कोरोना वायरस संकट के कारण वैश्विक स्तर पर रत्न और आभूषण निर्यात गिरी

 कोरोना वायरस संकट के कारण वैश्विक स्तर पर रत्न और आभूषण निर्यात गिरी

 वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संकट के कारण वैश्विक स्तर पर गिरी मांग से देश का रत्न और आभूषण निर्यात जून में 34.72 फीसद लुढ़ककर 1.64 अरब डॉलर (लगभग 12,333 करोड़ रुपये) रह गया।

रत्न और आभूषण निर्यात संवर्द्धन परिषद (GJEPC) ने इस संबंध में जानकारी दी है। गत वर्ष जून में देश का रत्न-आभूषण एक्सपोर्ट जून में 2.52 अरब डॉलर यानी 18,951 करोड़ रुपये दर्ज किया था।

देश के कुल एक्सपोर्ट में इस क्षेत्र की हिस्सेदारी 15 फीसद है। हाथ की कारीगरी की वजह से यह बड़ी तादाद में लोगों को रोजगार देने वाला क्षेत्र है। जीजेईपीसी के चेयरमैन कोलिन शाह ने कोरोना संक्रमण फैलने के बाद से कई देशों ने कई तरह के बैन लगाए हैं। इससे वैश्विक स्तर पर आर्थिक नरमी आने के कारण रत्न-आभूषण की मांग और निर्यात में निरंतर गिरावट आ रही है। हालांकि चीन, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में वापस मांग में सुधार हो रहा है। 

मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में निर्यात 54.79 फीसद की गिरावट के साथ 2.75 अरब डॉलर रह गया। इससे पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की अप्रैल-जून तिमाही में 6.07 अरब डॉलर का निर्यात हुआ था। इस दौरान सोने के आभूषणों का एक्पोर्ट 79 प्रतिशत कम होकर 32.12 करोड़ डॉलर का रहा। जबकि रंगीन रत्नों के एक्सपोर्ट में 80.56 फीसद की गिरावट दर्ज की गई।