Mercedes-Maybach GLS600 भारत में हुई लांच, जानें कीमत

Mercedes-Maybach GLS600 भारत में हुई लांच, जानें कीमत

जर्मनी की लग्जरी वाहन निर्माता कंपनी मर्सिडीज़ ने भारत में आज अपनी अल्ट्रा लग्जरी एसयूवी Maybach GLS600 को 2.43 करोड़ रुपये की शुरुआती कीमत के साथ लांच कर दिया है। बता दें, GLS600 मर्सिडीज-मेबैक लाइन-अप में ब्रांड की पहली एसयूवी है, जिसे पहली बार वर्ष 2019 में विश्व स्तर पर पेश किया गया था। हालांकि, इस कार को पिछले साल से अन्य कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बिक्री के लिए उपलब्ध कराया जा चुका है। जिसके बाद आज भारत में इसे लांच कर दिया गया है।

क्रोम एक्सटीरियर: Mercedes-Maybach GLS600 भारतीय बाजार में लांच किया गया Mercedes-Maybach GLS600 वैरिएंट को शानदार क्रोम फिनिश दी गई है। इस अल्ट्रा-लक्जरी एसयूवी में कार के स्टैंडर्ड मॉडल की तुलना में कई बदलाव किये गए हैं। GLS600 मेबैक में क्रोम से लैस कई बाहरी ट्रिम पार्ट हैं। इसमें बड़े वर्टिकल स्लेट ग्रिल, विंडो लाइन, साइड-स्टेप, फ्रंट और रियर बंपर पर डिजाइन एक्सेंट, रूफ रेल और एग्जॉस्ट टिप्स शामिल हैं। इस प्रीमियम लक्ज़री SUV में बड़े 22-इंच या 23-इंच ब्रश वाले मल्टी-स्पोक व्हील्स, एक ड्यूल-टोन पेंट स्कीम शामिल है।

Mercedes-Maybach GLS600 लग्जरी प्रीमियम एसयूवी कंपनी की स्टैंडर्ड एसयूवी के मुकाबले अल्ट्रा लग्जरी है, यही कारण है कि मेबैक जीएलएस 600 की कीमत स्टैंडर्ड जीएलएस एसयूवी से काफी अधिक है। मेबैक जीएलएस की अधिक कीमत का एक और कारण यह भी है कि इसे सीबीयू (completely built-up) के जरिये बेची जाएगी। इस वजह से भी इसकी कीमत में काफी वृद्धि की गई है। मर्सिडीज-मेबैक जीएलएस 600 लैंड रोवर रेंज रोवर, बेंटले बेंटायगा, रोल्स-रॉयस कलिनन, आदि के लिए एक प्रतिद्वंद्वी के रूप में पेश की गई है।

इंजन और स्पीड : Mercedes-Maybach GLS600 में 4.0-लीटर V8 इंजन दिया गया है। जो किअधिकतम 550bhp की पावर और 730Nm का पीक टॉर्क पैदा करता है। इस इंजन में एक एकीकृत EQ बूस्ट स्टार्टर-जनरेटर भी है जो 21bhp और 249Nm टार्क का सपोर करता है। GLS600 के इस इंजन को 9G-TRONIC ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन से जोड़ा जाएगा। वहीं स्पीड की बात करें तो मेबैक GLS600 4.9 सेकंड में 0 से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है, और इसकी टॉप स्पीड 250 किमी प्रति घंटे की तय की गई है।


RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

RTO में बगैर टेस्‍ट दिए भी बन सकेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानें कैसे?

नई दिल्‍ली यदि आप ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) बनवाने की सोच रहे हैं, लेकिन आरटीओ (RTO) में होने वाले ड्राइविंग टेस्‍ट से बचना चाह रहे हैं तो आपके लिए राहत देने वाली समाचार है जल्‍द ही आरटीओ में बगैर ड्राइविंग टेस्‍ट के ही लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) से मान्‍यता प्राप्‍त ड्राइविंग टेस्‍ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी, जिसके बाद सेंटर से एक सर्टिफिकेट मिलेगा इसके आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते समय टेस्‍ट देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यह मान्‍यता प्राप्‍त टेनिंग सेंटर 1 जुलाई 2021 से प्रारम्भ हो जाएंगे सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस विषय में आदेश जारी कर दिए हैं

सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार, प्रति साल देश में होने वाले हादसों का एक कारण ट्रेंड ड्राइवरों की कमी होना है मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा समय देश में करीब 22 लाख ड्राइवरों की कमी है इस कमी को पूरा करने और सड़क हादसों को कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने तय गाइडलाइन के मुताबिक देशभर में ड्राइवर टेनिंग सेंटर खोलने की अनुमति दे दी है लोग मंत्रालय के मानक के मुताबिक सेंटर खोल सकते हैं, जिसमें लोगों को ट्रेनिंग दी सकेगी ट्रेनिंग के बाद टेस्‍ट लिया जाएगा टेस्‍ट पास करने वालों को सेंटर सर्टिफिकेट देगा, जिसके आधार पर बगैर टेस्‍ट दिए ड्राइविंग लाइसेंस बन सकेगा

ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर के लिए शर्तें
ट्रेनिंग सेंटर के लिए मैदानी इलाके में दो एकड़ और पहाड़ी इलाके में एक एकड़ जमीन की आश्‍वयकता होगी एलएमवी और एचएमवी दोनों तरह के वाहनों के लिए सिम्‍युलेटर जरूरी होगा, जिससे ट्रेनिंग दी जाएगी यहां पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस और इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण होगी सेंटर में पार्किंग, रिवर्स ड्राइविंग, ढलान, ड्राइविंग आदि ट्रेनिंग देने के लिए ड्राइविंग ट्रैक जरूरी होगा इसमें थ्‍योरी और सेंगमेंट कोर्स होंगे सेंटर में सिम्‍युलेटर की सहायता से हाईवे, ग्रामीण इलाके, भीड़भाड़ और लेन में चलने वाली जगहों पर बरसात, कोहरा और रात में वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी


Covid-19: बिहार में ब्लैक फंगस से अब तक 76 की मौत       16 जून से बिहार के लोगों को मिलेगी छूट या बढ़ेगी पाबंदी       बिहार में कोविड-19 से आठ मरीजों की मौत, इतने नए मुद्दे आए सामने       इन इलाकों में होगी भारी बारिश, समय से पहले पहुंचा मानसून       यूपी में आज से रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान       महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...       सीएम योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमण को लेकर अभी भी रहें गंभीर       हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र       युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी       धरती पर हैं चार नहीं, पांच महासागर? अंटार्कटिका के पास है कुछ सबसे अनोखा       OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार       पौष्टिक आहार, पढ़ाई और प्यार, बच्चों के लिए अत्यंत अनिवार्य: शालिनी गुप्ता,  बाल श्रम उन्मूलन दिवस पर पारहो में फूड न्यूट्रिशन किट का किया वितरण        Muslim Lawmaker Ilhan Omar ने US और Israel की तुलना तालिबान से कर डाली       दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात की तैयारियां पूरीं       अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी       70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत       कैसे डोनाल्ड ट्रंप को दी गई दवा कोविड-19 के मरीजों में जगा रही है उम्मीद?       PM मोदी से मुलाकात कर बहुत खुश हुए सीएम योगी, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात       राजनाथ सिंह ने किया 'खामोश महामारी' का जिक्र, बोले...       अखिलेश यादव ने कहा कि बंदरबांट में उलझी बीजेपी सरकार से जनता को कोई आशा नहीं