Redmi हिंदुस्तान में इस दिनांक को लॉन्च करेगा अपना पहला स्मार्टवॉच

Redmi हिंदुस्तान में इस दिनांक को लॉन्च करेगा अपना पहला स्मार्टवॉच

चीन की प्रमुख Smart Phone निर्माता कंपनी Xiaomi भारतीय मार्केट में अपने Redmi स्मार्टवॉच को लॉन्च करेगी तैयारी कर रहा है. जानकारी के मुताबिक कंपनी आनें वाले 13 मई को Note 10S Smart Phone के साथ अपने पहले स्मार्टवॉच को लॉन्च करेगी. इस स्मार्टवॉच की चर्चा लंबे समय से हो रही थी, लेकिन अब इसकी लॉन्च की दिनांक की आधिकारिक घोषणा कर दी गई है. 


रेडमी इंडिया ने सोशल मीडिया पर अपने इस आने वाले पहले स्मार्टवॉच का एक टीजर भी जारी किया है. इसे एक वर्चुअल इवेंट के जरिए भारतीय मार्केट में लॉन्च किया जाएगा और ये औनलाइन और कंपनी के आधिकारिक डीलरशिप पर बिक्री के लिए मौजूद होगी. बता दें कि, कंपनी ने बीते वर्ष नवंबर महीने में अपने इस स्मार्टवॉच को चाइना के मार्केट में पेश किया था, जहां इसकी मूल्य 299 CNY (चीनी करेंसी) है, जो कि भारतीय करेंसी में 3,352 रुपये के लगभग है. 


स्मार्टवॉच में क्या है खास: 


इसमें 1.4 इंच का स्क्वॉयर शेप डिस्प्ले दिया गया है, जिसका रेजोल्यूशन (320x320) पिक्सल है. इसकी लंबाई 41mm, चौड़ाई 35mm और मोटाई 10.9mm है. इसके उपर 2.5D टेम्पर्ड ग्लॉस दिया गया है, जो कि डिस्प्ले के सुरक्षित रखता है. ये ब्लूटूथ को भी सपोर्ट करता है और इसमें हर्ट रेट, सिक्स एक्सिस, जियोमैग्नेटिक और एम्बीएंट लाइटिंग जैसे सेंसर दिए गए हैँ. 


चीनी वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक ये स्मार्टवॉच वॉटर सेजिस्टेंस जैसे फीचर से लैस है, जो कि पानी के भीतर 50 मीटर तक वॉच को सुरक्षित रखता है. इसमें 230 mAh की क्षमता का बैटरी पैक दिया गया है, कंपनी का दावा है कि इसे फुल चार्ज होने में महज 2 घंटे का समय लगता है और एक बार फुल चार्ज होने के बाद ये 12 घंटे तक चलता है. 




क्या होगी कीमत: 


स्कवॉयर शेप डायल वाले इस स्मार्टवॉच की बैटरी 12 घंटे तक का बैकअप देती है. ऐसा माना जा रहा है कि कंपनी इसे उसी मूल्य में लॉन्च कर सकती है जिस मूल्य में ये चाइना के मार्केट में बिक्री के लिए मौजूद है. Redmi के इस स्मॉर्ट वॉच में 5 भिन्न-भिन्न मोड्स भी दिए गए हैं, जिसमें इनडोर रनिंग, ट्रेडमील, ऑउटडोर रनिंग, इनडोर और आउटडोर साइकिलिंग, स्विमिंग और फ्री सक्रिय िटी शामिल हैं. 


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी


Covid-19: बिहार में ब्लैक फंगस से अब तक 76 की मौत       16 जून से बिहार के लोगों को मिलेगी छूट या बढ़ेगी पाबंदी       बिहार में कोविड-19 से आठ मरीजों की मौत, इतने नए मुद्दे आए सामने       इन इलाकों में होगी भारी बारिश, समय से पहले पहुंचा मानसून       यूपी में आज से रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान       महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...       सीएम योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमण को लेकर अभी भी रहें गंभीर       हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र       युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी       धरती पर हैं चार नहीं, पांच महासागर? अंटार्कटिका के पास है कुछ सबसे अनोखा       OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार       पौष्टिक आहार, पढ़ाई और प्यार, बच्चों के लिए अत्यंत अनिवार्य: शालिनी गुप्ता,  बाल श्रम उन्मूलन दिवस पर पारहो में फूड न्यूट्रिशन किट का किया वितरण        Muslim Lawmaker Ilhan Omar ने US और Israel की तुलना तालिबान से कर डाली       दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात की तैयारियां पूरीं       अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी       70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत       कैसे डोनाल्ड ट्रंप को दी गई दवा कोविड-19 के मरीजों में जगा रही है उम्मीद?       PM मोदी से मुलाकात कर बहुत खुश हुए सीएम योगी, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात       राजनाथ सिंह ने किया 'खामोश महामारी' का जिक्र, बोले...       अखिलेश यादव ने कहा कि बंदरबांट में उलझी बीजेपी सरकार से जनता को कोई आशा नहीं