तेज स्पीड इंटरनेट और हर स्टूडेंट तक गैजेट सुनिश्चित करे बजट, एजुटेक को मिले बढ़ावा

तेज स्पीड इंटरनेट और हर स्टूडेंट तक गैजेट सुनिश्चित करे बजट, एजुटेक को मिले बढ़ावा

पिछले एक साल से अधिक समय से ऐसे बहुत कम विषय रहे हैं, जो सुखदायक हों या जिनसे संतोष किया जा सके। अब सबकी निगाहें आम बजट पर हैं, जो एक फरवरी को पेश होने जा रहा है। शिक्षा क्षेत्र को भी इस बजट से कई सारी उम्मीदें हैं। बीते दिनों शिक्षा क्षेत्र पर सरकार का फोकस सबने देखा है। चाहे वो नई शिक्षा नीति लाना हो या मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय करना, लेकिन कोरोना महामारी ने शिक्षा क्षेत्र की जरूरतों को कई अधिक बढ़ा दिया है। कोरोना संकट से पैदा हुई वित्तीय स्थिति को देखते हुए नई शिक्षा नीति की अनुशंसा के अनुसार, शिक्षा के लिए छह फीसद बजट मुश्किल लगता है, लेकिन शिक्षा के लिए बजट में पिछले साल से अधिक आवंटन की उम्मीद जरूर करते हैं।

ब्लैंडेड एजुकेशन की है आवश्यकता

कोरोना काल में देशभर में स्कूल-कॉलेज बंद रहे और छात्रों व शिक्षकों को ऑनलाइन शिक्षा की ओर आना पड़ा। इसी तरह ऑनलाइन एजुकेशन के फायदे भी लोगों को पता चले। भले ही कोरोना वैक्सीन आ गई हो, लेकिन शिक्षा क्षेत्र में अब ब्लैंडेड एजुकेशन की आवश्यकता जोर पकड़ रही है। अब सिर्फ किसी बिल्डिंग के अंदर दी जाने वाली शिक्षा ही पर्याप्त नहीं है, बल्कि ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों माध्यमों से शैक्षणिक गतिविधियों के जारी रहने की जरूरत है।


ब्रॉडबैंड सेवाओं का हो विस्तार

ऑनलाइन एजुकेशन में सबसे बड़ी रुकावट है इंटरनेट की समस्या। खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में बैंडविड्थ की समस्या है। ऐसे में वाई-फाई और ब्रॉडबैंड सेवाओं के विस्तार की जरूरत है। कोरोनाकाल के दौरान कई समृद्ध राज्यों में भी इंटरनेट संबंधी समस्याएं देखी गई थीं। बजट में दूरसंचार क्षेत्र के लिए आवंटन बढ़ाकर इससे निपटा जा सकता है। इससे ऑनलाइन एजुकेशन को मजबूती मिलेगी। ऑनलाइन एजुकेशन में दूसरी रुकावट है, छात्रों के पास गैजेट्स की कमी। कुछ राज्य सरकारें विद्यार्थियों को लैपटॉप बांटने की योजनाएं लेकर आई थीं, लेकिन वे सफल नहीं हो पायीं। विद्यार्थियों के पास ऑनलाइन एजुकेशन के लिए कम से कम एक स्मार्टफोन तो होना ही चाहिए। सरकार बजट में शिक्षण संस्थाओं को गेजेट्स प्रदान करने का प्रावधान ला सकती है, जिससे ये संस्थान विद्यार्थियों तक इन्हें पहुंचा सकें।

वर्तमान समय की मांग है एजुटेक

कोरोना काल में एजु-टेक में काफी ग्रोथ देखने को मिली। यह वर्तमान समय की मांग है। बजट में इस पर जरूर फोकस होना चाहिए। आम लोगों पर एजुटेक का खर्च कम आए, इस बारे में सरकार को कदम उठाने चाहिए। इस तरह के कदम बजट में उठाए जाएं कि स्कूल-कॉलेज कम खर्च में ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को एजुटेक का लाभ दे पाएं। जब हम ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स की बात कर रहे हैं, तो प्राइवेसी एक अहम मुद्दा है। इससे निपटने के लिए भारतीय तकनीकी प्लेटफॉर्म्स के विकास पर ध्यान देने की जरूरत है। सरकार को भारतीय एजुटेक प्लेटफॉर्म्स व इस क्षेत्र से जुड़े उद्यमों को प्रमोट करने के कदम उठाने चाहिए। इसके लिए एजुटेक कंपनियों को टैक्स में छूट भी दी जा सकती है। एजुकेशन फोर ऑल और टेक्नोलॉजी फोर ऑल की तरह ही एजुटेक फोर ऑल की बात भी होनी चाहिए।

