बिज़नस

अब डिज्‍नी हॉटस्‍टार के प्रीमियर यूजर्स सिर्फ इतने डिवाइसेज पर कर पाएंगे लॉग-इन

ओटीटी प्‍लेटफॉर्म नेटफ्लिक्‍स के पासवर्ड शेयरिंग पर लिमिट लगाने के बाद अब डिज्‍नी हॉटस्‍टार (Disney+ Hotstar) भी उसी राह पर आगे बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी कथित तौर पर नयी पॉलिसी पेश करने की तैयारी में है. पॉलिसी के अनुसार डिज्‍नी हॉटस्‍टार के प्रीमियर यूजर्स केवल 4 डिवाइसेज पर लॉग-इन कर पाएंगे. पहले यह लिमिट 10 थी, हालांकि तब भी एक बार में 4 डिवाइसेज पर ही कंटेंट स्‍ट्रीम किया जा सकता था.

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, डिज्‍नी की योजना ऐसे वक्‍त में सामने आई है, जब नेटफ्लिक्‍स ने पासवर्ड शेयरिंग पर लिमिट लगा दी है. नेटफ्लिक्‍स का नया नियम कहता है कि घर से बाहर किसी को पासवर्ड शेयर करने पर यूजर्स को उसके लिए पेमेंट करना होगा.

सूत्रों ने रॉयटर्स को बताया, हॉटस्टार का मानना है कि जब यूजर्स पासवर्ड शेयर नहीं कर पाएंगे, तो उन्‍हें स्वयं का एकाउंट हासिल करना पड़ेगा. एक अन्‍य सोर्स ने कहा कि डिज्‍नी हॉटस्‍टार ने अभी तक एकाउंट शेयरिंग पर प्रतिबंध नहीं लगाया है, क्‍योंकि वह प्रीमियम यूजर्स को परेशान नहीं करना चाहते. केवल 5 प्रतिशत सब्‍सक्राइबर्स ही हैं, जिन्‍होंने 4 से ज्‍यादा डिवाइसेज पर लॉग-इन किया था.

यही नहीं, डिज्‍नी अपने इण्डिया डिजिटल और टीवी बिजनेस की भारतीय शाखा को बेचने या जॉइंट वेंचर पार्टनर की तलाश करने के ऑप्‍शन पर भी विचार कर रहा है. आंकड़े बताते हैं कि हॉटस्टार के पास लगभग 5 करोड़ यूजर्स का बेस है और वह हिंदुस्तान का सबसे बड़ा स्‍ट्रीमिंग प्‍लेटफॉर्म है.

रिसर्च फर्म मीडिया पार्टनर्स एशिया के आंकड़े बताते हैं कि जनवरी 2022 और मार्च 2023 के बीच 38 फीसदी दर्शकों की हिस्सेदारी के साथ डिज्‍नी हॉटस्‍टार हिंदुस्तान नंबर-1 रहा, जबकि उसके प्रतिद्वंद्वी नेटफ्लिक्स और प्राइम वीडियो की हिस्सेदारी 5 प्रतिशत थी. हॉटस्टार के साथ ही नेटफ्लिक्स, प्राइम वीडियो और जियोसिनेमा हिंदुस्तान में बहुत ज्‍यादा पॉपुलर हुए हैं. वर्ष 2027 तक यह बाजार 57,530 करोड़ रुपये का बड़ा आकार ले सकता है.
<!–

–>

Related Articles

Back to top button