Yes Bank के ग्राहकों को लिए आई यह बड़ी खुशखबरी, जाने क्या

Yes Bank के ग्राहकों को लिए आई यह बड़ी खुशखबरी, जाने क्या

Yes Bank संकट के बाद वित्तीय विशेषज्ञों का बोलना है कि बैंक के ग्राहकों का पैसा पूरी तरह सुरक्षित है, लेकिन म्‍युचुअल फंड एवं यस बैंक के शेयर खरीदने वाले निवेशकों को मायूसी हाथ लग सकती है.

 विशेषज्ञों ने बताया कि म्‍युचुअल फंड कंपनियां आम निवेशकों की रकम अमूमन बैंकों के पर्पेचुअल बांड्स में निवेश करती है. पर्पेचुअल बांड्स की कोई परिपक्वता अवधि नहीं होती है. इसलिए उसे लोन नहीं, बल्कि इक्विटी के रूप में लिया जाता है. लेकिन नियम के मुताबिक बैंक के विफल होने पर इस पर्पेचुअल बांड्स का मूल्य शून्य हो जाता है.

वित्तीय मार्केट के अनुमान के मुताबिक, म्‍युचुअल फंड कंपनियां यस बैंक से 2,700 करोड़ रुपये के पर्पेचुअल बांड खरीद रखे थे. अब इन बांड्स का मूल्य शून्य हो जाएगा. ऐसे में, यस बैंक के पर्पेचुअल बांड्स या शेयर खरीदने वाले म्‍युचुअल फंड्स निवेशकों को घाटा होगा.

एसआरई लिमिटेड के चीफ फाइनेंशियल प्लानर कीर्तन शाह ने बताया कि वर्तमान स्थिति में अगर किसी निवेशक को पैसा चाहिए तो उसे तुरंत निकाल लेना चाहिए क्योंकि हाल-फिलहाल में अच्छे रिटर्न की उम्मीद नहीं है.

हालांकि महिंद्रा म्‍युचुअल फंड के सीईओ आशुतोष बिश्नोई थोड़ी उम्मीद जताते हुए कहते हैं, ‘बैंक की रिस्ट्रक्चरिंग के बाद नए बोर्ड से पर्पेचुअल बांड को लेकर बात की जा सकती है व कोई हल निकाला जा सकता है, परंतु नियम के मुताबिक उस बांड का अब कोई वैल्यू नहीं रह गया है.’

उन्होंने बताया कि महिंद्रा म्‍युचुअल फंड ने यस बैंक के खतरे को भांपते हुए पिछले एक वर्ष के दौरान यस बैंक के पर्पेचुअल बांड्स से अपनी सारी रकम निकाल ली. विश्नोई ने बताया कि यही हाल यस बैंक के शेयर खरीदने वालों का है. नियम के मुताबिक उनके शेयर अब बेकार हो जाएंगे. नए बोर्ड के गठन के बाद ही उनके किस्मत का निर्णय हो पाएगा.

Posted By: Manish Mishra