जब हम भारत में शिक्षा की बात कर रहे हैं, तो यह भारतीय भाषाओं के उल्लेख के बिना संभव नहीं है। उच्च शिक्षा में भारतीय भाषाओं की कमी खलती है। जब हम सबके लिए शिक्षा की बात कर रहे हैं, तो भारतीय भाषाओं में उच्च शिक्षा सुनिश्चित करना जरूरी है। इसके लिए भी बजट में कदम उठाए जाने चाहिए। साथ ही जो विद्यार्थी विजुअली चैलेंज से जुझते हैं, उनके लिए कंटेंट में वृद्धि करने की जरूरत है। इस तरह हम समावेशी शिक्षा की बात कर सकते हैं और बजट में इसके लिए आवंटन किये जाने की आवश्यकता है।

हम ब्लैंडेड एजुकेशन की बात कर रहे हैं, जिसमें ऑनलाइन लर्निंग का खास महत्व है। इस तरह बच्चों का इंटरनेट पर एक्सपोजर बढ़ा है। ऐसे में फेक कंटेंट की समस्या हमारे सामने आ सकती है। एक मीडिया संस्थान का कुलपति होने के नाते मेरा मानना है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) की तरह ही राष्ट्रीय मीडिया साक्षरता मिशन (NMLM) की भी देश को आवश्यकता है। इससे फेक कंटेंट के बारे में लोगों को जागरूक किया जा सकता है और ऐसा करके भारत मीडिया साक्षरता मिशन लाने वाला विश्व का पहला देश बन जाएगा।


स्मार्टफोन स्क्रीन पर लगे स्क्रैच को हटाने के लिए अपनाएं ये खास ट्रिक्स

स्मार्टफोन स्क्रीन पर लगे स्क्रैच को हटाने के लिए अपनाएं ये खास ट्रिक्स

जब हम नया मोबाइल खरीदते हैं तो शुरुआत में उसकी स्टाइल और डिजाइन बहुत अच्छी लगती है। मोबाइल की चमचमाती स्क्रीन सबको अपनी ओर आकर्षित करती है। लेकिन कुछ समय बाद जब स्क्रीन पर स्क्रैच पड़ने लगते हैं तो स्मार्टफोन की खूबसूरती फीकी पड़ जाती है। हम बहुत कोशिश करते हैं कि मोबाइल की स्क्रीन पर एक भी स्क्रैच न आए, लेकिन न चाहते हुए भी कई बार स्क्रैच लग ही जाते हैं। ऐसे में स्क्रीन गंदी लगने लगती है। आज हम आपको कुछ ऐसे आसान तरीके बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने फोन की स्क्रीन पर लगे स्क्रैच हट जाएंगे और आपके मोबाइल की स्क्रीन फिर से नई लगने लगेगी।

1 मैजिक इरेजर
मैजिक इरेजर स्क्रीन के स्क्रैच हटाने का सबसे अच्छा उपाय है। बता दें कि मैजिक इरेजर का उपयोग वैसे तो गंदगी को साफ करने के लिए किया जाता है, लेकिन यह मोबाइल की स्क्रीन पर लगे छोटे-छोटे स्क्रैच को भी साफ कर देता है। हालांकि इसका उपयोग करने में आपको थोड़ी सावधानी बरतनी होगी।

2 टूथपेस्ट
दांतों को चमकाने वाले टूथपेस्ट से भी मोबाइल स्क्रीन पर लगे स्क्रैच हटा सकते हैं। सबसे पहले कॉटन में थोड़ा सा टूथपेस्ट लें और उसे पूरी स्क्रीन पर अच्छे से लगा दें। हां, स्पीकर को बचाकर रखें। थोड़ी देर बाद साफ कॉटन से उस टूथपेस्ट को साफ कर लें। इससे छोटे-मोटे स्क्रैच हट जाएंगे। या रहे कि जेल वाले टूथपेस्ट का उपयोग न करें, सिर्फ सफेद टूथपेस्ट से यह नुस्खा अपनाएं।

