कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को भेजा यह लेटर 

कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को भेजा यह लेटर 

चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अपने राष्ट्रीय अभियान भारतीय सामान हमारा अभिमान के तहत कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने शनिवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल को एक लेटर भेजकर मांग की है

कि इंडियन रेलवे वे के सेमी हाई स्पीड स्वदेशी ट्रेन 18 प्रोजेक्ट के लिए ग्लोबल टेंडर में भाग लेने के लिए चाइना के स्वामित्व वाली कंपनी सीआरआरसी कॉपोर्रेशन को भाग न लेने दिया जाए। 44 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए इस परियोजना का कुल मूल्य 1500 करोड़ रुपये से अधिक है।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया ने गोयल को भेजे लेटर में कहा, चाइना की कंपनी सीआरआरसी कॉपोर्रेशन गुड़गांव स्थित एक फर्म के साथ एक संयुक्त उद्यम के साथ उक्त रेलों की प्रणोदन प्रणाली या इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन की खरीद के लिए जारी टेंडर में छह दावेदारों में से एक है।

44 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन या ट्रेन के लिए किट चूंकि इंडियन रेलवे वे की यह प्रोजेक्ट पीएम नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया आवाहन का एक भाग है, इसलिए इस तथ्य व वर्तमान में चल रही परिस्थितियों को देखते हुए चीनी कंपनी को इस प्रोजेक्ट में भाग नहीं लेने देना चाहिए बल्कि इस रेल प्रोजेक्ट के लिए किसी भारतीय कंपनियों पर ही रेल मंत्रालय को अधिक जोर दिया जाना चाहिए। उन्होंने उम्मीद जताते हुए बोला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान लोकल पर वोकल व आत्मनिर्भर हिंदुस्तान के इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में चीनी कंपनी को भाग लेने से रोकने के लिए तुरंत आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।