Hero ने लॉन्च की नयी XPulse 2004V बाइक, जानिए विशेषता और कीमत

Hero ने लॉन्च की नयी XPulse 2004V बाइक, जानिए विशेषता और कीमत

नई दिल्ली हीरो मोटोकॉर्प ने अपनी नयी बाइक हीरो XPulse 200 4V 2021 को लॉन्च किया है बाइक में 4V का उल्लेख ही यह संकेत करता है कि कंपनी ने इसमें नए 4 वाल्वस दिए है कंपनी की नयी बाइक में BS IV कम्प्लाइंस है कंपनी ने इस बाइक के इंजन को अपडेट किया है और इसके साथ साथ इसमें अपडेटेड गियरबॉक्स भी दिया है, इसके अतिरिक्त भी कंपनी ने इसमें और भी विशेषता दिया है तो आइये जानते है हम इस बाइक के बारे में

XPulse 2004V का इंजन – कंपनी ने अपनी इस नयी बाइक में 200cc की इंजन दिया है, इंजन में 4 वाल्व कूल ऑयल्ड दिया गया है इससे बाइक में 5 फीसदी टार्क और 6 फीसदी पावर की बढ़ोतरी हुई है यह इंजन 19.1 PS का पावर 8500 rpm पर देता है और 17.35 NM का टार्क 6500 rpm पर पैदा करता है 4 वाल्व कूल ऑयल्ड इंजन के चलते बाइक टॉप स्पीड और हाई परफॉरमेंस देती है कंपनी ने बाइक में कूलिंग सिस्टम बाइक के 7 फिन आयल को कूल करता है ट्रांसमिशन सेटअप XPulse 200 4V 2021 के बेटर स्ट्रेंथ और ड्यूरबिलिटी को और बढाती है

XPulse 2004V के विशेषता  कंपनी ने इस बाइक में LED हेडलैंप दिया गया है, जिससे इस बाइक के बेटर विजिबिलिटी मिलती है इसके अतिरिक्त कंपनी फूली डिजिटल क्लस्टर और Smart Phone कनेक्टिविटी दिया गया है, जिससे आपको अपने Smart Phone कॉल अलर्ट मिलता है इसके अतिरिक्त इसमें गियर इंडिकेटर, ईको मोड और ट्रिप मीटर्स और सिंगल चैनल ABS स्टैंडर्ड ऑफरिंग दिया गया है

XPulse 2004V के स्पेसिफिकेशन – यह बाइक लॉन्ग सस्पेंसन ट्रेवल, 190mm फ्रंट और 170mm रियर बिल्ट है इसके अतिरिक्त 21 इंच फ्रंट और 18 इंच रियर स्पोक व्हील्स दिया गया है इसके अलाव ऐस बाइक में अल्मुनियम स्किड प्लेट दिया गया है, जिससे इसके इंजन की सुरक्षा होती है इसके अतिरिक्त इसमें ब्रेक पेडल अच्छे से कंट्रोल करने के लिए दिया गया है इसके अतिरिक्त इसमें अप्सवेप्ट एग्जॉस्ट दिया है जिससे डीप वाटर क्रासिंग अच्छे से होती है कंपनी इस बाइक को 3 कलर ऑप्शन के साथ बाजार में उतारा है जो कि क्रमशः ट्रेल ब्लू, ब्लिट्ज ब्लू और रैड रेड है


Tesla: टेस्ला ने कर कम करने के लिए पीएमओ में दी दस्तक, इस वर्ष प्रारम्भ करना चाहती है इलेक्ट्रिक कार की बिक्री

Tesla: टेस्ला ने कर कम करने के लिए पीएमओ में दी दस्तक, इस वर्ष प्रारम्भ करना चाहती है इलेक्ट्रिक कार की बिक्री

Tesla Inc (टेस्ला इंक) ने भारतीय मार्केट में एंट्री करने से पहले इलेक्ट्रिक वाहनों पर आयात करों को कम करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के ऑफिस से निवेदन किया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चार सूत्रों ने बताया, टेस्ला ने कुछ भारतीय वाहन निर्माताओं की आपत्तियों को खारिज कर दिया. टेस्ला इस वर्ष हिंदुस्तान में आयातित कारों की बिक्री प्रारम्भ करना चाहती है. लेकिन उनका बोलना है कि हिंदुस्तान में कर दुनिया में सबसे अधिक हैं.


