जानलेवा कोरोना वायरस के दौरान भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को दी यह बड़ी चेतावनी, जाने खबर

 जानलेवा कोरोना वायरस के दौरान भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों को दी यह बड़ी चेतावनी, जाने खबर

 एक तरफ जहां पूरा देश जानलेवा कोरोना वायरस (Coroanvirus) महामारी से लड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर साइबर क्रिमिनल्स नए ढंग से लोगों को धोखाधड़ी का शिकार बना रहे हैं।

 कहीं कोरोना रिलीफ फंड के लिए डोनेशन मांगा जा रहा है तो कहीं कोरोना से बचाव के फर्जी ऐप के जरिए लोगों की डिटेल चुराई जा रही हैं। इस तरह के फ्रॉड से बचाव के लिए देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ( भारतीय स्टेट बैंक ) ने लोगों को सतर्क किया है व उनको औनलाइन फ्रॉड से बचने से के लिए सात टिप्स बताए हैं। आइए जानतें हैं फ्रॉड से बचने से कुछ सेफ्टी टिप्स।

भारतीय स्टेट बैंक ने ट्वीट कर बताया, संसार एक खतरनाक महामारी से लड़ रही है व साइबर-अपराधियों ने सबसे नवीन उपायों से लोगों को परेशान करना प्रारम्भ कर दिया है। मौजूदा समय में आप सतर्क व सावधान रहें।  एसबीआई ने ग्राहकों साइबर क्रिमिनल्स से बचने के सात सेफ्टी टिप्स बताए हैं। इन सेफ्टी टिप्स को अनुसरण कर आप अपने खाता को धोखेबाजों से बचा सकते हैं।   

फॉलो करें ये सेफ्टी टिप्स-

(1) कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन स्थिति में फ्रॉड करने वाले भी ऐक्टिव हो गए हैं व फ्रॉड UPI आईडी से डोनेशन मांग रहे हैं। बैंक ने कहा, फ्रॉड UPI आईडी से डोनेशन मांगने वालों से सावधान रहें। अपनी गाढ़ी कमाई को डोनेट करने से पहले सोचें।

(2) फंड ट्रांसफर करने से पहले पैसे प्राप्त करने वाले की पहचान की जाँच करें।

(3) किसी भी ई-कॉमर्स साइट पर अपने कार्ड की डिटेल कभी सेव नहीं करें।

(4) अनचाहे ई-मेल पर अपना सेंसेटिव इंफॉर्मेशन नहीं दें।

(5) कोरोना वायरस से संबंधित किसी भी समाचार पर क्लिक करने से पहले उसकी जाँच करें।

(6) विश्वसनीय स्रोत से तथ्य साझा करें।

(7) जब आप स्कैम को देखें तो उसकी रिपोर्ट करें।