E-Rickshaw Registration पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, जानिये क्या है मामला

E-Rickshaw Registration पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, जानिये क्या है मामला

पूरे देश में जहां एक तरफ सरकार इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को बढ़ावा दे रही है। वहीं दूसरी ओर एक काफी चौंकाने वाली बात सामने आई है। दरअसल, देश की उच्चतम न्यायालय ने नए ई-रिक्शा के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाने का फैसला सुनाया है। एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने भारत में ई-रिक्शा का रजिस्ट्रेशन बंद करने का आदेश दिया है। इसका मतलब है कि अब कोई भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ई-रिक्शा का पंजीकरण नहीं करवा पाएगा। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद दिल्ली सरकार जिसने 4 फरवरी को 'स्विच दिल्ली कैंपेन' चलाया था, अब ई-रिक्शे के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाने की बात कह रही है।

हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश वासियों से 'स्विच दिल्ली कैंपेन' के तहत इलेक्ट्रिक वाहन की तरफ स्विच करने की अपील की थी। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने ये भी ऐलान किया था कि, वह इलेक्ट्रिक व्हीकल में कंवर्ट करने के लिए लोगों को सभी प्रकार के ईवी पर सब्सिडी देगी। इसके साथ ही राजधानी में हर 3 किलोमीटर पर एक ईवी चार्जिंग पॉइंट लगाने की बात भी कही थी। केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली सरकार का प्रयास है कि प्रदेश में 100 चार्जिंग स्टेशन जल्द से जल्द लगाए जाएं जिसकी तैयारी भी शुरू कर दी गई हैं।


ई-रिक्शा पर क्या है मामला: दरअसल कोलकाता के एक वकील कनिष्क सिन्हा के मुताबिक पिछले 20 सालों से वो पूरे भारत में ई-रिक्शा का पंजीकरण कराने वाले पेटेंटी यानी लाइसेंस धारक हैं। उनका यह भी दावा है कि वह एकमात्र ऐसे व्यक्ति हैं जो हिन्दुस्तान में इलेक्ट्रिक वाहनों का पंजीकरण करवा सकते हैं। इस वकील के मुताबिक, किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के पास अपने प्रांत में बैटरी वाले इलेक्ट्रिक वाहन को डायरेक्ट रजिस्टर्ड कराने का अधिकार नहीं है। वकील सिन्हा की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि देश में इलेक्ट्रिक रिक्शा खरीदने वाले हर ग्राहकों को अमित इंजीनियरिंग सर्विस के द्वारा अपनी ई-रिक्शा को रजिस्टर्ड करवाना होगा।


इसके अलावा कोर्ट ने यह भी कहा है कि किसी भी राज्य के ट्रांसपोर्ट ऑफिस को इलेक्ट्रिक रिक्शा को रजिस्टर्ड करवाने का अधिकार नहीं है। उच्च न्यायालय के मुताबिक अगर राज्य सरकार या कोई केंद्र शासित प्रदेश इलेक्ट्रिक रिक्शा को रजिस्टर्ड करवाती है तो इन्हें पूरी तरह से गैरकानूनी माना जाएगा। बता दें कि अदालत ने 24 फरवरी, 2020 को भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के रजिस्ट्रेशन को रोकने के लिए कहा था और इसे सर्वोच्च न्यायालय ने 12 जनवरी, 2021 को बरकरार रखा था। दिल्ली सरकार ने कहा है कि वह ई-रिक्शा के रजिस्ट्रेशन को रोक देगी जबकि जम्मू और कश्मीर सरकार पहले ही इसे रोक चुकी है। अन्य राज्यों को आदेश का पालन करना बाकी है।


Royal Enfield की इस सस्ती बाइक की मार्केट में धूम, बिक्री में पूरे 286 परसेंट की बढ़ोत्तरी

Royal Enfield की इस सस्ती बाइक की मार्केट में धूम, बिक्री में पूरे 286 परसेंट की बढ़ोत्तरी

भारतीय मार्केट में 350cc सेग्मेंट के बाइक्स की डिमांड हमेशा से रही है. दमदार इंजन और बेहतरीन परफॉर्मेंस के चलते इस सेग्मेंट में Royal Enfield की बाइक्स का दबदबा रहा है. हालांकि इस सेग्मेंट में रॉयल एनफिल्ड क्लॉसिक 350 सबसे अधिक बेची जाने वाली बाइक है, लेकिन कंपनी की सबसे सस्ती बुलेट ने बीते मार्च महीने में बहुत बढ़िया प्रदर्शन करते हुए बिक्री में पूरे 286 परसेंट की बढ़ोत्तरी दर्ज की है. 