टेस्ला ने कर कटौती के लिए सबसे पहले जुलाई में निवेदन किया था. जिस पर देश में ऑटोमोबाइल सेक्टर की कई लोकल कंपनियों ने असहमति जताई थी. इनका बोलना है कि इस तरह के कदम से घरेलू मैन्युफेक्चरिंग में निवेश बाधित होगा. 

हिंदुस्तान में टेल्सा के नीति प्रमुख मनुज खुराना सहित कंपनी के ऑफिसरों ने पिछले महीने एक बंद दरवाजे की मीटिंग में कंपनी की मांगों को मोदी के ऑफिसरों के सामने रखा, और यह तर्क दिया कि कर बहुत अधिक हैं. इस चर्चा से परिचित चार सूत्रों ने यह बताया. 

तीन सूत्रों ने बोला कि टेस्ला ने अपने मुख्य कार्यकारी एलन मस्क और मोदी के बीच अलग से एक मीटिंग का निवेदन भी किया है. मोदी के ऑफिस और टेस्ला के साथ-साथ इसके कार्यकारी खुराना ने इस बारे में टिप्पणी के निवेदन का उत्तर नहीं दिया.

वैसे यह साफ नहीं है कि मोदी के ऑफिस ने विशेष रूप से टेस्ला को उत्तर में क्या बताया. लेकिन मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चार सूत्रों ने बताया कि अमेरिकी वाहन निर्माता की मांगों पर सरकारी ऑफिसरों की राय विभाजित हैं. कुछ ऑफिसर चाहते हैं कि कंपनी किसी भी आयात कर में कटौती पर विचार करने से पहले लोकल मैन्युफेक्चरिंग के लिए प्रतिबद्ध हो.
एक सूत्र के अनुसार, मोदी के ऑफिस में मीटिंग के दौरान, टेस्ला ने बोला कि हिंदुस्तान में शुल्क संरचना देश में उसके कारोबार को "व्यवहार्य प्रस्ताव" नहीं बनाएगी.

हिंदुस्तान 40,000 US डॉलर या उससे कम लागत वाले इलेक्ट्रिक वाहनों पर 60 फीसदी का आयात शुल्क और 40,000 US डॉलर से अधिक मूल्य वाले वाहनों पर 100 फीसदी शुल्क लगाता है. विश्लेषकों ने बोला है कि इन दरों पर टेस्ला की कारें खरीदारों के लिए बहुत महंगी हो जाएंगी और उनकी बिक्री को सीमित कर सकती हैं. 
तीन सूत्रों ने बोला कि टेस्ला ने अपने मुख्य कार्यकारी एलन मस्क और मोदी के बीच अलग से एक मीटिंग का निवेदन भी किया है. मोदी के ऑफिस और टेस्ला के साथ-साथ इसके कार्यकारी खुराना ने इस बारे में टिप्पणी के निवेदन का उत्तर नहीं दिया.

वैसे यह साफ नहीं है कि मोदी के ऑफिस ने विशेष रूप से टेस्ला को उत्तर में क्या बताया. लेकिन मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चार सूत्रों ने बताया कि अमेरिकी वाहन निर्माता की मांगों पर सरकारी ऑफिसरों की राय विभाजित हैं. कुछ ऑफिसर चाहते हैं कि कंपनी किसी भी आयात कर में कटौती पर विचार करने से पहले लोकल मैन्युफेक्चरिंग के लिए प्रतिबद्ध हो.