3 कार वैक्स
कार को चमकाने के लिए कार वैक्स पॅालिश का इस्तेमाल किया जाता है। जब कार पर वैक्स से पॉलिश की जाती है तो उस पर लगे छोटे-छोटे स्क्रैच हट जाते हैंं। इस वैक्स का उपयोग आप मोबाइल की स्क्रीन पर लगे स्क्रैच को हटाने में भी कर सकते हैं। थोड़ी-सी पॉलिश स्क्रीन पर लगाकर उसे कॉटन से घिसे। इसके बाद बाद उसे थोड़ी देर के लिए सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद उसे कॉटन से साफ कर लें। आपके फोन की स्क्रीन चमक उठेगी और स्क्रैच भी गायब हो जाएंगे। 

4 बेकिंग सोडा
बेकिंग सोडा से भी आप फोन के स्क्रैच को हटा सकते हैं। इसके लिए आपको बेकिंग सोडा को पानी में मिलाकर उसका पेस्ट बना लें। अब उस पेस्ट को कॉटन में लेकर मोबाइल की स्क्रीन पर लगाएं। पेस्ट को लगाकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें। सूख जाने पर उसे कॉटन या कपड़े से साफ कर लें। आपके मोबाइल की स्क्रीन चकमने लगेगी और छोट-मोटे स्क्रैच भी हट जाएंगे।

5 पैंसिल इरेज़र
पैंसिल इरेजर से भी फोन के स्क्रैच मिटाए जा सकते हैं। स्क्रैच हटाने के लिए पैंसिल इरेजर से धीरे-धीरे और हल्के हाथों से स्क्रीन पर घिसना है। थोड़ी देर में ही स्क्रीन से छोटे-मोटे खरोंच गायब हो जाएंगे। याद रहे कि इरेजर अच्छी क्वॉलिटी का और सॉफ्ट होना चाहिए।


सहवाग ने इग्लैंड के बल्लेबाजों को किया ट्रोल, राहुल गांधी का ये वीडियो किया शेयर       सपा पर बरसे CM योगी, यहां गर्मी दिखाने की जरूरत नहीं       सावधान सोशल मीडिया पर, फेसबुक-ट्विटर हो या नेटफ्लिक्स-अमेजन       अब महँगा होगा दूध, सरकार नहीं किसानों ने किया बड़ा ऐलान!       धरती पर दिखा स्वर्ग, ऐसा नजारा कभी नहीं देखा होगा       सबसे महंगी Biryani: नाम है इसका रॉयल गोल्ड       दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम रखा गया नरेंद्र मोदी स्टेडियम       खेल दी 152 रन की पारी और लगाए 5 छक्के 14 चौके, विराट की टीम के ओपनर बल्लेबाज ने मचाया हड़कंप       क्या है India vs England के बीच खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट की टाइमिंग       नेशनल ड्यूटी के लिए IPL को भी छोड़ सकता है ये खिलाड़ी       रॉबिन उथप्पा व विष्णु विनोद के शतक से सचिन बेबी की टीम को मिली जीत       Happy Birthday Divya Bharti: एक्टिंग के लिए इस एक्ट्रेस ने 16 साल की उम्र में छोड़ दी थी पढ़ाई       Shilpa Shetty In Maldives: इस एक्ट्रेस ने पति संग मालदीव्स में की Pawri       OMG! Aamir Khan के भांजे इमरान ने कजिन जाएन मेरी की कराई शादी       टीज़र देख क्या बोले अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा और करण जौहर       जॉन अब्राहम और इमरान हाशमी के बीच कांटे की टक्कर       क्या आपको भी सपने में दिखती हैं ये चीजें तो...       मंगलवार के दिन हनुमानजी को इस उपाय से करें प्रसन्न       रवि योग में जया एकादशी आज, जानें मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल       आज है प्रदोष व्रत, जानें किस मुहूर्त में करें पूजा और इसका धार्मिक मान्यता