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते मार्च महीने में Classic 350 की बिक्री में 30.41 परसेंट का वृद्धि देखने को मिला है. इस दौरान कंपनी ने इस बाइक के 31,696 यूनिट्स की बिक्री की है, जो कि पिछले वर्ष के मार्च महीने में महज 24,304 यूनिट्स थी. ये लंबे समय से कंपनी की बेस्ट सेलिंग बाइक है और युवाओं द्वारा खासी पसंद की जाती है. कंपनी इसके नेक्स्ट जेनरेशन मॉडल पर कार्य कर रही है जिसे जल्द ही मार्केट में उतारा जाएगा. 




वहीं दूसरे पायदान पर कंपनी की किफायती क्रूजर बाइक Meteor 350 ने अतिक्रमण जमाया है. कंपनी ने इस बाइक को पिछले वर्ष के अंत में मार्केट में लॉन्च किया था. बीते मार्च महीने में इस बाइक के कुल 10,596 यूनिट्स की बिक्री की गई है. क्रूजर सेग्मेंट में ये बाइक सबसे अधिक प्रसिद्ध है और बेस्ट सेलिंग है. इस बाइक को मार्केट में थंडरबर्ड के रिप्लेसमेंट के तौर पर पेश किया गया है. 


रॉयल एनफील्ड की सबसे सस्ती बाइक Bullet 350 ने मार्च महीने में सबसे बेहतर प्रदर्शन किया है. बीते मार्च महीने में कंपनी ने इस बाइक के कुल 9,693 यूनिट्स की बिक्री की है जो कि पिछले वर्ष के मार्च महीने के मुकाबले पूरे 286.64 परसेंट अधिक है. पिछले वर्ष के मार्च महीने में कंपनी ने इस बाइक के महज 2,507 यूनिट्स की बिक्री की थी. 




कंपनी की Electra 350 ने भी बीते मार्च महीने में ग्रोथ दर्ज की है, इस दौरान कंपनी ने इस बाइक के कुल 4,914 यूनिट्स की बिक्री की है. जो कि पिछले वर्ष के मार्च महीने में महज 3,160 यूनिट्स थी. वहीं इस सेग्मेंट में होंडा की हाल ही में पेश की गई Honda CB350 ने भी अपना नाम दर्ज कराया है और सेग्मेंट की पांचवी बेस्ट सेलिंग बाइक बनी है. बीते मार्च महीने में इस बाइक के कुल 4,302 यूनिट्स की बिक्री की गई है. 


मिस इंडिया रनर अप रहीं दीक्षा सिंह ने दिखाया हॉटनेस का जलवा, शेयर की फोटोज       कोरोना के दौरान घर पर ही हटाए चेहरे के अनचाहे बाल, दाग-धब्बों से मिलेगा छुटकारा       महिलाएं बालों में मेहंदी कब और कैसे लगाएं, जानिए ये बेहतरीन टिप्स       चेहरे के कील-मुँहासे और पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये टिप्स       अगर आप भी हैं साड़ी पहनने की शौकीन, तो इन तरीकों से लाएं परफेक्ट लुक       लड़कियों की स्किन के लिए भारी पड़ सकता है ज्यादा सेल्फी लेना       शादियों के सीजन इस तरह सजाएं अपने होंठ, ये लिपिस्टिक लगा देगी चार चाँद       लड़कियाँ गर्दन पर जमे मैल को साफ़ करने के लिए अपनाए ये उपाय       महिलाओं को अंडरवियर में भूलकर भी नहीं करना चाहिए इस चीज का इस्तेमाल       अगर आपके बच्चे की भी है बिस्तर पर पेशाब करने की आदत तो ऐसे छुड़ाएं       शादीशुदा जोड़ों को को अपने शयनकक्ष में नहीं रखनी चाहिए ये चीजें       काले रंग के कुत्ते को रोटी खिलाने से दूर होता है दोष, लेकिन...       Suzuki Hayabusa का नया अवतार इस दिनांक को होगा लॉन्च, मूल्य       Royal Enfield की इस सस्ती बाइक की मार्केट में धूम, बिक्री में पूरे 286 परसेंट की बढ़ोत्तरी       Ola Electric हिंदुस्तान में लगाएगा दुनिया का सबसे बड़ा चार्जिंग सेटअप       दमदार ड्राइविंग रेंज के साथ महज 18 मिनट में होगी चार्ज, Ola इलेक्ट्रिक स्कूटर जुलाई मे होगी लॉन्च       लीक हुई Mi 11X Pro और Mi 11X की कीमत       जानिए कैसा है 48MP कैमरे वाला यह स्मार्टफोन       WhatsApp यूजर्स के लिए चेतावनी! भूलकर भी नहीं करें ये गलतियां       Realme के 6000mAh बैटरी वाले फोन की मूल्य में कटौती