विकासोन्मुख हो बजट, नौकरियों के सृजन और रोजगार के लिए अर्थव्यवस्था में भारी निवेश की जरूरत

विकासोन्मुख हो बजट, नौकरियों के सृजन और रोजगार के लिए अर्थव्यवस्था में भारी निवेश की जरूरत

भारत ने आंकड़ों के हिसाब से भी अब तक के सबसे कमजोर वित्त वर्ष का सामना किया है, जो कोविड-19 महामारी से बुरी तरह प्रभावित रहा है। महामारी के शुरुआती महीनों से जून तक आर्थ‍िक गतिविधि‍यों में भारी गिरावट आई, इसके बाद सितंबर के बाद धीरे-धीरे इसमें सुधार हुआ। भारत इस मामले में सौभाग्यशाली रहा है कि यहां अन्य यूरोपीय देशों और कुछ पूर्वी एशियाई देशों की तरह कोरोना की दूसरी लहर नहीं आई है।

वित्त वर्ष 2021 की रियल जीडीपी में 7 से 8.5 फीसद तक की गिरावट आने का अनुमान है, जो भारत के इतिहास में सबसे कम जीडीपी रेट होगा। एक अनुकूल आधार प्रभाव और आर्थ‍िक गतिविधि‍यों के फिर से पटरी पर लौटने को देखते हुए अगले वर्ष में रियल जीडीपी 8-9 फीसदी और नॉमिनल जीडीपी 12.5-13.5 फीसदी तक बढ़ने की उम्मीद है। आर्थ‍िक गतिविधि‍यों के पटरी पर लौटने के बावजूद कई ऐसे सेक्टर हैं, खासकर सेवाओं में, जो अब भी बुरी तरह प्रभावित हैं। इनमें हॉस्पिटलिटी, टूरिज्म, रेस्टोरेंट, एंटरटेनमेंट और एविएशन शामिल हैं।

बजट से हमारी प्राथमिक उम्मीद यही है कि यह विकासोन्मुख हों। नौकरियों के सृजन और रोजगार के लिए अर्थव्यवस्था में भारी निवेश की जरूरत है। निवेश का चक्र तो वास्तव में महामारी से पहले ही मंदा हो गया था, लेकिन अब उसमें कुछ अच्छे संकेत दिख रहे हैं, क्योंकि पिछले दो साल से दबी हुई मांग और मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने तथा कंपनियों को आकर्षि‍त करने के सरकारी प्रयास से इसमें मदद मिली है। इसकी वजह से बहुत सी कंपनियां अपनी रणनीति में बदलाव कर चीन+1  मॉडल पर काम कर रही हैं।

आगे हम मैन्युफैक्चरिंग आधार को बढ़ाने, जो कि बड़े पैमाने पर नौकरी देने वाला सेक्टर है, की कोशि‍श के तहत पूंजीगत खर्च के लिए और प्रेरणा एवं प्रोत्साहन देख सकते हैं। आदर्श रूप से देखें तो निर्माण, किफायती मकान, रियल एस्टेट (कॉमर्शि‍यल सहित), पर्यटन, बुनियादी ढांचा (खासकर सड़कें, रेलवे) को वित्तीय प्रोत्साहन मिलना चाहिए, यह देखते हुए कि ये ऐसे सेक्टर हैं, जिनमें सबसे ज्यादा मल्टीप्लायर इफेक्ट होता है।

जिन अन्य सेक्टर्स पर ध्यान देना चाहिए वे हैं- एमएसएमई/ एसएमई। ऐसा अनुमान है कि भारत में करीब 6.5 लाख छोटे उद्यम हैं, जो कृषि के बाद सबसे ज्यादा नौकरियां देने वाला सेक्टर है। ऐसी प्रमुख MSME/SME, जो बड़ी कंपनियों को सप्लाई करने वाले चेन में हैं, उनमें फिर से ग्रोथ को रफ्तार देने में मदद के लिए नीतियां बनानी काफी महत्वपूर्ण हैं।

