बिज़नस

आज ITR फाइल नहीं करने वालों की भी बल्‍ले-बल्‍ले

इनकम टैक्‍स र‍िटर्न (ITR Filing) फाइल करने की आज अंत‍िम त‍िथ‍ि है इनकम टैक्स व‍िभाग की तरफ से जारी अपडेट के मुताबिक 31 जुलाई की सुबह तक 6.13 करोड़ लोग आईटीआर फाइल कर चुके हैं सोशल मीड‍िया पर लगातार आईटीआर फाइल करने की अंत‍िम त‍िथ‍ि बढ़ाने की ड‍िमांड की जा रही है कुछ लोगों का यह मानना है क‍ि व‍ित्‍त मंत्रालय की तरफ से इसकी तारीख को आगे बढ़ाया जाएगा लेक‍िन गवर्नमेंट की तरफ से इसके ल‍िए साफ मना कर द‍िया गया है लेक‍िन शायद ही आपको पता हो क‍ि इनकम टैक्स के एक न‍ियम के अनुसार 31 जुलाई के बाद आईटीआर फाइल करने पर भी पेनाल्‍टी नहीं देनी होगी

छूट सीमा से कम आमदनी पर राहत

इनकम टैक्‍स एक्‍सपर्ट के मुताबिक इनकम टैक्स की धारा 234एफ (234 F) के अनुसार यद‍ि क‍िसी शख्‍स की फाइनेंश‍ियल ईयर के दौरान आपकी कुल आय (Total Income in FY) मूल छूट सीमा से कम है तो देर से आईटीआर फाइल करने पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा साधारण भाषा में यह कह सकते हैं क‍ि यद‍ि आपकी 2022-23 में आपकी कुल आमदनी पुरानी र‍िजीम के मुताबिक ढाई लाख रुपये या इससे कम है तो आप पर यह न‍ियम लागू होगा इस न‍ियम के अनुसार आपको 31 जुलाई के बाद इनकम टैक्‍स फाइल करने पर पेनाल्‍टी नहीं देनी होगी आपकी तरफ से फाइल क‍िया जाना वाला आईटीआर जीरो (0) आईटीआर कहलाएगा

देर से फाइलिंग पर देना होगा जुर्माना
इसके अतिरिक्त यद‍ि आप इनकम टैक्स के दायरे में आते हैं और आप आईटीआर फाइल करने से चूक जाते हैं तो आप विलंबित आईटीआर फाइल कर सकते हैं हालांक‍ि, इस पर उन्हें देर से फाइलिंग के लिए जुर्माना देना होगा यदि कोई टैक्‍सपेयर अंत‍िम तारीख के बाद आईटीआर फाइल करता है तो उसे अधिकतम 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा हालांक‍ि, लेट आईटीआर दाखिल करने पर अधिकतम जुर्माना उन व्यक्तियों के लिए 1,000 रुपये है जिनकी कुल आय पूरे वित्तीय साल के दौरान 5 लाख रुपये से ज्‍यादा नहीं है

यदि टैक्‍सपेयर अपना आईटीआर फाइल नहीं करता है तो उन्‍हें मौजूदा न‍िर्धाण साल में हुए हानि को आगे नहीं बढ़ा पाएंगे इसके अतिरिक्त यद‍ि वे इनकम टैक्स विभाग से नोटिस मिलने के बाद भी जानबूझकर अपना रिटर्न दाखिल करने में विफल रहते हैं, तो उन्हें मुकदमे का सामना करना पड़ सकता है

Related Articles

Back to top button