बिज़नस

ग्रे मार्केट में इस IPO को मिले निगेटिव संकेत

हयात ब्रांड के अनुसार होटल चलाने वाली कंपनी जुनिपर होटल्स के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) को पेशकश के आखिरी दिन शुक्रवार को 2.08 गुना सब्सक्रिप्शन मिला एनएसई के आंकड़ों के अनुसार IPO के अनुसार की गई 2,89,47,367 शेयरों की पेशकश के मुकाबले 6,01,14,160 शेयरों के लिए बोलियां लगाई गईं खुदरा पर्सनल निवेशकों (आरआईआई) के कैटेगरी में 1.28 गुना, गैर-संस्थागत निवेशकों की श्रेणी में 85 फीसदी सब्सक्रिप्शन मिला वहीं पात्र संस्थागत खरीदारों के कैटेगरी को 2.96 गुना अधिक सब्सक्रिप्शन मिला है

ग्रे बाजार प्रीमियम से बुरे संकेत
जुनिपर होटल्स के आईपीओ को ग्रे बाजार में निगेटिव संकेत मिल रहे हैं ग्रे बाजार में 23 फरवरी को यह आईपीओ 2 रुपये के प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा था इसका उच्चतम प्रीमियम 10 रुपये गया है कहने का मतलब है कि आईपीओ की लिस्टिंग या तो निगेटिव में हो सकती है या फिर हल्की प्रीमियम पर लिस्टिंग की आसार है

क्या था इश्यू प्राइस
जुनिपर होटल्स के आईपीओ में 1,800 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए गए हैं इसके लिए इश्यू प्राइस 342-360 रुपये प्रति शेयर तय किया गया था ग्रे बाजार प्रीमियम के हिसाब से शेयर की लिस्टिंग 362 रुपये पर हो सकती है जुनिपर होटल्स ने आईपीओ खुलने के पहले बड़े निवेशकों से 810 करोड़ रुपये जुटाए थे आईपीओ की लिस्टिंग 28 फरवरी 2024 को होगी

क्या होगा पैसे का
कंपनी ऋण चुकाने के लिए इश्यू से प्राप्त राशि के 1,500 करोड़ रुपये खर्च करेगी शेष राशि का इस्तेमाल सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों और निर्गम व्यय के लिए किया जाएगा आईपीओ के बाद कंपनी का ऋण का बोझ काफी कम हो जाएगा सितंबर 2023 तक कंपनी पर 2,252.75 करोड़ रुपये का बकाया था, जो मार्च 2023 तक 2,045.6 करोड़ रुपये से बढ़ गया

जुनिपर होटल्स के पास सात होटलों और कुल 1,836 कमरों वाले सर्विस अपार्टमेंट का पोर्टफोलियो है होटल डेवलपर सराफ समूह और हॉस्पिटैलिटी ब्रांड हयात होटल्स कॉर्पोरेशन के स्वामित्व वाली कंपनी अपने होटल और सर्विस्ड अपार्टमेंट को तीन भिन्न-भिन्न कैटेगरी के अनुसार संचालित करती है

Related Articles

Back to top button