अब हम एक नए चक्र की तरफ बढ़ रहे हैं, तो केंद्र सरकार के पूंजीगत व्यय को 4 लाख करोड़ से बढ़ाकर 5.5 लाख करोड़ रुपये तक करना होगा, ताकि जरूरी शुरुआती गति बन सके। राज्यों को भी आवंटन करना होगा, क्योंकि बुनियादी ढांचे पर ज्यादातर खर्च राज्यों के स्तर पर होता है।

चुनौतीपूर्ण सकल राजकोषीय घाटे के लक्ष्य की चुनौती को देखते हुए कुल खर्च में काफी संतुलन बनाकर रखना होगा। राजकोषीय घाटा वित्त वर्ष 2022 में 5 फीसद को पार हो सकता है। (वित्त वर्ष 2021 में यह 7.5 फीसदी हो सकता है, जबकि बजट लक्ष्य 3.5 फीसदी था) राज्यों और केंद्र का मिलाकर राजकोषीय घाटा वित्त वर्ष 2022 में 11 से 12 फीसदी तक पहुंच सकता है।


स्मार्टफोन स्क्रीन पर लगे स्क्रैच को हटाने के लिए अपनाएं ये खास ट्रिक्स

स्मार्टफोन स्क्रीन पर लगे स्क्रैच को हटाने के लिए अपनाएं ये खास ट्रिक्स

जब हम नया मोबाइल खरीदते हैं तो शुरुआत में उसकी स्टाइल और डिजाइन बहुत अच्छी लगती है। मोबाइल की चमचमाती स्क्रीन सबको अपनी ओर आकर्षित करती है। लेकिन कुछ समय बाद जब स्क्रीन पर स्क्रैच पड़ने लगते हैं तो स्मार्टफोन की खूबसूरती फीकी पड़ जाती है। हम बहुत कोशिश करते हैं कि मोबाइल की स्क्रीन पर एक भी स्क्रैच न आए, लेकिन न चाहते हुए भी कई बार स्क्रैच लग ही जाते हैं। ऐसे में स्क्रीन गंदी लगने लगती है। आज हम आपको कुछ ऐसे आसान तरीके बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने फोन की स्क्रीन पर लगे स्क्रैच हट जाएंगे और आपके मोबाइल की स्क्रीन फिर से नई लगने लगेगी।

1 मैजिक इरेजर
मैजिक इरेजर स्क्रीन के स्क्रैच हटाने का सबसे अच्छा उपाय है। बता दें कि मैजिक इरेजर का उपयोग वैसे तो गंदगी को साफ करने के लिए किया जाता है, लेकिन यह मोबाइल की स्क्रीन पर लगे छोटे-छोटे स्क्रैच को भी साफ कर देता है। हालांकि इसका उपयोग करने में आपको थोड़ी सावधानी बरतनी होगी।

2 टूथपेस्ट
दांतों को चमकाने वाले टूथपेस्ट से भी मोबाइल स्क्रीन पर लगे स्क्रैच हटा सकते हैं। सबसे पहले कॉटन में थोड़ा सा टूथपेस्ट लें और उसे पूरी स्क्रीन पर अच्छे से लगा दें। हां, स्पीकर को बचाकर रखें। थोड़ी देर बाद साफ कॉटन से उस टूथपेस्ट को साफ कर लें। इससे छोटे-मोटे स्क्रैच हट जाएंगे। या रहे कि जेल वाले टूथपेस्ट का उपयोग न करें, सिर्फ सफेद टूथपेस्ट से यह नुस्खा अपनाएं।

