है एचआर की ओर से भेजे गए ईमेल में बोला गया है, “15 नवंबर से सभी कर्मचारियों को प्रत्येक हफ्ते कम से कम तीन दिन अपने निर्धारित वर्क प्लेस पर मौजूद रहना होगा इस परिवर्तन का उद्देश्य टीम वर्क को बढ़ाना, आमने-सामने वार्ता की सुविधा प्रदान करना और विप्रो की संस्कृति को मजबूत करना है

कार्यालय नहीं लौटने वालों पर होगी कार्रवाई

कंपनी के इस कदम का उद्देश्य टीम वर्क, आमने-सामने वार्ता को बढ़ाना और कंपनी की संस्कृति मजबूत करना है | विप्रो ने कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि इस आदेश को नहीं मानने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई हो सकती है विप्रो ने कथित तौर पर कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि यदि वे कार्यालय नहीं लौटते हैं, तो उन्हें 7 जनवरी, 2024 से कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है

पिछले महीने ही टीसीएस ने कर्मचारियों को एक ईमेल भेजकर हफ्ते में 5 दिन ऑफिस से काम प्रारम्भ करने को बोला था कथित तौर पर इंफोसिस ने भी कर्मचारियों को इसी तरह का एक ईमेल भेजा है और उन्हें महीने में कम से कम 10 दिन कार्यालय से काम करने के लिए बोला है कुछ इसी तरह की खबरें कैपजेमिनी और एलटीआईमाइंडट्री को लेकर भी हैं, जिनमें कर्मचारियों को हफ्ते में सभी या कम से कम 50% कार्य दिवसों पर कार्यालय से काम करने के लिए बोलना प्रारम्भ कर दिया है

Related Articles

Back to top button