3 कार वैक्स
कार को चमकाने के लिए कार वैक्स पॅालिश का इस्तेमाल किया जाता है। जब कार पर वैक्स से पॉलिश की जाती है तो उस पर लगे छोटे-छोटे स्क्रैच हट जाते हैंं। इस वैक्स का उपयोग आप मोबाइल की स्क्रीन पर लगे स्क्रैच को हटाने में भी कर सकते हैं। थोड़ी-सी पॉलिश स्क्रीन पर लगाकर उसे कॉटन से घिसे। इसके बाद बाद उसे थोड़ी देर के लिए सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद उसे कॉटन से साफ कर लें। आपके फोन की स्क्रीन चमक उठेगी और स्क्रैच भी गायब हो जाएंगे। 

4 बेकिंग सोडा
बेकिंग सोडा से भी आप फोन के स्क्रैच को हटा सकते हैं। इसके लिए आपको बेकिंग सोडा को पानी में मिलाकर उसका पेस्ट बना लें। अब उस पेस्ट को कॉटन में लेकर मोबाइल की स्क्रीन पर लगाएं। पेस्ट को लगाकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें। सूख जाने पर उसे कॉटन या कपड़े से साफ कर लें। आपके मोबाइल की स्क्रीन चकमने लगेगी और छोट-मोटे स्क्रैच भी हट जाएंगे।

5 पैंसिल इरेज़र
पैंसिल इरेजर से भी फोन के स्क्रैच मिटाए जा सकते हैं। स्क्रैच हटाने के लिए पैंसिल इरेजर से धीरे-धीरे और हल्के हाथों से स्क्रीन पर घिसना है। थोड़ी देर में ही स्क्रीन से छोटे-मोटे खरोंच गायब हो जाएंगे। याद रहे कि इरेजर अच्छी क्वॉलिटी का और सॉफ्ट होना चाहिए।


भारत व इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले चौथे टेस्ट में जानिए कैसा रहेगा मौसम व पिच का हाल       कब और कहां देखें भारत-इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच       भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड के खेमे में खलबली       विराट कोहली और बेन स्टोक्स चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन मैदान पर भिड़े       दो दिन बाद ही रोकना पड़ा टूर्नामेंट का आयोजन, स्टेन ने पाकिस्तान लीग के बताया IPL से बेहतर       इन नेचुरल ऑयल्स से बहुत जल्द दूर कर सकते हैं ये...       दाढ़ी की रूसी दूर करने में बहुत ही असरदार है ये घरेलू उपाय       क्लीयर स्किन के लिए आज़माएं ये 5 घरेलू नुस्खे       बालों की हर समस्या का इलाज करता है गुड़हल का तेल       नैचुरली काली घनी पलकें चाहती हैं तो इस खास टिप्स को अजमाएं       झुमरी तिलैया की श्रुति ने बढ़ाया झारखंड का मान, ऑल इंडिया ब्यूटी कॉन्टेस्ट में जीता खिताब, श्रुति को मिला मिसेज इंटेलेक्चुअल का अवार्ड        लिवर को भी प्रभावित करता है Covid-19, इस तरह से करें बचाव       बड़े काम की चीज है इसका सिरका, हार्ट अटैक का खतरा कम करने के लिए है मददगार       ज्यादा दिनों तक खांसी के साथ अगर हैं ये सारे लक्षण तो...       क्या आपको ऑफिस और स्कूल खुलने से डर लग रहा है? एक्सपर्ट्स से जानें       गैजेट्स के लगातार इस्तेमाल से बढ़ रही है डिजिटल आई स्ट्रेन की समस्या       यात्रियों के लिए चलाई जाए पैसेंजर-एक्सप्रेस ट्रेनें:शालिनी       पुलिस की घिनौनी करतूत, लड़कियों के उतरवाए कपड़े, फिर किया ये...       आखिर कौन-कौन से लोग नहीं लगवा सकते वैक्सीन, वैक्सीनेशन से पहले जान लें ये बात       अरबपति बना हिमाचल का बेटा, अमेरिका में बनाई खुद की कंपनी